इटावा जिला जेल में कैदियों के बीच जमकर मारपीट, डिप्टी जेलर समेत 14 घायल

उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में बुधवार देर शाम कैदियों के बीच जमकर बवाल हुआ। यह बवाल इतना बढ़ गया कि मारपीट में डिप्टी जेलर समेत कुछ कैदियों को चोटें भी आईं। घायल कैदियों और डिप्टी जेलर का इलाज जेल में बने अस्पताल में हुआ।

इटावा: उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में बुधवार देर शाम कैदियों के बीच जमकर बवाल हुआ। यह बवाल इतना बढ़ गया कि मारपीट में डिप्टी जेलर समेत कुछ कैदियों को चोटें भी आईं। घायल कैदियों और डिप्टी जेलर का इलाज जेल में बने अस्पताल में हुआ।

मिली जानकारी के मुताबिक यह बवाल कानपुर और आगरा जेल से आए दो कैदियों के बीच हुआ था, लेकिन इसकी चपेट में कई अन्य लोग भी आ गए। एक कैदी की हालत गंभीर बताई जा रही है जिसे इलाज के लिए सैफई मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।

यह भी पढ़ें…DM के बाद नोएडा के CMO अनुराग भार्गव का तबादला, जानें किसे मिली ये जिम्मेदारी

वहीं घटना की जानकारी होने पर इटावा जेल में आलाधिकारियों सहित जनपद के कई थानों की फोर्स जिला जेल में पहुंची वही जेल अधीक्षक राज किशोर ने बताया दोनों ही कैदी उपद्रवी प्रकार के है मामले की जांच जेल प्रसाशन कर रहा है और इसमें दोषियों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

यह भी पढ़ें…हेलो..! कंट्रोल रूम, सरजी लॉकडाउन की वजह से मैं बाहर फंसा हूं, मेरी बीबी…

कैदी डिप्टी जेलर व बन्दी रक्षकों पर भी हमलावर हो गए। मारपीट में कैदी छुन्ना, डिप्टी जेलर जगदीश समेत 14 लोगो को चोटें आई हैं। छुन्ना को जिला अस्पताल भेजकर इलाज कराया गया। डिप्टी जेलर व अन्य का इलाज जेल के अस्पताल में हुआ।

सूचना पर एसएसपी आकाश तोमर, एडीएम ज्ञान प्रकाश, सीओ सिटी वैभव पांडेय, सीओ सैफई चन्द्र देव जेल पहुचे। जेलर ने कहा कि विवाद का कारण अभी पता नही। जांच कराई जा रही है।

जिला जेल में हुई गैंगवार को लेकर सिविल लाइन थाने में 30 कैदियो के खिलाफ कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। धारा 147, 323, 353, 308, 332, 34 एवं 7 cl आपराधिक कानून अधिनियम के तहत दर्ज मुकदमा कराया गया है।

मुन्ना खालिद, मोनू पहाड़ी, ताजुदीन, अंकित फौजी, दिलीप दुर्वेश, शिवमणि, शंकर समेत लगभग 2 दर्जन से अधिक कैदियों को नामजद किया गया।