Top

आत्मदाह से दहला यूपी: SSP ऑफिस के सामने होने लगा ऐसा, प्रशासन में मचा हड़कंप

एसपी क्राइम राम अरज ने इस मामले में पीड़ित पक्ष की पूरी बात सुनकर घटनास्थल क्षेत्र की थाना पुलिस को फटकार लगाते हुए अपहृत युवती को जल्द से जल्द बरामद करने के आदेश दिए गए हैं।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 9 Nov 2020 10:47 AM GMT

आत्मदाह से दहला यूपी: SSP ऑफिस के सामने होने लगा ऐसा, प्रशासन में मचा हड़कंप
X
आत्मदाह से दहला यूपी: SSP ऑफिस के सामने होने लगा ऐसा, प्रशासन में मचा हड़कंप (Photo by social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ: उत्तर प्रदेश के मेरठ में एसएसपी कार्यालय परिसर आज उस समय हड़कंप मच गया जब वहां डेढ़ महीने से अपहृत बेटी की बरामदगी न होने से आहत परिवार के लोग हाथ में केरोसिन की बोतल लेकर आत्मदाह करने पहुंच गए। इससे पहले की पीड़ित परिवार के लोग अपने कपड़ों पर केरोसीन छिड़क कर आग लगाते मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने अपनी पत्नी और दो बच्चों सहित अपने कपड़ों पर करोसीन छिड़क कर आग लगाने की कोशिश कर रहे लोंगो के हाथ से केरोसिन की बोतल छीन ली।

ये भी पढ़ें:अस्पताल में अयोध्या के योद्धा: सीने में अचानक से उठा दर्द, डॉक्टर ने दी जानकारी

एसपी क्राइम राम अरज ने इस मामले में पीड़ित पक्ष की पूरी बात सुनकर घटनास्थल क्षेत्र की थाना पुलिस को फटकार लगाते हुए अपहृत युवती को जल्द से जल्द बरामद करने के आदेश दिए गए हैं। एसपी क्राइम राम अरज ने बताया कि पीड़ित परिवार को पुलिस के साथ उसके घर वापस भेज दिया गया है।

मामला थाना कंकरखेड़ा क्षेत्र का है

दरअसल, मामला थाना कंकरखेड़ा क्षेत्र का है। अपहरण युवती की मां के अनुसार उसकी १९ वर्षीय बेटी जो कि शारदा रोड स्थित एक डिग्री कॉलेज में छात्रा है। बीती 26 सितंबर को कॉलेज गई थी। दोपहर तक बेटी के वापस न लौटने पर उसके कॉलेज के आसपास जाकर पूछताछ की जिसके बाद पता चला कि पंजाब के अमृतसर का रहने वाला रमन कुमार उर्फ मनी अपने कुछ साथियों और रिश्तेदारों के साथ युवती का अपहरण करके ले गया है।

meerut-matter meerut-matter (Photo by social media)

घटना के संबंध में थाना कंकरखेड़ा पुलिस को सूचना दी गई

पीड़ित पक्ष का कहना है कि घटना के संबंध में थाना कंकरखेड़ा पुलिस को सूचना दी गई। लेकिन पुलिस कार्रवाई के नामपर टाल-मटोल करती रही है। अपह्त युवती की मां के अनुसार पुलिस बरामदगी के नाम पर कोरे आश्वासन देने के सिवाय कुछ नही कर रही है। छात्रा के पिता का आरोप है कि जब वह अपनी बेटी की अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराने थाने पहुंचा तो वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने समाज और लोकलाज का हवाला देकर उसका मुंह बंद करा दिया।

ये भी पढ़ें:भूचाल से हिला पाकिस्तान: 15 को गिरेगी पूरी इमरान सरकार, किया गया बड़ा ऐलान

इसी के साथ पुलिसकर्मियों ने आश्वासन दिया कि वह इस मामले में कोई रिपोर्ट दर्ज ना कराए, कुछ दिनों में पुलिस उसकी बेटी को खुद ही ढूंढ कर घर वापस भेज देगी। लेकिन अभी तक भी पुलिस उनकी बेटी की बरामदगी नहीं कर सकी है। थाने जाकर पूछने पर हर बार उनका यही जवाब होता है कि तलाश जारी है।

रिपोर्ट- सुशील कुमार

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story