ईद की नमाज पर फतवा जारी, दारुल उलूम ने मुस्लिमों से की ये अपील

देश में कोरोना महामारी से निपटने के लिए लॉकडाउन लगा हुआ है। यह लॉकडाउन 17 मई जारी रहेगा। अब इस बीच दारुल उलूम देवबंद ने नमाज के लिए फतवा जारी कर दिया है।

लखनऊ: देश में कोरोना महामारी से निपटने के लिए लॉकडाउन लगा हुआ है। यह लॉकडाउन 17 मई जारी रहेगा। अब इस बीच दारुल उलूम देवबंद ने नमाज के लिए फतवा जारी कर दिया है। यह फतवा लॉकडाउन बढ़ने की स्थिति में ईद और अलविदा की नमाज पर जारी हुआ है। ऐसी सभावना है कि लॉकडाउन अभी और बढ़ाया जा सकता है, क्योंकि कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

दारुल उलूम देवबंद ने सोमवार को जारी फतवे में कहा है कि ईद के लिए नए कपड़े जरूरी नहीं, जो आपके पास हैं उन्हीं का इस्तेमाल करें। यह फतवा मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने जारी किया है। मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया के अध्यक्ष भी हैं। उनकी तरफ से फतवे में कहा गया है कि लॉकडाउन बढ़ने और मस्जिदों को इजाजत ना मिलने पर वर्तमान व्यवस्था लागू रहेगी। इमाम मोअज्जम के अलावा जो तीन लोग नमाज वर्तमान में पढ़ रहे हैं, वही लोग ईद और अलविदा की नमाज भी पढ़ेंगे।

यह भी पढ़ें…महीने के अंत तक UP में बड़ी तैयारी: कोरोना से ऐसे लड़ेगी योगी सरकार, दिए निर्देश

फरंगी महली ने फतवे में ईद का जश्न मनाने को लेकर कुछ हिदायतें भी दी हैं। उन्होंने आगे कहा है कि बाकी सभी लोग अपने घरों पर ही नमाज अदा करें। घर के 4 लोगों में एक व्यक्ति इमामत कर नमाज पढ़ ले। ईद की नमाज आपके घर में हो जाएगी। कोई किसी के घर पर मिलने ना जाए, घर पर ही खुशियां मनाएं। ना किसी के गले मिलें, ना हाथ मिलाएं। इसके साथ फरंगी महली ने लोगों से अपील की है कि ईद की नमाज में अल्लाह से दुआ करें कि कोरोना से मुक्ति दें।

यह भी पढ़ें…ITBP ने नहीं टूटने दी सप्लाई चेन: पहाड़ो में 21 दिन रहे खतरनाक, ऐसे की मदद

मीट की बिक्री की मांग की थी

इससे पहले मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना खालिद राशिद फरंगी महली ने लॉकडाउन के तीसरे चरण में जरूरी सामान की खरीदारी की अनुमति का स्वागत किया था। इसके साथ ही महली ने उत्तर प्रदेश सरकार से मांस के व्यापार पर लगी रोक हटाने की अपील की थी। उनका कहना था कि राज्य में मांस को खरीदने और बेचने को लेकर लगाई गई पाबंदियां हटाई जाएं। को हटाया जाए।