Top

चर्चित पासपोर्ट अधीक्षक के खिलाफ CBI की कार्रवाई, मिली हैरान करने वाली जानकारी

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 5 Jan 2020 4:35 AM GMT

चर्चित पासपोर्ट अधीक्षक के खिलाफ CBI की कार्रवाई, मिली हैरान करने वाली जानकारी
X
CBI का बड़ा एक्शन: जम्मू-कश्मीर में की ताबड़तोड़ छापेमारी, जानें क्या है मामला
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में वरिष्ठ पासपोर्ट अधिकारी के घर पर सीबीआई ने शनिवार की देर शाम छापेमारी की। इस दौरान उन्हें करीब 12 लाख नगदी और पांच लाख के जेवर मिले। वहीं छानबीन में सीबीआई अफसरों को 45 बैंक खातों, दो लॉकर और 26 फिक्स्ड डिपाजिट के बारे में पता चला है। बता दें कि सीबीआई की ये कार्रवाई जिस पासपोर्ट अधीक्षक के खिलाफ की गयी वह, तन्वी-अनस प्रकरण में भी सुर्खियों में रहा था।

सीबीआई ने आय से अधिक संपत्ति मामले में कार्रवाई करते हुए शनिवार देर शाम लखनऊ के पासपोर्ट कार्यालय में तैनात अधीक्षक विकास मिश्रा के ठिकानों पर छापेमारी की। इस दौरान अफसरों को बड़ी नगदी समेत कुछ ऐसे दस्तावेज मिले हैं, जिससे उनकी आय से अधिक संपत्ति का ब्यौरा मिलता है।

ये भी पढ़ें: कानपुर और उन्नाव में ‘तिवारी’ और ‘पाण्डेय’ के बीच जोरदार टक्कर

छापेमारी में मिली ये जानकारी:

जानकारी में मुताबिक,सीबीआई को छानबीन में विकास और उनके करीबियों के 45 बैंक खातों के बारे में भी जानकारी मिली है। इन खातों का ब्योरा जुटाया जा रहा है। वहीं करीब 12 लाख रुपये बरामद हुए हैं और 5 लाख की जूलरी मिली है। जूलरी का स्रोत पूछे जाने पर विकास मिश्रा कुछ जानकारी नहीं दे पाए है।

इसके अलावा, उनके पास से दो बैंक लॉकरों की भी जानकारी मिली है। वहीं 26 फिक्स्ड डिपॉजिट और कुछ अन्य संपत्तियों के बारे में भी पता चला है। बता दें कि सीबीआई लखनऊ की एंटी करप्शन ब्रांच ने विकास मिश्रा के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज किया था। बाद में उनके लखनऊ में विजय खंड, विभव खंड और विभूति खंड स्थित तीन और वाराणसी में एक ठिकाने पर छापेमारी की गई।

ये भी पढ़ें: लखनऊ हिंसा : दारापुरी व सदफ जाफर को 50-50 हजार की प्रतिभूति पर मिली जमानत

तन्वी और अनस पासपोर्ट प्रकरण में नाम आया था सामने:

गौरतलब है कि 2018 में पासपोर्ट अधिकारी विकास मिश्रा पर आवेदक तन्वी सेठ ने बदसलूकी का आरोप लगाया था। आरोप था कि जब तन्वी पासपोर्ट आवेदन लेकर विकास मिश्रा के पास गईं थी तो उन्होंने मुस्लिम से शादी करने को लेकर निजी कमेंट किए। जिसके बाद मामला मीडिया पर छा गया।

हालंकि बाद में उनका तबादला लखनऊ से वाराणसी हो गया था। अभी कुछ दिन पहले ही विकास को दोबारा लखनऊ में तैनाती मिली थी।

ये भी पढ़ें: महाराष्ट्र सरकार में मंत्रियों को मिला विभाग, पर इस विधायक ने छोड़ दिया उद्धव का साथ

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story