×

मकर संक्राति के बाद रायबरेली में चलेगी प्रियंका की पाठशाला

यूपी में कांग्रेस के पुरानी सियासी हैसियत को फिर से पाने के लिए लगातार संघर्ष कर रही प्रियंका अब रायरबेली के चार दिवसीय दौरे पर 16 से 19 जनवरी तक कांग्रेस के जिला व शहर अध्यक्षों दो-दो दिन तक प्रशिक्षण देंगी। यूपी कांग्रेस कमेटी में उनके इस प्रशिक्षण शिविर के लिए पूरी तैयारी चल रही है।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 12 Jan 2020 3:00 PM GMT

मकर संक्राति के बाद रायबरेली में चलेगी प्रियंका की पाठशाला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मनीष श्रीवास्तव

लखनऊ: उत्तर प्रदेश का प्रभार संभालने के बाद से ही लगातार यूपी पर फोकस बनाये हुए प्रियंका गांधी एक बार फिर यूपी में लंबा प्रवास कर सकती है। खबर है कि लगातार हिंदू देवी-देवताओं का जिक्र और दर्शन करने वाली प्रियंका गांधी वाड्रा मकर संक्राति के बाद 16 जनवरी से अपनी मां सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली में चार दिवसीय प्रवास करेंगी और पार्टी के जिला व शहर अध्यक्षों को आंदोलन के गुर सिखायेंगी।

ये भी देखें : झंडेवाला पार्क अमीनाबाद में मनाई गयी स्वामी विवेकानंद की जयंती

यूपी में कांग्रेस के पुरानी सियासी हैसियत को फिर से पाने के लिए लगातार संघर्ष कर रही प्रियंका अब रायरबेली के चार दिवसीय दौरे पर 16 से 19 जनवरी तक कांग्रेस के जिला व शहर अध्यक्षों दो-दो दिन तक प्रशिक्षण देंगी। यूपी कांग्रेस कमेटी में उनके इस प्रशिक्षण शिविर के लिए पूरी तैयारी चल रही है।

16 से 19 जनवरी तक प्रशिक्षण लेंगे कांग्रेस के जिला व शहर अध्यक्ष

प्रियंका गांधी वाड्रा प्रशिक्षण शिविर में कांग्रेस के नेताओं को हर मोर्चें पर संघर्ष करने के तरीकों से अवगत कराएंगी। इसके साथ जनता के बीच पैठ बनाने के साथ ही प्रदेश में अब कौन-कौन से मुद्दों पर और किस तरह से आंदोलन खड़े करने की रणनीति भी बतायेंगी। पहले चरण का ट्रेनिंग प्रोग्राम नवंबर में पूरा हो चुका है, जबकि दूसरा चरण 16 जनवरी को शुरू होगा।

सोनिया के संसदीय क्षेत्र में चार दिवसीय प्रशिक्षण शिविर

चार दिन चलने वाले इस कार्यक्रम में दो दिन पूर्वी यूपी और दो दिन पश्चिमी यूपी के सभी शहर व जिला अध्यक्षों को बुलाया गया है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रियंका गांधी भी चारों दिन मौजूद रहेंगी।

ये भी देखें : बारिश का कहर: सड़क से लेकर एयरपोर्ट तक पानी में डूबा, पैदा हो गये ऐसे हालात

कार्यक्रम के लिए निर्धारित प्रत्येक विषय को समझाने के लिए विशेषज्ञ भी आमंत्रित किए गए हैं। साथ ही पार्टी की डाटा एनालिस्ट टीम के जरिये केंद्र व यूपी सरकार द्वारा किए गये कार्यों के आकंड़े एकत्र किए गये है। इन आकंड़ों के जरिए प्रियंका कांग्रेस पदाधिकारियों को विरोध व आंदोलन के तरीके समझायेंगी।

बताया जा रहा है कि प्रियंका इस मौके पर पदाधिकारियों को साफ तौर पर बतायेंगी कि केंद्र व प्रदेश सरकार के खिलाफ किसी भी मुद्दे पर किसी भी विपक्षी दल के सक्रिय होने से पहले कांग्रेस कार्यकर्ता आंदोलन छेड़ दे। कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ सड़कों पर उतरे और विरोध प्रदर्शन करे।

प्रियंका गांधी अपनी नई टीम के साथ बेहद सक्रिय हैं

दरअसल, प्रियंका ने उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के जिला तथा शहर अध्यक्षों की नई टीम तैयार की है। इसके लिए उन्होंने कई पुराने और वरिष्ठ कांग्रेसियों को पार्टी से बाहर का रास्ता भी दिखाया है। ये पुराने कांग्रेसी भी प्रियंका के खिलाफ मोर्चा खोल चुके हैं, लेकिन प्रियंका गांधी अपनी नई टीम के साथ बेहद सक्रिय हैं। इससे पहले उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष के साथ ही कांग्रेस विधानमंडल दल के नये नेता का भी चयन किया है। अजय कुमार लल्लू को उन्होंने प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष और प्रतापगढ़ के रामपुर खास से पहली बार विधायक बनीं आराधना मिश्रा मोना को विधानमंडल दल का नेता मनोनीत किया है।

ये भी देखें : इस समुदाय के लोगों को शेरों के बीच रहने पर नहीं लगता डर, जानिए क्या है कारण

इस प्रशिक्षण शिविर में प्रियंका अपनी इस नई टीम को पार्टी के गौरवशाली इतिहास से परिचित कराने के साथ दो-दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में एनआरसी, एनपीआर और सीएए जैसे मुद्दों पर विस्तार से जानकारी देंगी तो यूपी में कानून-व्यवस्था की स्थिति, बढ़ते महिला उत्पीड़न और महंगाई जैसे मुद्दों को आकंड़ों के साथ समझायेंगी।

SK Gautam

SK Gautam

Next Story