Top

इटावा: अखिलेश यादव के लाल टोपी पर CM ने कसा था तंज, धर्मेंद्र यादव ने दिया जवाब

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा में टोपी का जिक्र करते हुए अखिलेश यादव पर किया था तंज । इसके जवाब में अखिलेश ने अपनी प्रोफाइल तस्वीर बदल ली हैं।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 25 Feb 2021 1:13 PM GMT

इटावा: अखिलेश यादव के लाल टोपी पर CM ने कसा था तंज, धर्मेंद्र यादव ने दिया जवाब
X
इटावा पूर्व सीएम अखिलेश यादव के भाई व पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव का लाल टोपी पर बयान
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

इटावा : उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा में टोपी का जिक्र करते हुए अखिलेश यादव पर किया था तंज । इसके जवाब में अखिलेश ने अपनी प्रोफाइल तस्वीर बदल ली हैं। सीएम योगी ने कल विधानसभा में एक एक बच्चे का वाकया बताते हुए कहा नेता प्रतिपक्ष जी मैं आपको बता रहा हूं। मैं एक कार्यक्रम में गया था। छह महीने का एक छोटा सा बच्चा था, उसको मैंने अन्नप्राशन के लिए उठाया। जिस महिला का वह बच्चा था उसके साथ एक ढाई-तीन साल का और बच्चा था। इधर मैं उसको अन्नप्राशन करा रहा था तब तक वहां पर एक पार्टी के कुछ लोग विरोध करने के लिए आ गए। उन्होंने टोपी पहनी हुई थी। ढाई साल का बच्चा क्या कहता है- मम्मी-मम्मी देखो वो गुंडा-गुंडा।

टोपी पर सियासत हुई शुरू

इटावा अपने निवास पर मौजूद धर्मेंद्र यादव ने सदन में सीएम के लाल टोपी वाले बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि डॉक्यूमेंट गवाह है कि गुंडा कौन है किसने अपने मुकदमे वापस किए है। जहां तक सवाल लाल टोपी का है लाल टोपी क्रांति की निशानी है लाल टोपी को आचार्य नरेंद्र देव जी, लोहिया जी, चौधरी साहब से लेकर नेता जी मुलायम सिंह एवं समाजवादी पार्टी का हर कार्यकर्ता संघर्ष की निशानी के तौर पर सिर पर लगाता है। संघर्ष की निशानी के तौर पर गौरवांवित महसूस करता है। लाल टोपी को मिल रहे जन समर्थन और ताकत को लेकर मुख्यमंत्री में घबराहट है इसलिए ऐसी बयानबाजी कर रहे है।

ये भी देखें: जोरदार धमाका: तबाही देख घरों से भागे लोग, हजारों साल बाद ज्वालामुखी विस्फोट

जनता बीजेपी को सबक सिखाने को तैयार

मार दो, ठोक दो, पीट दो, देख लेंगे, यह भाषाएं पुरानी रही है। इस बार जनता तैयार है जिस तरह से किसानों का आंदोलन चल रहा है। जनता बीजेपी को सबक सिखाने को तैयार है। इसलिए घबराहट में है। जितनी लाल टोपी की आलोचना करेंगे लाल टोपी की चमक उतनी ही बढ़ेगी।

लाल टोपी समाजवादियों का पोशाक है बचपन से मैने नेताजी को लाल टोपी लगाए देखा है। हर समाजवादियों ने लाल टोपी को अपनी आन बान समझा है। मुख्यमंत्री के बयान से कोई फर्क पड़ने वाला नही है।

रिपोर्ट- उवैश चौधरी

ये भी पढ़ें : पूर्वांचल को साधने निकले अखिलेश यादव, योगी सरकार पर साधा निशाना

Monika

Monika

Next Story