जन्मदिन विशेष: अनुप्रिया की पहल पर जिले को मिला मेडिकल कालेज

लोकसभा क्षेत्र की वर्तमान सांसद व पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल जो उत्तर प्रदेश राज्य की एक भारतीय महिला राजनेता हैं। वह पूर्व की भाजपा सरकार में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय में राज्यमंत्री रह चुकी है।

Published by Aditya Mishra Published: April 28, 2020 | 4:06 pm
Modified: April 28, 2020 | 4:20 pm

बृजेन्द्र दुबे

मीरजापुर:  लोकसभा क्षेत्र की वर्तमान सांसद व पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल जो उत्तर प्रदेश राज्य की एक भारतीय महिला राजनेता हैं। वह पूर्व की भाजपा सरकार में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय में राज्यमंत्री रह चुकी है।

वह 2014 तथा 2019 के आम चुनाव में मीरजापुर के निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा के लिए सांसद चुनी गई। अनुप्रिया पटेल इससे पहले 2012 में वाराणसी संसदीय क्षेत्र के तहत आने वाली विधानसभा सीट रोहनिया से विधायक चुनी गई थीं।

जानिये कैसे योगी के इस दांव से अर्दब में आईं अनुप्रिया पटेल

मेडिकल कॉलेज जिले के लिए बना वरदान

केंद्रीय वित्तमंत्री स्व अरुण जेटली ने 2018 के बजट में 24 नए मेडिकल कॉलेज बनाने की घोषणा की थी। जिनमें से 8 मेडिकल कॉलेज यूपी में बनाने को मंजूरी मिली थी।उसी समय से जिले की सांसद ने अपने जुझारू होने का एक प्रमाण भी दिया और उस वक्त केंद्रीय राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल के पहल की वजह से इस विशाल लक्ष्य संभव हुआ।

जिले में मेडिकल कॉलेज बनना शुरू भी हो गया है। अनुप्रिया पटेल की मेहनत और लगन की वजह से मेडिकल कालेज का निर्माण कार्य शुरू हो गया है। मेडिकल कालेज के लिए कुल 250 करोड़ का धन आवंटन हुआ है। इस मेडिकल कॉलेज में 60 प्रतिशत पैसा केंद्र सरकार का और बाकी राज्य सरकार का सम्मिलित है मानक के अनुसार मेडिकल कॉलेज 200 सौ बेड की क्षमता है।

अनुप्रिया पटेल ने दिए संकेत, अब अपना दल (एस) सीटों के बंटवारे पर नहीं करेगी समझौता

मध्य प्रदेश के लोग भी होंगे लाभान्वित

पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री अनुप्रिया के अनुसार जिले में मेडिकल कॉलेज बनना हम सभी के लिए बड़ी गौरव की बात है। मेडिकल चिकित्सा में आने वाले समय मे सभी स्वास्थ्य सुविधा जिले में उपलब्ध मिलेगी।विंध्याचल मंडल में मीरजापुर के अलावा सोनभद्र और भदोही भी आते है। पिछड़े और आदिवासी बाहुल इलाका होने के कारण यहां स्वास्थ्य सुविधाओं का अभाव रहा है।

मरीजों को सही स्वास्थ्य सुविधाएं नहीं मिल पाती है। इसके साथ ही मध्य प्रदेश से लगती सीमा होने के कारण यहां पर मध्य प्रदेश से भी मरीज इलाज के लिए पहुंचते हैं।

जिले में ही मरीजों को मेडिकल कॉलेज की सुविधा मिलने के बाद अब मरीजों को यही पर अच्छी स्वास्थ्य सुविधा मिल पाएगी और उन्हें इलाज के लिए बाहर भटकना नहीं पड़ेगा। उन्हें यहीं सभी चिकित्सकीय सुविधाएं उपलब्ध हो जाएगी।

कोरोना: अपना दल की राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल ने खुद को आइसोलेट किया

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App