जानिए क्यों बाराबंकी में ग्रामीणों ने किया मतदान का बहिष्कार?

यहां एक बूथ पर मतदाताओं ने आज मतदान का बहिष्कार कर दिया। मतदाताओं ने कामनहीं तो वोट नहीं के नारे भी लगाए। ग्रामीणों ने प्रशासन पर गांव के विकास की अनदेखी का आरोप लगाया।

बाराबंकी: यहां एक बूथ पर मतदाताओं ने आज मतदान का बहिष्कार कर दिया। मतदाताओं ने कामनहीं तो वोट नहीं के नारे भी लगाए। ग्रामीणों ने प्रशासन पर गांव के विकास की अनदेखी का आरोप लगाया।

मतदान के बहिष्कार की सूचना मिलने पर बाराबंकी के उपजिलाधिकारी मौके पर पहुंचे लेकिन वह भी मतदाताओं को मनाने में कामयाब नहीं हो सके।

ये भी पढ़ें…बाराबंकी में मिला हथियारों का जखीरा, एक गिरफ्तार

ग्रामीणों द्वारा मतदान के बहिष्कार की यह तस्वीरें बाराबंकी के मंझलेपुर गांव की है। यहां के ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि इस गांव को विकास से दूर रखा गया है , यहाँ की नालियों की सफाई न होने से नालियाँ बजबजा रही है। सफाई के नाम पर यहाँ कोई काम नहीं हुआ है।

शौचालय और प्रधानमंत्री आवास भी इस गांव में किसी को नही मिला है। यहाँ की सड़कें भी उबड़ – खाबड़ है। इन्ही सब बातों को लेकर यहां के ग्रामीणों ने आज मतदान का वहिष्कार किया है। ग्रामीणों ने कहा कि सिर्फ अपना अधिकार माँग रहे है न कि भीख माँग रहे है । ग्रामीणों ने काम नही तो वोट नही के नारे भी लगाए ।

ये भी पढ़ें…बाराबंकी में बीजेपी नेता ने दिया विवादित बयान, निशाने पर मुस्लिम

मतदान के वहिष्कार की सूचना पाकर मौके पर पहुँचे बाराबंकी के उपजिलाधिकारी अभय पाण्डेय ने कहा कि इस गाँव में विकास न होने का आरोप लगा कर मतदान का वहिष्कार किया है ।

यहाँ के लोगों से उन्होंने कहा है कि आचार संहिता समाप्त होने के बाद उनकी मांगों का प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजा जाएगा और विकास कार्य कराये जाएंगे मगर उपजिलाधिकारी के इस आस्वासन का असर ग्रामीणों पर नही पड़ा।

ये भी पढ़ें…हमेशा कैसे टॉप 10 में रहते हैं बाराबंकी के छात्र?