UP में कोरोना के हैं इतने एक्टिव केस, प्रमुख स्वास्थ्य सचिव ने बताया

रैण्डम सैम्पलिंग के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश के सभी 75 जिलों में आश्रय स्थलों, ओल्ड एज होम एवं बाल सुधार गृह में रह रहे व्यक्तियों के सैम्पल के जांच की गयी।

श्रीधर अग्निहोत्री

लखनऊ: रैण्डम सैम्पलिंग के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश के सभी 75 जिलों में आश्रय स्थलों, ओल्ड एज होम एवं बाल सुधार गृह में रह रहे व्यक्तियों के सैम्पल के जांच की गयी। उत्तर प्रदेश में टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। शुक्रवार को 14048 सैम्पल की जांच की गयी थी। अब तक कुल 542972 सैम्पल की जांच की गयी है। बता दें कि प्रदेश के 75 जनपदों में 6,237 कोरोना के मामले एक्टिव हैं। अब तक 10,369 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं।

ये भी पढ़ें: CM योगी का सख्त आदेश, कहा- स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने को करें सभी उपाय

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य डॉ. अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि पूल टेस्ट के अन्तर्गत कुल 1614 पूल की जांच की गयी, जिसमें 1571 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 43 पूल 10-10 सैम्पल की जांच की गयी।

3 जनपदों के ओल्ड एज होम में पाया गया संक्रमण

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि जिसमें 3 जनपदों सुल्तानपुर, कुशीनगर, जालौन के ओल्ड एज होम में कोरोना संक्रमण पाया गया। उन्होंने बताया कि इसी प्रदेश के 75 जनपदों में से केवल दो जनपदों मेरठ, कानपुर नगर के बाल सुधार गृह में कोरोना संक्रमण के केस सामने आये हैं। उन्होंने बताया कि जिन जनपदों में संक्रमण के केस आये हैं वहां के आश्रय स्थलों में सभी की जांच करायी जायेगी। उन्होंने बताया कि आसीएमआर की गाइडलाइन के अनुसार डिस्चार्ज पाॅलिसी में संशोधन किया गया है।

ये भी पढ़ें: दारोग की गुंडई! शिकायत करने पहुंचे शख्स को पीटा, Video वायरल

बिना लक्षण वाले मरीजों को अब 10 दिन के बाद घर भेज दिया जायेगा

बिना लक्षण वाले मरीजों को अब 10 दिन के बाद किसी प्रकार के लक्षण न आने पर बिना जांच के ही घर भेज दिया जायेगा। ऐसे लोगों को घर पर 7 दिन होम क्वारंटीन में रहना होगा। उन्होंने बताया कि सिम्टोमैटिक वाले मरीजों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आने पर ही घर भेजा जाएगा।

ये भी पढ़ें: पतंजलि की जन्म भूमि को भागीरथ की तलाश, यहां के बारे में नहीं जानते होंगे ये बातें

गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंजी घाटी, सेना ने मार गिराया एक आतंकी

फ्री मिलेगा सिलिंडर: उज्जवला ग्राहकों के लिए खुशखबरी, होगा बड़ा फायदा

युद्ध को तैयार चीनः कैसे रोकेगा भारत, एलएसी से 40 किमी दूर है भारी जमावड़ा