Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

लखनऊ के अंकित मौर्या को मिलेगा 'विवेकानंद यूथ अवार्ड', सीएम योगी करेंगे सम्मानित

उत्कृष्ट कार्य को विशिष्ट पहचान देने के लिए राज्य सरकार द्वारा व्यक्तिगत श्रेणी में 'विवेकानंद यूथ अवार्ड' के रूप में 50 हजार रुपये नकद, स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा एवं प्रमाणपत्र दिया जाएगा।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 21 Jan 2021 9:39 AM GMT

लखनऊ के अंकित मौर्या को मिलेगा विवेकानंद यूथ अवार्ड, सीएम योगी करेंगे सम्मानित
X
लखनऊ के अंकित मौर्या को मिलेगा 'विवेकानंद यूथ अवार्ड', सीएम योगी करेंगे सम्मानित (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: शासन स्तर से विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले युवाओं से 'विवेकानंद यूथ अवार्ड' के लिए आवेदन मांगे गए थे। जिनके विजेताओं के नाम भी सामने आ चुके हैं। 24 जनवरी को उत्तर प्रदेश दिवस के अवसर पर, इस अवॉर्ड को जीतने वाले प्रतिभागियों को सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा सम्मानित किया जाएगा। राजधानी लखनऊ से भी तीन युवाओं को पुरुस्कार दिया जाएगा। सम्मानित होने वाले युवाओं में जब 'न्यूज़ट्रैक' ने लखनऊ के एक विजेता अंकित मौर्या से बातचीत की, तो उन्होंने अपनी सोच से रूबरू कराया।

ये भी पढ़ें:Basti Police का भ्रष्ट दारोगा, निकला लुटेरों का सरगना, सामने आई इनकी सच्चाई

सूचना युवा कल्याण महानिदेशालय उत्तर प्रदेश द्वारा दी गयी है

ख़्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती भाषा विश्वविद्यालय के बी.एड. प्रथम वर्ष के छात्र अंकित मौर्य को कम्युनिटी आर्गेनाइजेशन, सक्रिय नागरिकता, शिक्षा एवं शैक्षणिक उत्कृष्टता व समाज कार्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए युवाओं को दिया जाने वाला राज्य का सर्वोच्च सम्मान, 'विवेकानंद यूथ अवॉर्ड' दिया जाएगा। अंकित को अवॉर्ड देने का निर्णय शासन स्तरीय समिति ने लिया है, जिसकी सूचना युवा कल्याण महानिदेशालय उत्तर प्रदेश द्वारा दी गयी है।

24 वर्षीय अंकित मूलतः लखनऊ के सदर तहसील खरगापुर गोमती नगर में पिता जय प्रकाश मौर्या, माँ कंचन मौर्या व अनुज अंकुर के साथ रहते हैं। भाषा विश्वविद्यालय के शिक्षा संकाय की प्रमुख प्रो० चंदना डे, डॉ. तनु डांग, डॉ. राम दास व अन्य शिक्षकों ने विवेकानंद यूथ एवॉर्ड के लिए चयन होने पर अंकित को बधाई व शुभकामनाएं दी हैं।

Ankit Maurya Ankit Maurya (PC: social media)

18 वर्ष की उम्र में जब वे स्नातक प्रथम वर्ष में थे

अंकित बताते है कि 18 वर्ष की उम्र में जब वे स्नातक प्रथम वर्ष में थे, तो उन्होंने एन. एस. एस. के बारे में सुना और उसके बारे में और जानने के लिए वे कार्यक्रम अधिकारी डॉ. फरज़ाना बुतूल के पास पहुँचे और अपने स्नातक पाठ्यक्रम के दौरान उन्होंने पौधरोपण, मतदाता जागरूकता, रक्तदान, पर्यावरण, स्वास्थ्य, जल संरक्षण, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, डिजिटल इंडिया, योग, स्वच्छता, मानवाधिकार एवं ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष शिविरों के माध्यम से शिक्षा एवं जनजागरूकता जैसे विषयों पर काम किया। इस्लामिया इंटर कॉलेज लखनऊ में जीव-विज्ञान की प्रवक्ता डॉ. फरज़ाना बुतूल ने अंकित के एक कुशल मेंटर के रूप में काम किया।

प्रवासी मज़दूरों के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा देने का भी कार्य कर रहे हैं

