केंद्र की गाइडलाइन की बावजूद सील रहेगा नोएडा-दिल्ली बॉर्डर, ऐसे मिलेगी एंट्री

जिला प्रशासन की तरफ से पूर्व में जारी आदेशों के मुताबिक सिर्फ पास वाले लोगों को ही बॉर्डर से प्रवेश मिलेगा। स्वास्थ्य विभाग की एक रिपोर्ट जारी होने के बाद जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने नोएडा-दिल्ली बॉर्डर अभी भी सील रहने का निर्देश जारी किया है।

नोएडा: लॉकडाउन 5.0 के अनलॉक 1.0 में दिल्ली – नोएडा बॉर्डर को सील ही रखा जाएगा। जिला प्रशासन की तरफ से पूर्व में जारी आदेशों के मुताबिक सिर्फ पास वाले लोगों को ही बॉर्डर से प्रवेश मिलेगा। स्वास्थ्य विभाग की एक रिपोर्ट जारी होने के बाद जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने नोएडा-दिल्ली बॉर्डर अभी भी सील रहने का निर्देश जारी किया है। लोगों को नोएडा से दिल्ली आने और जाने के लिए अधिकृत पास के माध्यम से ही आवागमन की इजाजत होगी।

स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के बाद लिया गया फैसला

जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने बताया कि नोएडा और दिल्ली बॉर्डर अभी सील रहेगा। दिल्ली में बहुत बड़ी संख्या में कोरोना वायरस से संक्रमित लोग रोजाना सामने आ रहे हैं। ऐसे में अगर लोगों को निर्बाध रूप से दिल्ली आवागमन की इजाजत दे दी गई तो संक्रमण काफी तेजी से गौतम बुद्ध नगर में भी फैल सकता है।

शासन को भेजी जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट

जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने बताया कि लोगों की सुरक्षा और जीवन रक्षा के चलते गौतम बुद्ध नगर के निवासी थोड़ा कष्ट सहन करें। लोगों की सुरक्षा और जीवन रक्षा के लिए कष्ट सहन करने में किसी भी तरह की कोई बुराई नहीं है।

ये भी पढ़ेंः ब्रेकअप अब नहीं देगा टेंशन, जानिए इससे बाहर निकलने के आसान TIPS

नोएडा में कोरोनो का कहर

शहर में रविवार को कोरोना के 9 मामलों की पुष्टि के बाद देर शाम आए रिपोर्ट में 51 नए मामलों की पुष्टि हुई है। इसमें 39 मामले नोएडा से संबंधित है। वहीं 9 मामले नोएडा से बाहर अन्य जिलों के हैं। तीन पुराने मरीजों से संबंधित हैं। इन सभी मरीजों को आइसोलेट कर अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

गाजियाबाद में लिमिटेड एंट्री

इसके पहले गाजियाबाद प्रशासन ने भी बड़ा फैसला लिया। जानकारी के अनुसार, स्‍थानीय प्रशासन ने ‘सेक्‍टर स्‍कीम’ शुरू करने की योजना बनाई है। प्रशासन की इस योजना के तहत यहां का कोई भी निवासी न तो बाहर जा सकेगा और न ही कोई बाहरी इस क्षेत्र में प्रवेश कर सकेगा। बस मेडिकल इमर्जेंसी की स्थिति में ही आने-जाने की इजाजत ही होगी।

ये भी पढ़ेंः अभी-अभी बड़ा फैसला: अब सील होगा ये पूरा इलाका, मौत का बढ़ा प्रकोप

गाजियाबाद जिला प्रशासन ने भी आदेश जारी किया कि अब अगर किसी सोसाइटी में एक केस पॉजिटिव पाया जाता है तो वह टावर ही सील किया जाएगा, न कि पूरी सोसाइटी। प्रशासन के आदेश में यह भी कहा गया है कि अगर एक से ज्यादा टावर में कोरोना वायरस के संक्रमित मरीज पाए जाते हैं, तो उन टावरों को तो सील किया ही जाएगा।

दीपांकर जैन

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।