×

सेना के जवान की मौत, सैन्य सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार

जानकारी के मुताबिक पूरे सूबा मजरे टिकरा गांव निवासी सेना के जवान हेमंत कुमार कोर ईएमई के 102 महरम तोपखाना में 2019 से कार्यरत थे।

Newstrack
Published on 25 Oct 2020 10:10 AM GMT
सेना के जवान की मौत, सैन्य सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार
X
सेना के जवान की मौत, सैन्य सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार (Photo by social media)
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

रायबरेली: उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले के एक और लाल का ड्यूटी के दौरान अचानक स्वास्थ्य बिगड़ गया। बीमार अवस्था में जवान को मिलिट्री हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। इस तरह जवान की एकाएक मौत की खबर घर पहुंची तो शोक की लहर दौड़ पड़ी। अब जवान की अंतिम शव यात्रा देखने के लिए भारी हुजूम उमड़ पड़ा है़।

ये भी पढ़ें:पत्नियां कांप उठेंगी: नवरात्र में कटा बीवी का गला, 8 दिन का था उपवास

raebareli-matter raebareli-matter (Photo by social media)

प्राथमिक इलाज के लिए सैनिक अस्पताल फरीदकोट में दाखिल किया गया

जानकारी के मुताबिक पूरे सूबा मजरे टिकरा गांव निवासी सेना के जवान हेमंत कुमार कोर ईएमई के 102 महरम तोपखाना में 2019 से कार्यरत थे। 24 अक्टूबर को 28 वर्षीय हेमंत कुमार का सैन्य कर्तव्यों के निर्वहन के दौरान उनकी तबीयत बिगड़ गई। उन्हें प्राथमिक इलाज के लिए सैनिक अस्पताल फरीदकोट में दाखिल किया गया, वहां से बेहतर इलाज के लिए सैनिक अस्पताल जालंधर भेजा गया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। यहां से उनका पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव पूरे सुबह मजरे टिकरा थाना भदोखर लाया गया, जहां उन्हें पूरे सैन्य सम्मान के साथ श्रद्धांजलि दी गई।

raebareli-matter raebareli-matter (Photo by social media)

ये भी पढ़ें:शाहरुख का बुर्का वाला किस्सा: सुन सभी रह गए दंग, गौरी से जुड़ी ये कहानी

एनसीसी बटालियन 66 यूपी एनसीसी बीएन की गार्ड ने सलामी दी

उनके अंतिम संस्कार में साक्षात ड्यूटी एनसीसी बटालियन 66 यूपी एनसीसी बीएन की गार्ड ने सलामी दी। उनकी यूनिट के सूबेदार ज्ञानचंद्र ने कहा कि सिपाही हेमंत कुमार काफी प्रभावशाली सैनिक थे वे खेलकूद से लेकर प्रैक्टिकल नॉलेज में भी प्रतिभावान थे। बता दें कि मृतक के पिता रामकरन भी आर्मी से रिटायर्ड हैं। रामकरन के तीन लड़के हैं, जिसमे सबसे बड़ा लड़का गुजरात में नौकरी पर है। दूसरा लड़का हेमन्त कुमार आर्मी में था और सबसे छोटा भाई दीपक अभी पढ़ाई कर रहा है।

नरेन्द्र सिंह, रायबरेली

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story