छह दिसंबर: अयोध्या में बढ़ी निगरानी, रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा टाइट- रूटमार्च

रामजन्म भूमि बाबरी मस्जिद मुकदमे में रामलला के पक्ष में फैसला आने के बाद अयोध्या में 6 दिसंबर 1992 के विवादित ढाँचे की ध्वंस की बरसी पर सुरक्षा के इंतजाम बेहद चुस्त रहेंगे।

अयोध्या: राम नगरी अयोध्‍या में छह दिसंबर को लेकर पुलिस की निगरानी और बढ़ गई है। ढांचा ध्वंस के बाद से यह तिथि रामनगरी के लिए काफी महत्वपूर्ण मानी गई है। अयोध्या विवाद पर आए फैसला को लेकर दोनों समुदाय के सहयोग ने सुरक्षा तंत्र को काफी राहत पहुंचाई, लेकिन रामनगरी की शांति में कोई खलल न उत्पन्न कर सके, इसके लिए पुलिस प्रशासन एलर्ट है।

ये भी देखें : आ गई 2020-21 के लिए 15वें वित्त आयोग की रिपोर्ट, राष्ट्रपति को सौंपी

समुदाय के लोगों से की गयी अपील

अयोध्या और फैजाबाद नगर सहित पूरे जिले में पुलिस को लगातार गश्त पर रहने का निर्देश दिया गया है। शांति कमेटी की बैठकों में दोनों समुदाय के लोगों का आभार व्यक्त करने के साथ ही पुलिस आने वाले पर्वों को संपन्न कराने के लिए सहयोग की अपील कर रही है।

एसएसपी आशीष तिवारी ने सभी पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिया है कि अयोध्या की शांति को भंग करने वालों के साथ सख्ती से निपटा जाए। सीओ अयोध्या अमर सिंह निगरानी की कमान संभाल रहे हैं।

ये भी देखें : बेबस निर्भया: असुरक्षित हैं बेटियां, रेप पर आखिर कैसे लगे लगाम

रामजन्म भूमि बाबरी मस्जिद मुकदमे में रामलला के पक्ष में फैसला आने के बाद अयोध्या में 6 दिसंबर 1992 के विवादित ढाँचे की ध्वंस की बरसी पर सुरक्षा के इंतजाम बेहद चुस्त रहेंगे। इस बार ये तारीख इसलिए भी बेहद ख़ास है क्यूँ कि फैसला आने के बाद कई कट्टरपंथी संगठनो के निशाने पर अयोध्या आ गयी है। ऐसे में अयोध्या में सुरक्षा के अभूतपूर्व इंतजाम किये गए हैं।

अयोध्या में धारा 144 पहले से ही लगी है

बताते चलें कि अयोध्या फैसले को लेकर पहले से ही अयोध्या में सुरक्षा घेरा बेहद सख्त है और जगह जगह बैरियर लगाए गए हैं और रास्तों को बंद किया गया है। जबकि अयोध्या में धारा 144 पहले से ही लगी है जिला प्रशासन ने खुशी और गम मनाने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

ये भी देखें : मजाज़ लखनवी: वो शायर जिसकी मौत लखनऊ के मयकदे की छत पर हुई थी

स्थानीय स्तर पर दोनों पक्ष किसी प्रकार का आयोजन नहीं कर रहे हैं स्थानीय स्तर पर पूरी शांति व्यवस्था बनी हुई हैै कहीं किसी प्रकार का आपसी मनमुटाव भी नहीं दिखाई पड़़ रहा लोगों ने सुबह सरयू स्नान किया हनुमानगढ़ी कनक भवन राम मंदिर सामान्य रूप से दर्शन वा पूजन किया।