यहां पुलिसकर्मी ने प्रवासी मजदूरों को गीत गाकर दी विदाई, जानें पूरा मामला

गुजरात के अहमदाबाद से एक ऐसी तस्वीर सामने आई जिसने थोड़ी देर के लिए ही सही लेकिन मजदूरों के चेहरे पर मुस्कान लाने का काम किया है। दरअसल मामला कुछ यूं है कि अहमदाबाद के कालूपुर रेलवे स्टेशनपर एक हेड कांस्टेबल ने परदेशी, परदेशी, जाना नहीं, गाकर प्रवासी मजदूरों को उनके राज्यों के लिए जाने वाली ट्रेनों की ओर विदा किया।

अहमदाबाद: गुजरात के अहमदाबाद से एक ऐसी तस्वीर सामने आई जिसने थोड़ी देर के लिए ही सही लेकिन मजदूरों के चेहरे पर मुस्कान लाने का काम किया है।

दरअसल मामला कुछ यूं है कि अहमदाबाद के कालूपुर रेलवे स्टेशनपर एक हेड कांस्टेबल ने परदेशी, परदेशी, जाना नहीं, गाकर प्रवासी मजदूरों को उनके राज्यों के लिए जाने वाली ट्रेनों की ओर विदा किया।

कांस्टेबल अमृतभाई ने प्रवासी मजदूरों से गुजरात वापस लौटकर आने की विनती भी की, अहमदाबाद पुलिस में हेड कांस्टेबल अमृतभाई ने अन्य राज्यों के मजदूरों को इस गाने के साथ विदा किया और उनके जाते-जाते लौटकर आने को भी कहा।

कोरोना से जंग में केरल बेमिसाल मगर महाराष्ट्र और गुजरात का बुरा हुआ हाल

अमृतभाई ने उन्हें संदेश दिया कि बसों में सवार होकर रेलवे स्टेशन की ओर जा रहे ये मजदूर गुजरात को सालों से अपना घर बनाकर रह रहे थे और अब वे दूसरे राज्य के लोग अपने घर जा रहे हैं।

अमृतभाई को विभिन्न राज्यों के लिए चलाई गई श्रमिक स्पेशल पकड़ने के लिए जा रहे इन प्रवासी मजदूरों को निर्देश देने का काम दिया गया था।  ऐसे में अमृतभाई इन प्रवासी मजदूरों से गुजरात को न भूलने और लौटकर वापस आने की विनती करते दिख रहे हैं।

गुजरात के शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह चूड़ासमा को लेकर कोर्ट से आई ये बड़ी खबर

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App