×

5 IPS के खिलाफ FIR कराने वाले सिपाही पर रंगदारी का केस दर्ज

भ्रष्टाचार को लेकर 5 आईपीएस अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर कराने वाले यूपी पुलिस के सिपाही के खिलाफ नोएडा में रंगदारी मांगने का मामला दर्ज हुआ है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 10 May 2019 4:20 PM GMT

5 IPS के खिलाफ FIR कराने वाले सिपाही पर रंगदारी का केस दर्ज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नोएडा: भ्रष्टाचार को लेकर 5 आईपीएस अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर कराने वाले यूपी पुलिस के सिपाही के खिलाफ नोएडा में रंगदारी मांगने का मामला दर्ज हुआ है।

इस सिपाही पर आरोप है कि उसने अपने पहचान वाले एक ठेकेदार और उसकी पत्नी पर पिस्टल तानकर 20 लाख रुपए की रंगदारी मांगी है। इस मामले में सेक्टर-20 थाने की पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

आरोपी सिपाही सुशील कौशिक आरटीआई के जरिए समय-समय पर यूपी पुलिस में भ्रस्टाचार उजागर कराने को लेकर चर्चा में आ चुका है।पुलिस ने बताया कि सेक्टर-20 में रहने वाले राजकुमार शर्मा बिजली के उपकरण को ठेकेदारी पर लगाते हैं।

ये भी पढ़ें...नोएडा: स्पोर्ट्स इवेंट कंपनी ‘मैगपई’ के खिलाफ FIR दर्ज, ये है मामला

आरोपी सिपाही सुशील कौशिक से पुरानी पहचान थी। जिसकी वजह से सुशील के कहने पर राजकुमार ने उसे ठेकेदारी का काम सिखाया था। इसके बाद सुशील ने ठेका लेने के लिए लाइसेंस भी बनवा लिया और फिर नोएडा प्राधिकरण समेत कई विभागों से ठेका लेने के लिए राजकुमार को ही परेशान करने लगा।

राजकुमार के ठेके का लाइसेंस रद्द कराने के लिए आरटीआई लगाकर भ्रस्टाचार का आरोप लगाने लगा। जिसके बारे में पता चलने पर राजुकमार ने शिकायत की तो आरोपी सिपाही ने जगत नामक युवक के साथ मिलकर कई बार धमकी दी। इसके बाद राजकुमार और उनकी पत्नी पर पिस्टल तानकर 20 लाख रुपए की रंगदारी मांगी।

ये भी पढ़ें...नोएडा: बिना अनुमति के चल रही रेव पार्टी, 161 लड़के और 31 लड़कियां गिरफ्तार

झांसी के पूर्व एसएसपी के खिलाफ खोला था मोर्चा

झांसी के पूर्व एसएसपी राजा श्रीवास्तव के खिलाफ सुशील कौशिक ने मोर्चा खोल लिया था। 19 मई 2005 से 23 मई 2005 तक राजा श्रीवास्तव झांसी में बतौर एसएसपी रहे थे।

इस दौरान सुशील कौशिक ने आरोप लगाया था कि एसएसपी ने जन्माष्टमी उत्सव और जिला पंचायत चुनाव ड्यूटी के नाम पर प्रति पुलिसवाले के खाते से 25-25 रुपए काटकर करीब 1 लाख 81 हजार 950 रुपए का गबन किया था।

उन्होंने इसकी शिकायत राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोेग में की थी। जिसके बाद जांच हुई थी। इसके अलावा बुलंदशहर में तैनाती के दौरान सुशील कौशिक ने तत्कालीन डीआईजी खिलाफ 2007 में आरटीआई लगाकर काफी परेशान किया था।

ये भी पढ़ें...नोएडा: एमिटी यूनिवर्सिटी की छात्रा के अपरहण और दुष्कर्म की कोशिश, आरोपी गिरफ्तार

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story