योगी फिर दिखे सख्त, ताबड़तोड़ एक्शन जारी

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में सभी जगह सुबह 10 बजे से 2 बजे के बीच दोपहर का खाना पहुंच जाए। इसी तरह शाम को 6 बजे से 8 के बीच रात का भोजन पहुंच जाए। आज अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भोजन पहुँचने में विलंब हुआ तो जिलाधिकारियों की जवाबदेही तय की जाएगी।

Published by SK Gautam Published: April 4, 2020 | 12:58 pm
Modified: April 4, 2020 | 1:14 pm

लखनऊ: लॉकडाउन के कारण प्रदेश में जरूरतमंदों के लिए खाना और राशन समय पर न पहुंचने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने   प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को सख्त आदेश दिया है। सीएम योगी ने कहा है कि वह सीएम हेल्पलाइन के फोन पर ये नहीं सुनना चाहते कि अभी भोजन नहीं पहुंचा है। सीएम ने साफ कहा है कि अगर कहीं भी भोजन (Food) पहुंचने में विलंब हुआ तो सीधे जिलाधिकारियों की जवाबदेही तय करूंगा।

खाना पहुंचने में हुई देरी तो जिलाधिकारी होंगे जिम्मेदार

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में सभी जगह सुबह 10 बजे से 2 बजे के बीच दोपहर का खाना पहुंच जाए। इसी तरह शाम को 6 बजे से 8 के बीच रात का भोजन पहुंच जाए। आज अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भोजन पहुँचने में विलंब हुआ तो जिलाधिकारियों की जवाबदेही तय की जाएगी। इसलिए जरूरतमंदों के पास सुबह 10 से 2 बजे तक दोपहर का खाना पहंचु जाना चाहिए। इसी तरह समय से शाम 6 बजे से 8 तक रात का खाना पहंुचना चाहिए।

डीएम पर लिया जाएगा फैसला

मुख्यमंत्री ने कहा कि वह सीएम हेल्पलाइन के नंबरों की रोज समीक्षा कर रहे हैं। जिस ज़िले से ज़्यादा लोगों के फ़ोन मदद के लिए आ रहे हैं, उन ज़िलाधिकारियों के बारे में लॉक डाउन लाक डाउन फैसला लूंगा।उन्होंने कहा कि 23 करोड़ जनता का हित मेरी प्राथमिकता है।ज़िलाधिकारी की जिम्मेदारी है कि कोई भूखा न रहे।बिना भेदभाव के सब तक भोजन और राशन पहुंचे।

ये भी देखें: लाॅकडाउन: लोगों की ऐसे निगरानी कर रही है पुलिस, कहीं आप भी तो नहीं…

यूपी में 66 करोड़ खादी के रीयूज वाला मास्क बनाने की तैयारी

उधर प्रदेश में मास्क की कमी को पूरा करने के लिए योगी सरकार 23 करोड़ जनता के लिए 66 करोड़ खादी के ट्रिपल लेयर स्पेशल मास्क बनाने की योजना पर विचार कर रही है।जानकारी के अनुसार यूपी सरकार ये स्पे़शल मास्क ग़रीबों को फ़्री देगी।बाक़ी लोगों को बेहद सस्ते दामों पर मिलेगा।

कपड़े का रीयूज वाला मास्क आसानी से धुला भी जा सकेगा

माना जा रहा है कि ये कपड़े का रीयूज वाला मास्क आसानी से धुला भी जा सकेगा। इसके तहत हर नागरिक को दो-दो मास्क दिए जाएंगे।तैयारी है कि अगर लाक डाउन समाप्त होता है तो एपेडमिक एक्ट के तहत सबको पहनना ये मास्क पहनना होगा।बिना मास्क के घर के बाहर निकलने की बिल्कुल अनुमति नहीं होगी

ये भी देखें: खुशखबरी: अमेरिका ने बनाई कोरोना की वैक्सीन, चूहों पर टेस्ट सफल