ईद कपड़ों का नहीं अपनों का त्योहार है, ग़रीब की मदद करना सबसे बड़ी इबादत

ख़रीदारी की जगह हर बंदा तय करे कि किसी एक परिवार को एक महीने का राशन देगा, किसी एक ज़रूरतमंद के घर का एक महीने का किराया देगा। किसी भी व्यक्ति को काम शुरू करने में मदद करेगा। किसी के बीमारी के इलाज में मदद करेगा या किसी बच्चे की पढ़ाई- लिखाई में मदद कर सकता है।

शहरानपुर: कोरोना संकट काल में चल रहे लॉक डाउन के चलते हर कोई घर में बंद है। ज़रूरत पर ही लोग घर से बाहर निकल रहे हैं। मस्जिदों समेत सावर्जानिक तौर पर रोज़ा इफ़्तार जैसे कोई कार्यक्रम आयोजित नहीं किए जा रहे हैं। रमज़ान माह का आख़री अशरा चल रहा है।

ईद सादगी से मनाने की अपील

रमज़ान के अलविदा जुमा और ईद उल फ़ितर के दौरान भी लॉक डाउन का चौथा चरण लागू रहने की पूरी सम्भावना है। इस बार भी लॉक डाउन का उल्लंघन ना हो सके इस के लिए धर्मगुरु व उलमा मुस्लिम समाज के लोगों से ईद सादगी से मनाने की अपील कर रहे हैं। उलमाओं का कहना है कि इस संकट काल में देश के लोग ज़िन्दगी से लड़ रहे हैं ऐसे में ख़ुशी के आयोजन का कोई मतलब ही नहीं बनता।

ग़रीब की मदद करना भी बड़ी इबादत होती है- आलिम मौलाना क़ारी इसहाक़ गोरा

जमीयत दावतुल मुसलीमीन के संरक्षक व प्रसिद्ध आलिम मौलाना क़ारी इसहाक़ गोरा ने कहा कि ईद कपड़ों का नहीं अपनों का त्योहार है। जारी बयान में गोरा ने शरीयत का हवाला देते हुए कहा कि ईद के लिए नए कपड़े पहनना ज़रूरी नहीं है, जो उमदा हों उसी को पहन कर ईद मनाएं। उन्होंने कहा कि नमाज़, रोज़ा, हज जैसे एक इबादत है वैसे ही किसी ग़रीब की मदद करना भी बड़ी इबादत होती है।

ये भी देखें: शराब की दुकानें फिर से हो सकती है बंद, परेशान दुकानदारों ने बनाई रणनीति

क़ारी इसहाक़ गोरा ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि इस ईद उल फ़ितर के त्योहार को सादगी से मनाएँ। उन्होंने कहा कि इस समय देश को हर किसी के योगदान की ज़रूरत है इस लिए हम निश्चय करें कि इस ईद पर ख़रीदारी नहीं करेंगे।

ऐसे भी मना सकते हैं ईद का त्यौहार- आलिम मौलाना क़ारी इसहाक़ गोरा

ख़रीदारी की जगह हर बंदा तय करे कि किसी एक परिवार को एक महीने का राशन देगा, किसी एक ज़रूरतमंद के घर का एक महीने का किराया देगा। किसी भी व्यक्ति को काम शुरू करने में मदद करेगा। किसी के बीमारी के इलाज में मदद करेगा या किसी बच्चे की पढ़ाई- लिखाई में मदद कर सकता है।

ये भी देखें: ट्रंप के अकाउंट पर हल्ला: निजी बैंक खाते की जानकारी हुई लीक, जाने पूरा मामला