तीन तलाक मामले में सीएम को करना पड़ा हस्तक्षेप जानिए क्या है मामला

आगरा के सदर बाजार स्थित धोबी मोहल्ला की रहने वाली तरन्नुम पुत्री स्वर्गीय ज़ाहिद अली ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिख कर अपने पति द्वारा की जा रही ज्यादती और बेवजह तलाक दिए जाने पर कार्यवाही की मांग की थी। जिस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रशासन को तत्काल कार्रवाई के लिए निर्देश दिया।

teen taaq -cm yogi

लखनऊ: आगरा के रकाबगंज पुलिस थाने के तहत तीन तलाक के एक मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हस्तक्षेप के बाद पुलिस ने आरोपी चुकरू रहमान को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय ने पीड़िता तरन्नुम से बातचीत भी की है। पीड़िता तरुन्नुम और उनके रिश्तेदार ने तत्काल कार्रवाई करने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी का आभार प्रकट किया है।

आगरा के सदर बाजार स्थित धोबी मोहल्ला की रहने वाली तरन्नुम पुत्री स्वर्गीय ज़ाहिद अली ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिख कर अपने पति द्वारा की जा रही ज्यादती और बेवजह तलाक दिए जाने पर कार्यवाही की मांग की थी। जिस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रशासन को तत्काल कार्रवाई के लिए निर्देश दिया।

ये भी देखें : जानिए किस कैबिनेट बैठक में मंत्रियों के मोबाइल फोन को रखा गया बाहर

मुख्यमंत्री कार्यालय के अफसरों ने पीड़िता तरन्नुम से संपर्क कर मामले की पूरी जानकारी हासिल की है। उसके बाद आगरा पुलिस ने आरोपी चुहरू रहमान के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया।

आगरा के रकाबगंज की तरन्नुम ने अपने पति चुकरू रहमान पर ज्यादती और बेवजह तलाक दिए जाने पर मुख्यमंत्री से की थी शिकायत

यह है मामला-

तरन्नुम पुत्री स्वर्गीय ज़ाहिद अली, निवासी धोबी मोहल्ला, सदर बाजार, आगरा की निवासी है। इसकी शादी चुकरू रहमान पुत्र जहूर खान निवासी 38/ 8D कटघर, ईदगाह, थाना रकाबगंज, आगरा के साथ हुई थी। इसके तीन बच्चे हैं। तरन्नुम ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिख कर शिकायत करते हुए कहा कि उसके पति चुकरू रहमान ने अपने ही मदरसे की एक छात्रा से दूसरी शादी कर ली।

ये भी देखें : अब घर बैठे देख सकेंगे श्री जगन्नाथ रथ यात्रा महोत्सव, होगा ये बदलाव

इसके बाद चुहरू रहमान ने तरन्नुम को एक साथ तीन तलाक बोल कर घर से बाहर निकाल दिया। तरन्नुम से इसकी शिकायत पुलिस थाने में की। उसने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी की। जिस पर मुख्यमंत्री ने तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए थे।