×

जाली नोटों का कारोबार करने वाला एटीएस के हत्थे चढ़ा

पकड़े गए अभियुक्त से जाली मुद्रा का स्रोत क्या है, भारतीय जाली मुद्रा के इस गिरोह के अन्य सदस्यों की पहचान व जाली मुद्रा को उत्तर प्रदेश एवं एनसीआर के अलावा और कहाँ.कहाँ सप्लाई करता है के बारे में पूछताछ की जा रही है।

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 11 Dec 2019 2:55 PM GMT

जाली नोटों का कारोबार करने वाला एटीएस के हत्थे चढ़ा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: य़ू०पी० एटीएस ने रेलवे स्टेशन गाज़ियाबाद से भारतीय जाली मुद्रा (FICS) का अवैध कारोबार करने वाले एक अभियुक्त को 2,49,050 रु. मूल्य की भारतीय जाली मुद्रा के साथ गिरफ्तार करने में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई।

ये भी पढ़ें—जीएसटी की बैठक में होगा ऐलान, इन चीजों के बढ़ जाएंगे दाम

उ.प्र. एटीएस को विगत काफी दिनों से मालदा (पश्चिम बंगाल) से लाकर उत्तर प्रदेश एवं दिल्ली एनसीआर में भारतीय जाली मुद्रा के अवैध कारोबार करने वाले गैंग के सम्बन्ध में अभिसूचना मिल रही थी। इस अभिसूचना को एटीएस द्वारा विकसित करने पर ज्ञात हुआ कि अभियुक्त मो. मुराद पुत्र मो. अनवर निवासी रामनगर कटिहार, बिहार, हाल पता झंडापुर, साहिबाबाद, जनपद गाज़ियाबाद को उच्च गुणवत्ता वाली भारतीय जाली मुद्रा को माल्दा से लाकर उत्तर प्रदेश एवं दिल्ली एनसीआर में डिलीवरी करने वाला है। इसके बाद यूपीएटीएस द्वारा उक्त अभियुक्त को प्रातः रेलवे स्टेशन गाज़ियाबाद से दो लाख 49 हजार पचास रुपये मूल्य की भारतीय जाली मुद्रा के साथ गिरफ्तार किया गया।

ये भी पढ़ें—इन्हें उजाड़ कर ही दम लेगी भाजपा सरकार, अखिलेश यादव का बड़ा आरोप

पकड़े गए अभियुक्त से जाली मुद्रा का स्रोत क्या है, भारतीय जाली मुद्रा के इस गिरोह के अन्य सदस्यों की पहचान व जाली मुद्रा को उत्तर प्रदेश एवं एनसीआर के अलावा और कहाँ.कहाँ सप्लाई करता है के बारे में पूछताछ की जा रही है।

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story