Top

भ्रामक सूचना और अफवाह पर CM योगी सख्त, तुरंत कार्रवाई के दिए निर्देश

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि सतर्कता व सावधानी से कोरोना वायरस पर नियंत्रण पाया जा सकता है। उन्होंने प्रदेश के सभी जनपदों के जिलाधिकारियों को अपने-अपने जनपदों में कोरोना वायरस से बचाव के सम्बन्ध में समयबद्ध ढंग से पूरी तैयारी सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए हैं।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 16 March 2020 7:58 AM GMT

भ्रामक सूचना और अफवाह पर CM योगी सख्त, तुरंत कार्रवाई के दिए निर्देश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि सतर्कता व सावधानी से कोरोना वायरस पर नियंत्रण पाया जा सकता है। उन्होंने प्रदेश के सभी जनपदों के जिलाधिकारियों को अपने-अपने जनपदों में कोरोना वायरस से बचाव के सम्बन्ध में समयबद्ध ढंग से पूरी तैयारी सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने कहा कि 24x7 कंट्रोल रूम स्थापित कर संचालित किया जाना सुनिश्चित किया जाए। सभी जनपद कोरोना के सम्बन्ध में प्रतिदिन की रिपोर्ट तैयार कर शासन को उपलब्ध कराएं।

मुख्यमंत्री ने दिल्ली एनसीआर (गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद), भारत-नेपाल सीमा के 07 जनपदों तथा जनपद आगरा एवं लखनऊ सहित कुल 11 जनपदों के समस्त मल्टीप्लेक्स, सिनेमाघर एवं क्लबों को बन्द किए जाने के सम्बन्ध में कार्यवाही करने के भी निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिलाधिकारी द्वारा अन्तर्विभागीय समन्वय बैठक करते हुए समस्त विभागों जैसे-स्वास्थ्य, गृह, पंचायतीराज, नगर विकास, चिकित्सा शिक्षा (मेडिकल काॅलेज), उच्च शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा, बेसिक शिक्षा, प्राविधिक शिक्षा, व्यावसायिक शिक्षा, बाल विकास पुष्टाहार, ग्राम्य विकास, सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग, मनोरंजन, सीमा सुरक्षा, पर्यटन, परिवहन, रेलवे, आई0एम0ए0, नर्सिंग होम एसोसिएशन, पुलिस विभाग आदि के अधिकारियों को उनके सहयोगात्मक उत्तरदायित्वों को स्पष्ट करते हुए कार्यवाही की जाए।

यह भी पढ़ें...अभी-अभी MP में घमासान: फ्लोर टेस्ट को लेकर BJP ने दायर की याचिका

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी राष्ट्रों से आने वाले भारतीय नागरिकों एवं विदेशी यात्रियों को सर्विलांस में लिया जाना है। इनकी संख्या अधिक होने के कारण सर्विलांस हेतु गृह, रेवेन्यू एवं अन्य विभागों का सहयोग लिया जाए।

मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी तथा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अपने जनपद के भारत-नेपाल सीमा के चेकपोस्ट तथा एयरपोर्ट का भ्रमण कर चेकपोस्ट एवं एयरपोर्ट पर स्थापित हेल्थ डेस्क पर चिकित्सकों तथा पैरामेडिकल कर्मियों, लाॅजिस्टिक्स एवं एम्बुलेन्स की व्यवस्था के साथ-साथ कोरोना वायरस से बचाव व उपचार के सम्बन्ध में व्यापक प्रचार-प्रसार किए जाने को कहा हैं। उन्होंने कहा कि सिविल एविएशन अथाॅरिटी एवं सीमा सुरक्षा बल का सहयोग भी लिया जाए। कोरोना से बचाव के लिए सरकार के अलावा, निजी क्षेत्र के चिकित्सकों, संस्थाओं का भी सहयोग लिया जाए।

यदि भ्रामक सूचना अथवा अफवाह फैलायी जा रही हो, तो उस पर त्वरित कार्यवाही करना सुनिश्चित किया जाए। कोरोना वायरस से बचाव के सम्बन्ध में व्यापक पैमाने पर जनजागरूकता उत्पन्न किए जाने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि अफवाहों पर पूरा नियंत्रण लगाया जाए तथा इस सम्बन्ध में सोशल मीडिया पर भी निरन्तर निगरानी रखी जाए।

यह भी पढ़ें...एक दिन में 368 मौतों से हाहाकार, कोरोना से पूरी दुनिया में मची अफरा-तफरी

मुख्यमंत्री ने कहा कि मण्डलायुक्त/जिलाधिकारी अपने जनपद के रेलवे के अधिकारियों के साथ बैठक कर रेलवे विभाग द्वारा संचालित विभिन्न ट्रेनों का डिसइन्फेक्शन कराने तथा रेलवे स्टेशनों पर आने वाले यात्रियों को रेलवे विभाग के चिकित्सकों द्वारा स्क्रीनिंग कराते हुए सूचना स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध कराने हेतु निर्देशित करना सुनिश्चित करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि परिवहन विभाग समस्त बस स्टेशनों एवं परिवहन द्वारा संचालित समस्त बसों में प्रतिदिन स्वास्थ्य विभाग द्वारा उपलब्ध करायी गयी एडवायजरी के अनुसार विसंक्रमण का कार्य कराना तथा बस स्टेशनों एवं बसों में रोग से बचाव, रोकथाम एवं उपचार के सम्बन्ध में क्या करें, क्या न करें का व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जिन शिक्षण संस्थानों में परीक्षाएं संचालित की जा रही हैं, वहां पर भी साफ-सफाई का सुनिश्चित करते हुए प्रत्येक पाली की परीक्षा से पूर्व विसंक्रमण की कार्यवाही की जाए।

यह भी पढ़ें...MP: फ्लोर टेस्ट पर आई ये बड़ी खबर, जानिए किसकी चलेगी राज्यपाल या स्पीकर की?

मुख्यमंत्री ने आईएमए एवं नर्सिंग होम एसोसिएशन के चिकित्सकों का संवेदीकरण कराया जाए तथा उनके यहां आने वाले संदिग्ध यात्रियों/रोगियों की सूचना स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को उपलब्ध कराए जानेकी बात कही। उन्होंने कोरोना वायरस की जांच व पुष्टि के सम्बन्ध में आवश्यक उपकरण तथा मानव संसाधन की उपलब्धता शीघ्रता के साथ सुनिश्चित किए जाने तथा मास्क, सैनिटाइज़र, ग्लब्स, गाउन आदि की व्यवस्थाएं पर्याप्त मात्रा में सुनिश्चित करने को कहा है।

चिकित्सा विभाग द्वारा विभिन्न चिकित्सालयों में नगर विकास विभाग नगरीय क्षेत्रों में ग्राम्य विकास विभाग द्वारा समस्त ग्राम पंचायतों में तथा शिक्षा विभाग समस्त विद्यालयों में रोग से बचाव, रोकथाम एवं उपचार के सम्बन्ध में क्या करें, क्या न करें का व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाना सुनिश्चित करें, ताकि जनता में रोग के प्रति भय की स्थिति उत्पन्न न हो एवं सही जानकारियों के साथ जनता को सजग करते हुए रोग के प्रसार को रोका जा सके।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story