कोरोना का डर: पूजा अर्चना व अज़ान कर लोगों ने ईश्वर से की सलामती की प्रार्थना

मुल्क की सलामती तथा कोरोना वायरस के प्रकोप से निजात पाने के लिए लोगों ने देर रात अपने-अपने मकानों की छतों पर जाकर नम आंखों के साथ अज़ान देकर दुआएं एवं प्रार्थनाएं की तो गुरुवार को सुबह से ही हिन्दू धर्म की महिलाओं ने दुर्गा माता की विधि विधान से स्थापना कर सबकी खुशहाली व सलामती की प्रार्थना की।

भदोही: मुल्क की सलामती तथा कोरोना वायरस के प्रकोप से निजात पाने के लिए लोगों ने देर रात अपने-अपने मकानों की छतों पर जाकर नम आंखों के साथ अज़ान देकर दुआएं एवं प्रार्थनाएं की तो गुरुवार को सुबह से ही हिन्दू धर्म की महिलाओं ने दुर्गा माता की विधि विधान से स्थापना कर सबकी खुशहाली व सलामती की प्रार्थना की।

अन्य मुल्कों की तरह हमारे देश में भी कोरोना वायरस की दस्तक के बाद लोग भयभीत हैं। सरकार भी देशवासियों की सुरक्षा हेतु विभिन्न प्रकार के कारगर उपाय अपना रही है, इसी के साथ साथ लोगों ने भी अल्लाह, ईश्वर से भी इस आपदा से निजात दिलाने हेतु गिडगिडाना प्रारंभ कर दिया है।

इसी को लेकर बुधवार की देर रात्रि 10:00 बजे के बाद कस्बा सहित ग्रामीण क्षेत्रों में निवास कर रहे मुस्लिम समुदाय के लोगों ने अपने अपने मकानों की छतों पर जाकर अजान देकर तथा रो रोकर दुआएं की कि अल्लाह हम गुनहगारों को इस मुसीबत की घड़ी से निजात दिला दें और मुल्क की हिफाजत फरमा। बुधवार को नवरात्रि पर्व प्रारम्भ हो गये, लॉकडाउन की वजह से कस्बे के सभी मंदिर श्रद्धालुओं के लिये बंद रहे।

ये भी देखें: सावधान: देना होगा तगड़ा जुर्माना, तो सभी रहें घरों में

सुबह जल्दी मंदिरों के पुजारियों ने पूजा अर्चना कर लोगो को रोकने के लिये मंदिर के पट बंद कर दिए साथ ही मंदिर में न आकर घरों में पूजा -अर्चना करने की अपील की। महिलायें इस नवरात्रि मंदिर तो नही जा पायीं परन्तु घर पर ही परिवार सहित विधि विधान से आदि स्वरूपा जगदम्बा की स्थापना कर माता से अपने परिवार सहित देश की रक्षा करने की प्रार्थना की। कस्बे में बाजार व दुकानें पूरी तरह बंद रहे। वही भदोही, मोढ, इत्यादी जगह पर फल, सब्जी, किराना की दुकानें सुबह कुछ देर के लिए खुली जिसमें लोगों ने जरूरत का सामान खरीदा।

स्वास्थ्य सुविधाएं बदहाल, आमजन में गुस्सा

कोरोना जैसी वैश्विक विपदा से संघर्ष के दौरान स्वास्थ्य सेवाओं में लापरवाही की शिकायतों ने आमजन की चिंता बढ़ा दी है । जिला चिकित्सालय चेतसिंह सहित कुछ सरकारी अस्पतालों की लापरवाही उम्मीदों पर भारी पड़ रही है । बुधवार को ऐसे कई मामले सामने आए जहां जिला चिकित्सालय चेतसिंह में आए भारी संख्या में मरीजों को फार्मासिस्ट डा0 एच0के0 त्रिपाठी ने डांट-फटकार कर वापस लौटा दिया।

ये भी देखें: कोविड-19: हर परिस्थिति के लिए सेना तैयार, ऐसे लड़ेंगे कोरोना से जंग  

जिला चिकित्सालय चेतसिंह में चिकित्सकों के नहीं आने और इलाज के समुचित संसाधन उपलब्ध नहीं होने से नाराज लोगों ने गुस्से का इजहार किया । वहीं कुछ महिलाएं ऐसी भी पहुंची जो प्रसव पीड़ा से छटपटा रही थी, लेकिन प्रसव पीडित महिलाओं को भी जिला चिकित्सालय से अविलंब वापस कर दिया गया ।

कुछ लोगों का आरोप रहा कि जिला चिकित्सालय में कोई भी चिकित्सक मौजूद नहीं था। पूरे परिसर में सन्नाटा पसरा हुआ था। वही कुछ स्वास्थ्य कर्मी नजर भी आए तो उन्हें डांट फटकार कर भगा दिया गया । लोगों ने आरोप लगाया कि कोरोना वायरस को लेकर बाहर से घर वापस लौटे लोग सशंकित और परेशान है ।

सरकार स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर होने का जहां दावा कर रही है । वहीं जिला चिकित्सालय सहित अन्य सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में चिकित्सकों की लापरवाही से मरीजों का इलाज नहीं हो पा रहा है । दवाएं और संसाधन भी नहीं है । इसे लेकर शहरी और ग्रामीणों में काफी नाराजगी है।

बिना जांच कराएं गांव में नही दी जायेगी एंट्री: ग्राम प्रधान शीतला मिश्र

अभोली भदोही: उत्तर प्रदेश के भदोही जनपद मे अभोली ब्लाक के मकनपुर रोही गांव में गुरुवार को ग्राम प्रधान शीतला प्रसाद मिश्र ने प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की टीम को सूचित कर जिस पर गांव में आए हुए 20 लोगों का डॉ हर्षवर्धन उपाध्याय ने स्वास्थ्य परीक्षण किया ,ग्राम प्रधान शीतला प्रसाद मिश्र ने कहा कि इस समय हमारा देश वैश्विक महामारी कोरोना से जूझ रहा है । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे भारतवर्ष में लॉकडाउन किया है ।

ये भी देखें: लॉकडाउन: अधिकतर बैंक ब्रांच हो सकते हैं बंद, विड्राल की नई स्कीम पर विचार

उसी के साथ – साथ कदमताल करते हुए यह निर्णय लिया गया है। की कोई भी व्यक्ति जो बाहर से आ रहा है उसका बिना जांच कराएं गांव में एंट्री नहीं दी जा रही है जिनके पहल पर आज स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बारी- बारी से बाहर से आए हुए लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर सोशल डिस्टेंसिंग बनाने का सुझाव दिया। साथ ही साथ मुंह में मास्क लगाने व साबुन से हाथ धोते रहने व सैनिटाइजर का प्रयोग करने की नसीहत दी इस मौके पर गांव के राज मिश्रा ,कौशल मिश्रा,नन्हे तिवारी,अभिषेक दुबे,सुशील मिश्रा, अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।