कांग्रेस विधायक अदिति सिंह का BJP में शामिल होने की अटकलें तेज़

बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह का जन्मदिन था। कांग्रेस विधायक अदिति सिंह इस कार्यक्रम में शामिल हुईं थीं। कार्यक्रम के बाद उन्होंने रात 10 बजकर 04 मिनट पर एक-एक कर दो ट्वीट किए।

रायबरेली: बीजेपी सांसद के जन्मदिन समारोह में पहुंची कांग्रेस विधायक अदिति सिंह, आशीर्वाद लेकर ट्वीटर पर शेयर की फोटो
रायबरेली: यूपी में हर मोर्चे पर बीजेपी के खिलाफ फ्रंटफुट पर आकर राजनैतिक पारी खेल रही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के लिए ये खबर चौंकाने वाली है। उनकी मां सोनिया के संसदीय क्षेत्र से विधायक अदिति सिंह का एक ट्वीट सामने आया है। ट्वीट में अदिति सिंह ने यूपी के कैसरगंज लोकसभा सीट से बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह से आशीर्वाद लेते हुए दिखाई दे रही हैं।

ये भी देखें : ट्रंप का खतरनाक प्लान! US अब ईरान पर ऐसे करेगा हमला, हुआ बड़ा खुलासा

ग़ौरतलब हो कि बुधवार को बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह का जन्मदिन था। कांग्रेस विधायक अदिति सिंह इस कार्यक्रम में शामिल हुईं थीं। कार्यक्रम के बाद उन्होंने रात 10 बजकर 04 मिनट पर एक-एक कर दो ट्वीट किए। उन्होंने पहले ट्वीट में बीजेपी सांसद के साथ एक फोटो साझा करते हुए लिखा कि- “मेरी ओर से भी माननीय बृजभूषण शरण सिंह जी को जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई एवं शुभकामनाएं!” ठीक इसके बाद ट्वीट में अदिति सिंह ने दो फोटो शेयर की, एक फोटो में वो बीजेपी सांसद से आशीर्वाद लेते हुए लिखती हैं कि “आज कैसरगंज लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से सांसद एवं मेरे अभिभावक माननीय बृजभूषण शरण सिंह जी के जन्मदिन पर उनका आशीर्वाद प्राप्त करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। इस दौरान मेरे साथी विधायक प्रतीक भूषण सिंह से भी मिलने का अवसर प्राप्त हुआ।”

दोनों ही ट्वीट सामने आने के बाद सियासी खेमों में एक बार फिर हलचल मच गई है। और ये हलचल मचना इसलिए भी लाज़मी है कि जहां कांग्रेस यूपी में बीजेपी से दो-दो हाथ कर रही वहां पार्टी विधायक बीजेपी के सांसद के कार्यक्रम में शामिल हो रहीं।

ये भी देखें : नेहा कक्कड़ करने जा रही हैं शादी! इनके परिवार की बनेंगी बहू

हालांकि इस मामले पर अदिति सिंह का कहना है कि बात को तूल दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राजनैतिक जीवन के साथ-साथ मेरा निजी जीवन भी है। मेरे पिता के समय से मेरे अभिभावक माननीय बृजभूषण शरण सिंह के घर से पारिवारिक संबंध है। उनके भाई मेरे साथ विधायक हैं। तो अब अलग-अलग दलों में रहते हुए संबंधों को खत्म कर दिया जाए।

आपको बता दें कि अदिति सिंह बीते साल दो अलग-अलग मौकों पर पार्टी गाइड लाइन से अलग जाकर चर्चा में रह चुकी हैं। 5 अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक बिल जब राज्यसभा में पास हुआ था तो ठीक अगले दिन अदिति सिंह ने ट्विटर पर हैशटैग आर्टिकल 370 के साथ ‘युनाइटेड वी स्टैंड, जय हिंद’ लिखा था। इस पर एक ट्विटर यूजर ने उनसे पूछा कि आप तो कांग्रेसी हैं, इस पर उन्होंने जवाब दिया, ‘मैं एक हिंदुस्तानी हूं’।

ये भी देखें : जल्दी ले लो भाई: Realme का 4 कैमरे वाला मोबाइल मिलेगा इतने सस्ते में

इसके अलावा दूसरा मौका था राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती का, इस मौके पर कांग्रेस ने दो अक्टूबर से अनवरत उत्तर प्रदेश विधानसभा के विशेष सत्र के बहिष्कार का व्हिप जारी किया था। लेकिन अदिति सिंह इसके बाद भी विधानसभा सत्र में शामिल हुई थीं। जिस पर पार्टी की तरफ से नोटिस भी जारी हुई थी। इतना ही नहीं रायरबरेली में अदिति सिंह के घर पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जमकर विरोध-प्रदर्शन किया था।