बेलगाम अपराधः नाराज हुए योगी, नप गए एसएचओ गाजियाबाद

उत्तर प्रदेश में अपराध बढ़ता ही जा रहा है। लगातार एक के बाद एक हत्या और अपहरण की खबरें आई, जिसने ना केवल पुलिस बल्कि प्रशासन पर भी सवाल खड़े किए।

CM Yogi Adityanath

CM Yogi Adityanath

गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश में अपराध बढ़ता ही जा रहा है। लगातार एक के बाद एक हत्या और अपहरण की खबरें आई, जिसने ना केवल पुलिस बल्कि प्रशासन पर भी सवाल खड़े किए। इन घटनाओं को लेकर विपक्षी पार्टी ने भी योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा है। वहीं यूपी में बढ़ते अपराध को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने काफी नाराज हैं और अब उन्होंने कड़ा रुख अपना लिया है।

गाजियाबाद में थाना प्रभारी निलंबित

यूपी के गाजियाबाद जिले में दिनदहाड़ें पत्रकार विक्रम जोशी की हत्या हो गई। अब इस मामले में कड़ा एक्शन लेते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने विजय नगर थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया है। वहीं ऐसा CM योगी के कड़े रुख को देखते हुए यह कहा जा रहा है कि गाजियाबाद के साथ-साथ कानपुर, सीतापुर और कौशांबी में भी कई पुलिसकर्मियों पर गाज गिर सकती है।

यह भी पढ़ें: राम मंदिर पर युद्ध: शिलान्यास पर भिड़े संत, क्या सफलतापूर्वक हो पायेगा भूमि पूजन

ड्यूटी में लापरवाही को लेकर थाना प्रभारी को किया निलंबित

बताया जाता है कि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने ड्यूटी में लापरवाही बरतने को लेकर थाना प्रभारी को निलंबित किया है। वहीं प्रोजेक्ट मैनेजर विक्रम त्यागी के मामले में एसएसपी ने सिहानी गेट थाने के एसएचओ को भी सस्पेंड कर दिया है। बता दें कि विक्रम त्यागी 26 जून से ही लापता हैं।

यह भी पढ़ें: कोरोना का बदलता रूप: हर पल बढ़ा लेता है अपनी क्षमता, खोज में आई बात सामने

Journlist Vikram Joshi Murder Case

क्या है पूरा मामला?

वहीं पत्रकार विक्रम जोशी के हत्या की बात की जाए तो सोमवार यानी 20 जुलाई को बदमाशों ने बीच रास्ते में घेर कर पहले तो उनके साथ मारपीट की। उसके बाद उन्हें गोली मारकर फरार हो गए। वहीं इलाज के दौरान पत्रकार विक्रम जोशी ने अस्पताल में दम तोड़ दिया था। ये वारदात तब हुई थी, जब वो अपनी दो बेटियों के साथ बाइक पर कहीं जा रहे थे।

यह भी पढ़ें: 15 अगस्त 2020: इस बार होगा ऐसा नजारा, सरकार ने जारी की एडवाइजरी

लैब असिस्टेंट अपहरण और हत्या के मामले में चार पुलिसकर्मी सस्पेंड

बताया जा रहा है कि उन्होंने अपनी भांजी के साथ हुई छेड़खानी का विरोध किया था और इस मामले में शिकायत भी दर्ज कराई थी। जिसके बाद बदमाशों ने उनके साथ मारपीट कर उनकी हत्या कर दी। बता दें कि इससे पहले उत्तर प्रदेश के कानपुर से लैब असिस्टेंट के अपहरण और हत्या का मामला सामने आया था। इस मामले में भी सीएम योगी ने चार पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया है।

यह भी पढ़ें: सावधान बिजली चोरी की तो फंसेः आ रही है नई व्यवस्था, अब खैर नहीं

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App