समाज के लिए काम करने की इस रुचि के चलते अंकित ने समाज कार्य में ही समाज कार्य विभाग लखनऊ विश्वविद्यालय से वर्ष 2019 में अपना परास्नातक पूर्ण किया और साथ ही यूनिसेफ़ व एक्शन ऐड के साथ जुड़कर स्कूल ड्राप ऑउट बच्चों, बाल मज़दूर उन्मूलन, नशामुक्ति एवं विद्यालय प्रबंधन समिति को जागरूक व सशक्त करने का कार्य किया। इसके अतिरिक्त वे वर्तमान में प्रवासी मज़दूरों के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा देने का भी कार्य कर रहे हैं।

अंकित मौर्य ने राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर भी राज्य का कुशल प्रतिनिधित्व किया है, अंतर्राष्ट्रीय युवा सम्मेलन, भारत अंतर्राष्ट्रीय केंद्र नई दिल्ली 2018; भारत-पेरू युवा संवाद, दूतावास पेरू गणराज्य नई दिल्ली 2018; खेल एवं युवा कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा 3 राष्ट्रीय शिविरों में प्रतिनिधित्व- राष्ट्रीय एडवेंचर स्पोर्ट्स कैम्प हिमाचल प्रदेश 2015; 20वां एवं 23वां राष्ट्रीय युवा उत्सव, वर्ष 2016 में छत्तीसगढ़ व वर्ष 2020 लखनऊ में।

विश्वविद्यालय के कुलपति ने दी शुभकामनाएं

कोरोना काल में भी अंकित ने ज़रूरतमंद लोगों को मास्क बाँटने, खाना खिलाने व पर्यावरण संरक्षण का संदेश देते हुए अपने दोस्तों के साथ मिलकर 100 पौधे रोपित किए जिसमें से 88 पौधे जीवित हैं। अंकित का मानना है कि समाज कार्य से दूसरों की सहायता इस प्रकार से करना चाहिए की वे स्वयं के साथ ही दूसरों की भी सहायता करने में सक्षम बन सकें। अंकित की इस उपलब्धि पर ख़्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती भाषा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विनय कुमार पाठक, लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आलोक कुमार राय, इस्लामिया महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. अब्दुल क़य्यूम व अन्य परिजनों ने अंकित को बधाई व शुभकामनाएं दी हैं।

इन क्षेत्रों में मिलता है 'विवेकानंद यूथ अवार्ड'

जिला युवा कल्याण एवं प्रादेशिक विकास दल अधिकारी जयपाल सिंह ने बताया था कि 'वित्तीय वर्ष 2020-21 में व्यक्तिगत श्रेणी के अंतर्गत 'विवेकानंद यूथ अवार्ड' दिए जाने के निर्देश जारी किए गए हैं।'

उन्होंने बताया था कि '15 से 35 आयु वर्ग के युवक एवं युवतियां, जिनके द्वारा खेलकूद, सामाजिक पौधरोपण, परिवार कल्याण, अल्प बचत, रक्तदान, नशामुक्ति, जल सरक्षण, पुस्तकालय एवं वाचनालय की स्थापना एवं संचालन जैविक खेती, सौर ऊर्जा संयंत्र की स्थापना, स्वच्छता कार्यक्रम, राष्ट्रीय एकीकरण, साक्षरता, आपदा प्रबंधन, मतदाता जागरूकता, स्वास्थ्य अनुसंधान, कला, संस्कृति और साहित्य, मानव अधिकारों को बढ़ावा देना का काम कर रहे हैं।'

Ankit Maurya Ankit Maurya (PC: social media)

ये भी पढ़ें:Etawah: सड़क सुरक्षा माह जागरूकता रैली, CM योगी ने सभी को दिलाई शपथ

50 हजार रुपये नकद का है प्रावधान

जिला युवा कल्याण एवं प्रादेशिक विकास दल अधिकारी ने बताया था कि 'पारंपरिक चिकित्सा, सक्रिय नागरिकता सामुदायिक सेवा, खेल ओर शैक्षिक उत्कृष्टता एवं स्मार्ट लर्निंग के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य को विशिष्ट पहचान देने के लिए राज्य सरकार द्वारा व्यक्तिगत श्रेणी में विवेकानंद यूथ अवार्ड के रूप में 50 हजार रुपये नकद, स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा एवं प्रमाणपत्र दिया जाएगा। निर्धारित किसी एक क्षेत्र में भी उल्लेखनीय कार्य करने पर आवेदन किया जा सकता है।' इस अवॉर्ड के लिए आवेदन करने की अंतिम तारीख 25 अगस्त 2020 रखी गई थी।

रिपोर्ट-: शाश्वत मिश्रा

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story