×

मीट कारोबार पर कोरोना की मार, अंडा, मीट-मछली के दामों में भारी गिरावट

अभी तक मांसाहार खाने से कोरना वायरस फैलने की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। लेकिन अफवाहों की वजह से लोग नॉनवेज खाने से परहेज कर रहे हैं।

Aradhya Tripathi

Aradhya TripathiBy Aradhya Tripathi

Published on 7 March 2020 3:26 PM GMT

मीट कारोबार पर कोरोना की मार, अंडा, मीट-मछली के दामों में भारी गिरावट
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मेरठ: कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। इससे बचने के लिए कभी हाथ न मिलाने की सलाह दी जा रही है तो कभी मीट-मांस न खाने की सलाह दी जा रही है। हालांकि अभी तक मांसाहार खाने से कोरना वायरस फैलने की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

लेकिन अफवाहों की वजह से लोग नॉनवेज खाने से परहेज कर रहे हैं। हालत यह है कि नॉनवेज फूड से लोगों ने दूरी बना ली है। मुख्य तौर पर अंडा, मांस व मछली के दाम पिछले चार दिन में तेजी से गिरे हैं।

जाहिर है कि इसके कारण मीट कारोबारियों के साथ ही पोल्ट्री फॉर्म संचालकों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

150 में पहुंची मछली तो महज 90 में चिकन

ये भी पढ़ें- मायके हो या ससुराल, महिलाएं जानें अपने अधिकार, नहीं होंगी हिंसा का शिकार

दिल्ली रोड पर में अहमद चिकन शॉप के संचालक शहीद अहमद बहुत परेशान दिखते हैं। वे कहते हैं, पिछले दो दिन में मछली के दाम 300 रुपय प्रति किलो से घटकर 150 रह गया है।

ऊपर से डिमांड भी तेजी से कम हो रही है। ऐसे में स्टॉक को मजबूरन बर्फ में लगाना पड़ा। होटल या रेस्टोरेंट में आपूर्ति नहीं हो रही है। वहीं, चिकन के दाम चार दिन पहले तक 180 रुपय प्रति किलो थे, जो अब 90 रुपय तक फिसल गए हैं।

इसी तरह मटन सौ रुपये सस्ता हो गया है फिर भी कोई पूछने वाला नहीं। अंडे की प्रति ट्रे पर 40 रुपय घट गए हैं।

ये भी पढ़ें- यहां किसानों ने टोलप्लाजा पर किया कब्ज़ा, जानें पूरा मामला

ग्राहक नदारद, मांग हुई कम

शहर से सटे गंगानगर स्थित रजवाड़ा ग्रिल्स के संचालक हेमंत कसाना का कहना है कि पिछले हफ्तेभर से मांसहार वाले ग्राहक नदारद हैं। हफ्तेभर पहले 40 से 50 ऑर्डर प्रतिदिन मिलते थे। जो अब केवल 5 रह गए हैं। मीट, अंडा व मछली से जुड़ा व्यापार तेजी से प्रभावित हुआ है। लोग खौफ के चलते नॉन वेज खाने से परहेज कर रहे हैं।

शहर के पुराने मीट कारोबारी रहीस कुरैशी कहते हैं, पहले अंडा जहां 130 रुपय प्रति ट्रे था वह अब 90 रुपय हो गया है। इसी तरह चिकन 180 रुपय प्रतिकिलो से घट कर 100 रुपय पहुंच गया है।

ये भी पढ़ें- महिला ने पीएम से कहा- आप में भगवान दिखता है, सुनकर भावुक हुए मोदी

मटन 450 रुपय प्रतिकिलो से घटकर 350 रुपय प्रतिकिलो पर पहुंच गया है। इसी तरह मछली 300 रुपय प्रतिकिलो से घट कर 150 रुपय पर पहुंच गई है।

Aradhya Tripathi

Aradhya Tripathi

Next Story