UP की पंचायतों में होगी अब शहरों जैसी ये सुविधा, योगी सरकार ने दिए आदेश

च्छ भारत मिशन ग्रामीण के अन्तर्गत भारत सरकार एवं राज्य सरकार की पहल पर जनपद के 809 ग्राम पंचायतों में ग्राम पंचायतों की धनराशि एवं मनरेगा की धनराशि से पुरूष एवं महिला सामुदायिक शौचलाय का निर्माण किया जाएगा।

मिर्जापुर। जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल की अध्यक्षता में मंगलवार को कलेक्टृ्रेट सभागार में स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अन्तर्गत गठित जिला स्वच्छ भारत मिशन मैनेजमेन्ट कमेटी की बैठक की गयी। जिसमें स्वच्छ भारत मिशन के द्वारा कराये जा रहे कार्यो के आय-व्यय के प्रगति की बारे में विस्तृत समीक्षा की गयी। बैठक में जिला पंचायतराज अधिकारी अरविन्द कुमार द्वारा आयोजित बैठक एजेण्डावार प्रगति का विवरण प्रस्तुत किया तथा कराये गये कार्यो व उनके भुगतान हेतु स्वीकृति जानकारी दी गयी।

मनरेगा की धनराशि से शौचालय निर्माण होगा

बैठक में बताया गया कि स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अन्तर्गत भारत सरकार एवं राज्य सरकार की पहल पर जनपद के 809 ग्राम पंचायतों में ग्राम पंचायतों की धनराशि एवं मनरेगा की धनराशि से पुरूष एवं महिला सामुदायिक शौचलाय का निर्माण किया जाएगा। जिसके क्रम में प्रमुख सचिव पंचायती राज के द्वारा स्टीमेट एवं डिजाइन तथा दिशा-निर्देश भी जारी कर दिया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद के ग्राम पंचायतों तथा प्रत्येक ग्राम पंचायत में ऐसे स्थलों का चयन किया जाए ताकि गांव प्रत्येक व्यक्ति के परिवारों हेतु तथा गांव में बाहर से आये हुए बाहरी व्यक्ति एवं शादी-विवाह में बाहर से आये लोगों के लिये प्रयोग में आ सके।

तीन दिन के अंदर स्थल की जानकारी दें

जिलाधिकारी ने यह भी कहाकि तीन दिन के अन्दर स्थल का चयन एवं स्टीमेट बनाकर कर प्रस्तुत किया तथा जनपद के सभी ग्राम पंचायतों में एक दिन एक समय निर्धारित कर शौचालय निर्माण का शुुभारम्भ कराया जाए।

ये भी पढ़ेंः प्राइवेट हाॅस्पिटल का बड़ा कारनामा, मृत मासूम का करता रहा इलाज

इस दौरान व्यक्तिगत शोैचालय निर्माण के लिये बताया गया कि नये शासनादेश के अनुसार नये शौचालय निर्माण के लिये अब धनराशि ग्राम पंचायत के मद में धनराशि न भेजकर सीधे शौचालय की धनराशि लाभार्थियों के खाते में भेजा जाएगा।

कोविड-19 के दिशा निर्देशोंं का कडाई से पालन करने का दिया निर्देश

जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल की कोविड-19 के दृष्टिगत ग्राम स्तर पर बनायी गयी निगरानी समिति के कार्यो के बारे में जानकारी करने के लिये ग्राम प्रधान, आशा तथा सेक्रेटरी से दूरभाष पर वार्ता की। जिलाधिकारी सबसे पहले छानवे विकास खण्ड के ग्राम देवरी के ग्राम प्रधान राजीव को अपने कार्यालय से फोन मिलाया तथा कोरोना की निगरानी के लिये बनायी गयी निगरानी समिति के सदस्यों के कार्यशैली के बारे में जानकारी ली।

ये भी पढ़ेंः बॉलीवुड में फिर हुई मौत: इंडस्ट्री में मचा हड़कंप, इन एक्टर्स ने जताया शोक

ग्राम प्रधान द्वारा बताया गया कि ग्राम में सेंटर आफिसर समय-समय पर निगरानी के लिये आ रहे हैं तथा आशा कार्यकत्रियों के द्वारा बाहर से आने वाले व होम कोरंटाइन पर रखे गये लोगों के घरो पर फ्लैग लगवा दिया गया हैं। उन्होंने यह भी बताया कि बाहर से आने वालो की निगरानी की जा रही हैं।

जिलाधिकारी ने जनपद के सभी कोविड-19 के दौरान बनाये गये ग्राम निगरानी समिति के सदस्यों एवं पदाधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि प्रत्येक बाहर से आने वाले व्यक्ति पर नजर रखी जाये। कोविड-19 के नियमों का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए। उन्होंने कहाकि सेक्टर आफिसर अपने क्षेत्रों में समय से जाकर निरानी करें तथा घरों पर फ्लैग लगा हों। उन्होंने कहा कि इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दास्त नहीं की जायेगी।

रिपोर्ट: बृजेन्द्र दुबे

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App