कांग्रेसियों ने विद्युत निजीकरण का किया विरोध, कोरोना पर सरकार को घेरा

भारत सरकार के पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य ने सरकार द्वारा बिजली का निजीकरण किया जाने का विरोध करते हुए कहा कि कांग्रेस शासनकाल में जो परियोजनाओं और संस्थाओं की आधारशिला रखी गई थी।

झांसी: भारत सरकार के पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य ने सरकार द्वारा बिजली का निजीकरण किया जाने का विरोध करते हुए कहा कि कांग्रेस शासनकाल में जो परियोजनाओं और संस्थाओं की आधारशिला रखी गई थी। वर्तमान में केंद्र की मोदी सरकार उन्हें तहस-नहस करने में लगी हुई है।

निजीकरण के नाम पर देश के एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन बेचे जा रहे हैं। सरकारी संस्थानों को कमजोर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस, केंद्र सरकार के इस निर्णय का पुरजोर विरोध करती है और निजीकरण के खिलाफ विद्युत विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों के संघर्ष का समर्थन करती है।

यह भी पढ़ें…श्रमिकों के संकट मोचक हैं रेलवे के लोको पायलट, ऐसे किये गए सम्मानित

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य मनीराम कुशवाहा ने कहा कि केंद्र सरकार बिजली को निजी हाथों में देकर निजी कंपनियों का एकाधिकार कराना चाहती है, जिससे देश के गरीब व किसानों को मिलने वाली सस्ती बिजली से सब्सिडी को खत्म कर दिया जाएगा और इस तबके के लिए बिजली महंगी हो जाएगी। इस अवसर पर अमीरचंद आर्य, रघुराज शर्मा, अफजाल हुसैन, मुन्नीदेवी अहिरवार, नीता अग्रवाल, जगमोहन मिश्रा, अफसर खान आदि ने अपने विचार व्यक्त किए।

यह भी पढ़ें…UP सहायक शिक्षक भर्ती: उम्मीदवारों को आवंटित हुआ जिला, यहां देखें पूरी लिस्ट

कोरोना से बचाव पर स्पष्ट कार्ययोजना जारी करे, सरकार : डॉ सुनील तिवारी

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पंचायत चुनाव समिति के केन्द्रीय सदस्य डॉ सुनील तिवारी ने कान्फ्रेंस में कहा कि लॉक डाउन 5.0 या फिर अनलॉक डाउन 1.0 कहा जाए। इसमें तीन फेज में विभिन्न उपक्रमों को खोलने की बात सरकार रही है , लेकिंन इसमें कार्यस्थल, धर्मस्थल और सार्वजनिक स्थालों पर नागरिकों के इकठ्ठा होने पर कोविड-19 से बचाव का तरीका क्या होगा, ये बात ना तो केंद्र सरकार ने स्पष्ट की है और ना ही विभिन्न राज्यों की कार्य योजना स्पष्ट रूप में सामने आयी है।

यह भी पढ़ें…बंद होने से दो दिन पहले ही RIL का राइट इश्यू ओवर सब्सक्राइब, निवेशकों की चांदी

डॉ सुनील तिवारी ने कहा कि इस सम्बंध में महामारी विशेषज्ञों ने सरकार से कहा ,5.0 में बहुत सावधानी बरतनी होगी । चूँकि कार्यस्थल सहित सार्वजनिक स्थलों पर सामूहिक शौचालय जैसे कई कारण महामारी विशेषज्ञों को परेशान कर रहे है ।

कांफ्रेंस में पूर्व मण्डल प्रवक्ता राजेंद्र शर्मा, नगर निगम के कांग्रेस सभासद दल के नेता सुलेमान मंसूरी, नगर निगम कार्य कारणी के सदस्य विकास खत्री, पूर्व जिला महामंत्री अमीर चंद आर्य, अशोक तिवारी ‘गुरू ‘ आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे।

रिपोर्ट: बीके कुश्वाहा