लड़की के मुंह में कपड़ा ठूंसा: फिर किया ये काम, हादसे से कांप उठा यूपी

बल्दीराय थाना क्षेत्र के टड़रसा ऐंजर गांव निवासी प्रदीप सिंह की पड़ोस के गांव परसौली निवासी जयकरन से रंजिश चल रही है। सोमवार की सुबह प्रदीप सिंह की बेटी श्रद्धा सिंह (18) घर के सामने लगे हैंडपंप पर पानी भर रही थी।

girl burnt alive

लड़की के मुंह में कपड़ा ठूंसा: फिर किया ये काम, हादसे से कांप उठा यूपी-(courtesy-social media)

सुल्तानपुर: उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जनपद के बल्दीराय में टड़रसा ऐंजर गांव में सोमवार की सुबह हैंडपंप पर पानी भर रही युवती पर कुछ युवकों ने मिट्टी का तेल डालकर आग लगा दी। ग्रामीणों ने घटना की सूचना पुलिस को देते हुए घायल युवती को लेकर सीएचसी धनपतगंज पहुंचे, जहां चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार के बाद उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जिला अस्पताल में युवकी की हालत बेहद नाजुक होने पर ट्रॉमा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया गया।

घर के सामने लगे हैंडपंप पर पानी भर रही थी पीड़िता

बल्दीराय थाना क्षेत्र के टड़रसा ऐंजर गांव निवासी प्रदीप सिंह की पड़ोस के गांव परसौली निवासी जयकरन से रंजिश चल रही है। सोमवार की सुबह प्रदीप सिंह की बेटी श्रद्धा सिंह (18) घर के सामने लगे हैंडपंप पर पानी भर रही थी। पीड़िता के अनुसार तभी परसौली मजरे ऐंजर निवासी जय करन, सुभाष और महंथ वहां पहुंच गए। तीनों ने श्रद्धा सिंह के मुंह में कपड़ा ठूंस दिया। इसके बाद तीनों ने श्रद्धा के हाथ व पैर बांधकर मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा दी।  श्रद्धा की चीख-पुकार सुनकर आस-पास के लोग वहां पहुंचे तो आरोपी फरार हो गए। लोगों ने किसी तरह से आग पर काबू पाया।

ये भी देखें:सेना हुई ताकतवर: चीन की हालत खराब, माइनस तापमान में रूसी टेंट बनेगा सहारा  

युवती की हालत नाजुक, ट्रॉमा सेंटर लखनऊ रेफर

ग्रामीण इसकी सूचना एसओ बल्दीराय अखिलेश सिंह को देते हुए आग से झुलसी श्रद्धा को लेकर सीएचसी धनपतगंज पहुंचे, जहां चिकित्सक डॉ. सत्येंद्र सिंह ने प्राथमिक उपचार के बाद उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जिला अस्पताल में युवती की हालत नाजुक होने पर चिकित्सकों ने उसे ट्रॉमा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया। एसओ बल्दीराय के घंटों मौके पर नहीं पहुंचने को लेकर ग्रामीणों में रोष है। उधर, एसओ अखिलेश सिंह ने बताया कि प्रदीप सिंह की परसौली गांव के जयकरन से रंजिश चल रही है। उन्हें अभी कोई तहरीर नहीं मिली है। प्रथम दृष्टया घटना संदिग्ध है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

मुंह में आरोपियों ने कपड़ा ठूंसकर हाथ-पैर बांध दिया था

श्रद्धा सिंह का प्राथमिक उपचार करने वाले धनपतगंज सीएचसी पर तैनात चिकित्सक सत्येंद्र सिंह ने बताया कि वह 80 फीसदी जली है। उपचार के दौरान श्रद्धा सिंह ने तीन लोगों का नाम लेकर बताया कि उसके मुंह में आरोपियों ने कपड़ा ठूंसकर हाथ-पैर बांधने के बाद आग लगा दी। उसकी आपबीती का वीडियो भी वायरल हो रहा है।

ये भी देखें:  छात्रों को 11000 रुपए: क्या मोदी सरकार दे रही ये तोहफा, यहां जाने पूरा मामला

जमीन कब्जे को लेकर चल रहा था विवाद

टड़रसा गांव निवासी प्रदीप सिंह और परसौली गांव निवासी जयकरन के बीच दो जून को जमीन कब्जे को लेकर मारपीट हुई थी। मारपीट में दोनों पक्षों से कई लोग घायल हुए थे। मारपीट में प्रदीप सिंह के विपक्षी कुंवर सिंह चौहान को गंभीर चोटें आई थी, जिनकी उपचार के दौरान लखनऊ में मौत हो गई थी। पुलिस ने प्रदीप सिंह की पत्नी की तहरीर पर जयकरन समेत कई अन्य लोगों के खिलाफ जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज कराया था।

ये भी देखें:  योगी का ये गाना: फैसले के दौरान सुना बॉलीवुड कलाकारों ने, बजी तालियाँ

पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज किया

वहीं, जयकरन पक्ष की तहरीर पर पुलिस ने प्रदीप सिंह के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया था। प्रदीप समेत कई अन्य लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। दूसरी तरफ जानलेवा हमले के आरोपी जयकरन आदि को पुलिस ने गिरफ्तार नहीं किया था। पीड़ित परिजनों का आरोप है कि यदि पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी की होती तो सोमवार को यह घटना नहीं होती।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App