कांग्रेस ने की कानपुर हमले की CBI जांच की मांग? प्रदेश अध्यक्ष ने लगाया ये आरोप

भाजपा की शह और संरक्षण में गुंडे माफियाओं के फलने फूलने के तमाम साक्ष्य सामने आने पर करारा हमला बोलते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा है कि आरोपों की उच्चस्तरीय जांच की जानी चाहिए।

लखनऊ: भाजपा की शह और संरक्षण में गुंडे माफियाओं के फलने फूलने के तमाम साक्ष्य सामने आने पर करारा हमला बोलते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा है कि आरोपों की उच्चस्तरीय जांच की जानी चाहिए। जांच में सामने आएगा कि किस तरह से भाजपा नेता और विधायक माफियाओं से सांठगांठ कर आमजन की सुरक्षा को खतरे में डाल रहे हैं और पुलिसकर्मियों की हत्या हो रही है।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के बयान के बाद अब सवाल खड़ा हो रहा है कि कांग्रेस क्या सीबीआई जांच की मांग कर रही है, क्योंकि उसने उच्चस्तरीय जांच की मांग की है, लेकिन सीबीआई का नाम नहीं लिया है।

विकास दुबे ने स्थापित किया था आतंक का साम्राज्य

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने सोमवार को कहा कि विकास दुबे को कुछ समय पहले एसटीएफ ने राजधानी में गिरफ्तार किया था और उस समय के उसके बयानों से साफ हो गया है कि भाजपा के दो विधायकों से उसके गहरे संबंध रहे हैं। यह सब सार्वजनिक हो चुका है कि किस तरह से भाजपा नेताओं और विधायकों की शह पर विकास दुबे ने आतंक का साम्राज्य स्थापित कर रखा था। इससे कांग्रेस का यह आरोप सही साबित होता है कि गुंडे माफियाओं की असली संरक्षक भाजपा ही है।

यह भी पढ़ें…LAC पर बनेंगी भारतीय सड़कें, हुआ बड़ा एलान, चीन की आपत्ति से फर्क नहीं पड़ा

‘अपराधी को संरक्षण दे रही सरकार’

लल्लू ने कहा कि कांग्रेस का पहले दिन से मानना है कि भाजपा की मदद के बगैर विकास दुबे जैसे अपराधी खुले आम नहीं घूम सकते हैं। उन्होंने कहा कि आठ पुलिसकर्मियों की हत्या योगी सरकार के ताबूत में आखिरी कील साबित होगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता को यह जानना चाहिए कि कैसे सत्ताधारी दल के नेताओं व विधायकों की मदद से विकास दुबे जैसे हिस्ट्रीशीटर अपनी आपराधिक गतिविधियां संचालित करता रहा।

यह भी पढ़ें…विकास दुबे कांड: CM योगी ने अफसरों की बुलाई आपात बैठक, दिए ये सख्त निर्देश

उन्होंने कहा कि समूचा प्रदेश भाजपा के जंगल राज की गिरफ्त में है जहां उसके गुंडों को खुलेआम पुलिसकर्मियों की हत्या की छूट मिली हुई है। आम आदमी को अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित होने की वाजिब वजह है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस हर हाल में लोगों की सुरक्षा के लिए संघर्ष करेगी।

यह भी पढ़ें…गजब का जुगाड़: 9वीं के छात्र ने कबाड़ से बनाई बाइक, हुनर ने दिलाया सम्मान

बता दें कि कानपुर मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर फरार हो चुके विकास दुबे के कुछ पुराने वीडियोज वायरल हो रहे हैं। इसमें से एक है साल 2017 का एसटीएफ जांच का वीडियो, जिसके सामने आने के बाद हडकंप मच गया है। इस वीडियो में विकास दुबे ने दो भाजपा विधायकों भगवती प्रसाद सागर और अभिजीत सिंह सांगा के नाम भी लिए हैं।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें