Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

गोरखपुर हो रहा इको फ्रैंडली: दौड़ेंगी इलेक्ट्रिक बसें, CNG फिलिंग स्टेशन की संख्या बढ़ी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गृहजनपद गोरखपुर अब इको फ्रैंडली हो रहा है। गोरखपुर में कंप्रेसेड नेचुरल गैस (सीएनजी) पंपों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। टोरेंट गैस का 8वां सीएनजी फिलिंग स्टेशन गोरखपुर जिले के खजनी में शुरू हो गया है।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 23 Jan 2021 6:19 AM GMT

गोरखपुर हो रहा इको फ्रैंडली: दौड़ेंगी इलेक्ट्रिक बसें, CNG फिलिंग स्टेशन की संख्या बढ़ी
X
गोरखपुर हो रहा इको फ्रैंडली: दौड़ेंगी इलेक्ट्रिक बसें, CNG फिलिंग स्टेशन की संख्या बढ़ी
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गृहजनपद गोरखपुर अब इको फ्रैंडली हो रहा है। इलेक्ट्रिक बसें, बैटरी वाली गाड़ियों के साथ सीएनजी वाहनों की संख्या लगातार बढ़ रही है। नगर निगम भी अगले महीने से 25 इलेक्ट्रिक सिटी बस चलाने की तैयारी में है। इसी का नतीजा है कि गोरखपुर में कंप्रेसेड नेचुरल गैस (सीएनजी) पंपों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। टोरेंट गैस का 8वां सीएनजी फिलिंग स्टेशन गोरखपुर जिले के खजनी में शुरू हो गया है। कुशीनगर और संतकबीरनगर मिला कर यह 12 वां सीएनजी फिलिंग स्टेशन हैं।

पेट्रोल और डीजल का विकल्प भी सस्ता भी

बीपीसीएल के टेरिटरी मैनेजर विकास श्रीवास्तव ने गुरुवार को फीता काट कर खजनी स्थित फिलिंग स्टेशन का लोकार्पण किया। इस दौरान उन्होंने उपभोक्ताओं को बताया कि सीएनजी गैस 64.40 प्रति किलोग्राम की दर पर उपलब्ध है। यह पेट्रोल और डीजल का विकल्प होने के साथ यह काफी सस्ता भी है। पम्प संचालक शिवाजी चंद ने कहा कि भविष्य और पर्यावरण संरक्षण को ध्यान में रखते हुए उन्होंने सीएनजी फिलिंग स्टेशन लगाया। इससे वाहन स्वामी को लगभग 46 प्रतिशत की बचत होती है। सीएनजी से वाहनों को माइलेज भी बढ़ता है, रख-रखाव का खर्चा भी कम होता है। सीएनजी ईधन पर्यावरण को क्षति भी नहीं पहुंचता है।

cng

फरवरी से दो रूटों पर इलेक्ट्रिक बसें चलेंगी

गोरखपुर में अगले महीने से इलेक्ट्रिक बसों में सफर करने का सपना पूरा होगा। इन बसों का टेंडर फाइनल हो गया है। सिटी सर्विस के लिए ये बसें चलाई जाएंगी। नगर निगम ने सिटी सर्विस को संचालित करेगा। कोरोना की वजह बसों के संचालन प्रक्रिया में देरी होने से अब फरवरी-2021 में शहरियों को आधुनिक सिटी बसों में सुविधाजनक यात्रा करने को मिलेगी। 25 बसें नगर निगम को उपलब्ध कराई जाएंगी।

ये भी देखें: अखिलेश यादव का योगी सरकार पर तंज, अमरूद इलाहाबादी है या प्रयागराजी हो गया

दो रूट पर चलेंगी बसें

निर्धारित दो रूटों पर 12-13 बसें सुबह सात से रात के नौ बजे तक चलाई जाएंगी। स्टॉपेज का चयन भी हुआ है। जिस स्टॉपेज पर बस शेल्टर नहीं हैं, वहां इसे बनवा जाएगा। अगले चरण में बसों की संख्या में इजाफा होगा। इसके अलावा पार्किंग स्थल से एयरपोर्ट तक यात्रियों को पहुंचाने के लिए दो बसें आएंगी। बसें तैयार हैं। शासन स्तर से गठित टीम को त्रिची जाकर इनका निरीक्षण करना है। टीम के निरीक्षण के बाद बसें गोरखपुर आएंगी। इनका चार्जिंग स्टेशन कचहरी बस स्टेशन के पास स्थित नगर निगम के स्टोर में बनाया जाएगा। नगर आयुक्त अंजनी कुमार सिंह का कहना है कि फरवरी में 25 इलेक्ट्रिक बसें मिल जाएंगी। टेंडर प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। महेसरा में चार्जिंग स्टेशन बनाया जाएगा।

cng-2

गोरखपुर, बस्ती मंडल के ये हैं सीएनजी स्टेशन

-सुशीला फिलिंग, कौड़ीराम

-पवनसुत रामनगर, कड़जहा

-श्रीराम मेडिकल रोड,

-चन्द्रा आटो, बरगदवा

-कमला मोटर्स, नौसड़

-ओम आटो, कोलिया

-गुप्ता आटो, सहजनवा

-शेखर फिलिंग, खलीलाबाद

-श्रीराम, कसया, कुशीनगर

-मेसर्स विंध्यवासिनी, हाटा

-शिवम फिलिंग स्टेशन, कटघर

ये भी देखें: UP के लिए बेहद कठिन है उमा भारती की शराब बंदी करने की मांग

गोरखपुर से पूर्णिमा श्रीवास्तव

दोस्तों देश दुनिया की और को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

SK Gautam

SK Gautam

Next Story