औरैया हादसा: ‘एक कप चाय’ बनी अमृत वरदान, कई मजदूरों की ऐसे बचाई जान

राजस्थान से घर वापसी की ललक के साथ चले 24 मजदूरों का सफर औरैया में ही थम गया। इस हादसे से हर किसी का दिल दहल गया। बहलहाल अन्य घालय मजदूरों का इलाज चल रहा है।

औरैया: उत्तर प्रदेश के औरैया में 24 मजदूरों की मौत के बाद प्रदेश में हड़कंप मचा हुआ है। हालांकि जिन मजदूरों की जान बच गयी, उनके लिए ‘एक कप चाय’ अमृत वरदान साबित हुई। इस हादसे का शिकार हुए कुछ मजदूरों का कहना है कि अगर वो चाय पीने के लिए नहीं रुकते तो शायद इस हादसे में उनकी भी मौत हो जाती। हालंकि राजस्थान से घर वापसी की ललक के साथ चले 24 मजदूरों का सफर औरैया में ही थम गया। इस हादसे से हर किसी का दिल दहल गया। बहलहाल अन्य घालय मजदूरों का इलाज चल रहा है।

सड़क हादसे में 24 प्रवासी मजदूरों की औरैया में हुई मौत:

दरअसल, उत्तर प्रदेश के औरैया में शनिवार की तड़के भीषण सड़क हादसे में 24 मजदूरों की मौत हो गयी। ये मजदूर राजस्थान से डीसीएम के जरिये लम्बा सफर तय कर अपने घर वापसी कर रहे थे। इसमें ज्यादातर मजदूर बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के थे।

चाय पीने के लिए मजदूरों से भरी डीसीएम रुकी थी ढाबे पर

रात भर के सफर के बाद मजदूरों में चाय पीने की तलब हुई तो औरैया नेशनल हाईवे पर सड़क किनारे एक ढाबे पर डीसीएम को रोका गया। खड़ी हुई डीसीएम को पीछे से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक ने टक्कर मार दी मार दी। कुछ मजदूर डीसीएम से उतर कर ढाबे पर चाय पी रहे थे। वहीं मरने वाले मजदूर डीसीएम में बैठे हुए थे।

ये भी पढ़ेंः मजदूरों की मौत पर पर अखिलेश ने जताया दुख, कहा- ऐसे हादसे मृत्यु नहीं हत्या हैं

नींद में थे कुछ मजदूर, अब नहीं खुलेगी कभी आँखे

कई मजदूर तो नींद में ही मौत की आगोश में चले गए। उन्हें क्या पता था कि अब उनकी आँखे कभी नहीं खुलेंगी। हादसे के बाद चीख पुकार मच गयी। मंजर भयावर था। पुलिस मौके पर पहुँच गयी और डीसीएम में लड़ी बोरियों में दबे मजदूरों के शवों को निकाला गया। कई घायल हो गए थे, सबको इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया। कुछ मजदूरों की हालत नाजुक होने के चलते उन्हें सैफई मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया।

ये भी पढ़ेंः फिर गई मजदूरों की जान: 36 घटों में दूसरा बड़ा हादसा, इतनी मौतों से MP में हड़कंप

सीएम योगी ने जताया शोक, दिए जांच के आदेश

औरैया हादसे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख और घायलों को 50 हजार रुपये देने का एलान किया है।

वहीं इस घटना के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ में प्रवासी श्रमिकों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए जिला प्रशासन के अधिकारियों को तत्काल मौके पर पहुँच कर पीड़ितों को हर संभव राहत प्रदान करने के निर्देश दिए। सीएम ने कहा कि सभी घायलों का तत्काल इलाज कराया जाए। इसके साथ ही निर्देश दिए कि मंडलायुक्त कानपुर और आईजी कानपुर तत्काल मौके पर पहुँच कर राहत कार्य संपन्न कराएं व् दुर्घटना के कारणों की जांच कर आख्या सौंपें।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App