193 देशों ने दी है योग को मान्यताः सीएम योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री के प्रयास से संयुक्त राष्ट्र संघ ने योग को वैश्विक मान्यता दी तथा 21 जून को ‘अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस’ घोषित किया। आज पूरा विश्व योग दिवस मना रहा है।

Published by Aditya Mishra Published: June 21, 2019 | 8:47 pm

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री के प्रयास से संयुक्त राष्ट्र संघ ने योग को वैश्विक मान्यता दी तथा 21 जून को ‘अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस’ घोषित किया। आज पूरा विश्व योग दिवस मना रहा है।

संयुक्त राष्ट्र संघ के 193 सदस्य देशों ने जाति, मजहब, धर्म, भाषा, क्षेत्र के होते हुए बिना किसी पूर्वाग्रह के भारत की इस प्राचीन विधा को स्वीकार किया है। योग अपने आप से जोड़ने का सशक्त माध्यम है।

ये भी पढ़ें…मंत्री जी नहीं छोड़ पा रहे VVIP कल्चर, अब योग दिवस पर करवाया ऐसा काम

योग हमें न केवल निरोग बनाता है अपितु आध्यात्मिक उन्नयन के माध्यम से सनातन धर्म के सभी रहस्यों का उद्घाटन करने का अवसर भी प्रदान करता है, जिन्हें हम सामान्य रूप से महसूस करने में असमर्थ हैं।

प्रधानमंत्री ने भारत की प्राचीन परम्परा को आमजन तक पहुंचाने में तथा हमारी परम्परा को वैश्विक स्तर तक पहुंचाने का महान कार्य किया है। मनुष्य जीवन योग के लिये है क्योंकि मनुष्य धरातल जगत का सबसे श्रेष्ठ प्राणी है। योग के महत्व को समझने की आवश्यकता है।

उन्होंने योग साधकों का अभिनन्दन करते हुये कहा कि पूर्वजों की परम्परा ही देश को आगे बढ़ा सकती है। इस अवसर पर एक प्रदर्शनी का आयोजन भी किया गया, जिसमें आयुर्वेद, यूनानी, होम्योपैथ, उद्यान, पर्यटन, जैव ऊर्जा बोर्ड द्वारा भाग लिया गया और उनके द्वारा विभाग में हो रहे विशेष क्रिया-कलापों को प्रदर्शित किया गया।  राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री सहित सभी अतिथियों द्वारा योगाभ्यास कार्यक्रम से पूर्व प्रदर्शनी का अवलोकन किया गया।

ये भी पढ़े…बाप रे बाप! क्या ऐसे भी होता है योगा, देखें ये अजब-गजब तस्वीरें

योग कार्यक्रम में पतंजलि योग पीठ, गायत्री परिवार, यू0पी0 नेचुरोपैथी, तत्वमसि योग विद्या संस्थान, आरोग्य भारतीय संस्थान, नेहरू युवा केन्द्र, ब्रहमकुमारी संस्था, भारतीय योग संस्थान, खुशी फाउण्डेशन, ईशा फाउण्डेशन, आर्ट आफ लिविंग, सी0आर0पी0एफ0, एस0एस0बी0, आई0टी0बी0पी0, सूर्यांश सेवा संस्थान, क्रीड़ा भारती, एल0एम0ए0, हर्ट फुलनेस एवं आरोग्य भारती संस्था, 10 वर्ष की उम्र तक के अनेक बच्चों एवं 7 दिव्यांगजनों सहित 2,000 से अधिक योग साधकों द्वारा योगाभ्यास में भाग लिया।

ये भी पढ़ें…अंतरराष्ट्रीय योग दिवस: दृष्टि से दृष्टा तक की यात्रा कराता है योग

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App