सावधान! तफरी करने वालों पर अब ड्रोन से रखी जाएगी नजर

शासन-प्रशासन की लाख कोशिशों के बाद भी कोरोना वायरस की आपदा काल में काशी के कुछ लोग सुधरने को तैयार नहीं हैं। लॉकडाउन के दौरान घरों में रहने के बजाय ऐसे लोग लगातार गलियों में और सड़कों पर घूमते हुए देखे जा रहे हैं।

वाराणसी: शासन-प्रशासन की लाख कोशिशों के बाद भी कोरोना वायरस की आपदा काल में काशी के कुछ लोग सुधरने को तैयार नहीं हैं। लॉकडाउन के दौरान घरों में रहने के बजाय ऐसे लोग लगातार गलियों में और सड़कों पर घूमते हुए देखे जा रहे हैं। ऐसे लीगों पर लगाम लगाने के लिए प्रशासन और सख्ती करने जा रहा है। पुलिस अब ड्रोन के जरिये कानून का मजाक उड़ाने वालों पर नजर रखेगी।

जगह-जगह लगाए जा रहे हैं ड्रोन सेटअप

एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह के अनुसार गली-मोहल्लों में फालतू का मजमा लगाए लोगों पर कार्रवाई करने की तैयारी है। अभी तक घनी आबादी होने के चलते ऐसे लोगों को चिन्हित करने में परेशानी हो रही थी, लिहाजा अब ड्रोन कैमरे की मदद ली जाएगी। ड्रोन कैमरों की मदद से तफरी करने वालों को चिन्हित कर महामारी अधिनियम के तहत केस दर्ज किया जाएगा।

ये भी पढ़ेंः क्या आप जानते हैं यूपी में कोरोना की चपेट में अब तक कुल कितने लोग आ चुके हैं?

सैकड़ों लोगों के खिलाफ हो चुकी है कार्रवाई

लॉकडाउन के दौरान बेवजह घरों से बाहर घूमने पर अब तक लगभग 3 सौ लोगों के खिलाफ कार्रवाई हो चुकी है जबकि 600 से अधिक गाड़ियों का चालान और सीज किया जा चुका है। लॉकडाउन के दौएआन सुबह 7 बजे से 11 बजे तक आवश्यक वस्तुओं की ख़रीददरी की छूट है।

ये भी पढ़ेंःवॉट्सऐप पर कोरोना! रहिए जरा संभल कर, कहीं धोखा न खा जाएं

बावजूद इसके बहुत से ऐसे लोग हैं जो शाम और रात के वक्त घरों से बाहर घूमते हुए देखे जाते हैं। प्रशासन की कोशिश है कि सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन किया जाए। यही कारण है कि सख्ती दिखाते हुए पुलिस प्रशासन ने ड्रोन कैमरे से अब निगहबानी करने का फैसला किया है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।