कहां भागोगे मुख्‍तार: नहीं छोड़ेने वाली यूपी पुलिस, अब रद्द हुए शस्त्र लाइसेंस

गणेश के बारे में कहा जाता है कि जब गाजीपुर के तत्‍कालीन एएसपी उदय शंकर जायसवाल की लंका बस स्‍टैंड पर मुख्‍तार से मुठभेड़ हुई थी। तब मुख्तार की मदद की थी

Published by Aradhya Tripathi Published: September 22, 2020 | 4:15 pm
Mukhtar Ansari Close Ganesh Datta Mishra

मुख्तार के करीबी गणेश का असलाहा ,लाइसेंस निलंबित (फाइल फोटो)

गाजीपुर: जिलाधिकारी गाजीपुर ने मऊ के विधायक मुख्‍तार अंसारी के करीबी गणेश दत्‍त मिश्र का असलहा लाइसेंस रद्द कर दिया है। बताया जा रहा है गाजीपुर के रौजा का रहने वाला गणेश मिश्र पुत्र शिवशंकर मिश्र प्रॉपर्टी डीलर है। जिलाधिकारी गाजीपुर ने यह कार्रवाई प्रभारी निरीक्षक थाना कोतवाली गाजीपुर की संस्‍तुति पर की है।

यह है मामला

मामले के अनुसार प्रभारी निरीक्षक थाना कोतवाली दिलीप कुमार ने शहर के श्री राम कॉलोनी रौजा निवासी गणेश दत्‍त मिश्र को मुख्‍तार गैंग का सदस्‍य मानते हुए उसके दो असलहा लाइसेंसों को जिलाधिकारी से रद्द करने की सिफारिश की थी। यह सिफारिश उन्‍होंने इसी साल एक दस सितंबर को की थी।

ये भी पढ़ें-   PSC जवान ने की आत्महत्या: फंदे से लटकता मिला शव, सामने आई वजह

Mukhtar Ansari Close Ganesh Datta Mishra
मुख्तार के करीबी गणेश का असलहा ,लाइसेंस निलंबित (फाइल फोटो)

इसी सिफारिश पर कार्रवाई करते हुए जिलाधिकारी एमपी सिंह ने गणेश दत्‍त के दो हथियारों 1. शस्त्र लाइसेंस नम्बर – 1219/P । ( एन0पी0बी0 राइफल .315 बोर नं0- AB-005639 ) 02. शस्त्र लाइसेंस नम्बर – 1799/P । (एन0पी0बी0 पिस्टल .32 बोर नम्बर – CO-2050) को निलंबित कर दिया।

कभी बाइक पर चलता था गणेश, आज अकूत संपत्ति का मालिक

Mukhtar Ansari Close Ganesh Datta Mishra
मुख्तार के करीबी गणेश का असलहा ,लाइसेंस निलंबित (फाइल फोटो)

कहा जाता है कि कभी बाइक पर चलने वाले रौजा निवासी गणेशदत्‍त मिश्र की इतनी हैसियत नहीं थी कि वह असलहा खरीद सके। लेकिन मुख्‍तार गैंग से जुड़ने के बाद वह अकूत संपत्ति का मालिक बन गया। गणेश के बारे में कहा जाता है कि जब गाजीपुर के तत्‍कालीन एएसपी उदय शंकर जायसवाल की लंका बस स्‍टैंड पर मुख्‍तार से मुठभेड़ हुई थी।

ये भी पढ़ें-   फिल्म सिटी की बैठक: सीएम योगी ने कही ये बातें, बताया यूपी भारतीय संस्कृति का केंद्र

उस समय जान बचाने के लिए भागे मुख्‍तार को इसी गणेश मिश्र ने अपनी बाइक पर सुरक्षित जिलाधिकारी आवास पर पहुंचाया था। तभी से गणेश मुख्‍तार के करीब आ गया था। और यहीं वह अकूत संपत्ति का मालिक बनता गया और अब वह मशहूर प्रॉपर्टी डीलर बन गया है।

रिपोर्ट-  रजनीश कुमार मिश्र

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App