दिनदहाड़े दहला जिला: परिवार पर हमला, गांव वालों ने किया हंगामा

रंजिश के चलते ग्राम प्रधान के परिवार पर दर्जनों लोगों ने हमला करते हुए अंधाधुंध फायरिंग कर महिला ग्राम प्रधान के जेठ को मौत के घाट उतार दिया।

बागपत: यूपी के बागपत जिले में आपराधिक वारदाते रुकने का नाम नही ले रहीं हैं। पिछले एक सप्ताह की बात करें तो आधादर्जन वारदातें ऐसी सामने आई हैं। जिनमे मामूली विवादों के चलते खून खराबा हुआ है। ताजा मामला कोतवाली बागपत इलाके का है। जहां पिछले काफी समय से मामूली विवाद में चली आ रही रंजिश के चलते ग्राम प्रधान के परिवार पर दर्जनों लोगों ने हमला करते हुए अंधाधुंध फायरिंग कर महिला ग्राम प्रधान के जेठ को मौत के घाट उतार दिया। और 3 लोगों को गोली मारकर फरार हो गए है। जिसके बाद गुस्साये लोगों ने जमकर हंगामा किया। फिलहाल पुलिस के अधिकारी मामले की तफ्तीश में जुटे हैं।

सोते समय करी अंधाधुंध फायरिंग

मामला कोतवाली बागपत इलाके के निवाड़ा गांव का है। जहां इस्लामुद्दीन व ग्राम प्रधान सरवर के परिवारों के बीच मामूली विवादों के चलते पिछले काफी समय से रंजिश चली आ रही है। जिसके चलते ही दो दिन पूर्व भी कार में दोनो पक्षो में मारपीट हो गई थी। जिसका थाने में मुकद्दमा भी दर्ज कराया गया था। और आज सुबह इस्लामुद्दीन पक्ष के दर्जनों लोगों ने ग्राम प्रधान के परिवार पर उस वक्त हमला कर दिया। जब परिवार के लोग सोए हुए थे। बेख़ौफ़ दर्जनों लोगों ने उन पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। जिसमे ग्राम प्रधान के भाई निसार की गोली लगने से मौके पर ही मौत हो गई। जबकि 3 लोग मेहकर, अंगूर खान व रहीसु भी गोली लगने से गम्भीर रूप से घायल हो गए।

ये भी पढ़ें-  निराश्रित गौवंश के लिए संचालित गौ-आश्रय स्थलों में भी रोजगार की व्यापक सम्भावनाएं

जिन्हें मौके पर पहुंची पुलिस ने अस्पताल में भर्ती कराया है। वहीं गुस्साये लोगों ने जिला अस्पताल पहुंचकर जमकर हंगामा किया। और इंस्पेक्टर अरविंद कुमार सिंह पर आरोपियों से मिली भगत का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की है। फिलहाल मौके पर पहुंचे पुलिस के अधिकारी मामले की तफ्तीश में जुटे हुए हैं। एएसपी बागपत अनिल कुमार सिसोदिया का कहना है कि गांव निवाड़ा ओर जिला अस्पताल में भारी पुलिस फोर्स को लगाया गया है। लोगो को समझाने का प्रयास किया जा रहा है। और वारदात को अंजाम देकर फरार हुए लोगो की गिरफ्तारी के भी प्रयास किये जा रहे हैं।

जिले में सामने आ चुकीं कई और घटनायें

आपको बता दें कि इसके अतिरिक्त भी पिछले कुछ दिनों से जिले में लगातार अलग आलग क्षेत्रों में खुनी संघर्ष जारी है। जिसके चलते कई वारदातें सामने आ चुकी हैं। दो दिन पूर्व शराब पीने के विवाद में एक पिता ने ही अपने बेटे की हत्या कर दी थी। खेकडा थाना क्षेत्र में भी दो पक्षो में घर के बाहर खड़े होने को लेकर जमकर हथियार भी चले थे।

ये भी पढ़ें-  यहां पुलिसकर्मी ने प्रवासी मजदूरों को गीत गाकर दी विदाई, जानें पूरा मामला

और 13 मई खेकडा क्षेत्र के ही महरमपुर गांव में मामूली विवाद में एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। 10 मई को सिंघावली थाना के खिंदौड़ा गांव में रास्ते मे ट्रेक्टर खड़ा करने के विवाद में दो लोगो की हत्या कर दी थी। वहीं 13 मई को कोतवाली बडौत के वाजिदपुर में भी दो पक्षो में मामूली विवाद में खूनी संघर्ष हुआ था।

पारस जैन