×

CO की मौत: शिक्षिका ने भी तोड़ा दम, खतरे में कई जिंदगियां

पुलिस उपाधीक्षक हरियावां नागेश मिश्रा को बुखार, खांसी तथा सांस लेने में समस्या होने पर हरदोई के निजी अस्पताल से उपचार कराया गया था।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 12 July 2020 3:08 PM GMT

CO की मौत: शिक्षिका ने भी तोड़ा दम, खतरे में कई जिंदगियां
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

हरदोई: हरियांवा सर्किल के सीओ नागेश मिश्रा और भरावन में एक प्राथमिक विद्यालय में तैनात शिक्षिका का एसजीपीजीआई में रविवार की सुबह निधन हो गया। दोनों की कोरोना रिपोर्ट पाजिटिव आई थी। सीओ व शिक्षिका के निधन की खबर से महकमों में शोक की लहर दौड़ गयी।

सीओ व शिक्षिका की मौत से विभागों में हड़कंप

पुलिस उपाधीक्षक हरियावां नागेश मिश्रा को बुखार, खांसी तथा सांस लेने में समस्या होने पर हरदोई के निजी अस्पताल से उपचार कराया गया था। जहां से आराम न मिलने पर उनको 8 जुलाई को मिडलैण्ड हास्पिटल, महानगर- लखनऊ भेजा गया था। यहां अस्पताल द्वारा उनकी कोरोना की जांच कराई गई थी। जिसमें रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद सीओ को डॉ राम मनोहर लोहिया चिकित्सालय, लखनऊ स्थित कोविड चिकित्सालय में भर्ती कराकर उनका उपचार प्रारम्भ किया गया था। यहां से बेहतर उपचार हेतु 11 जुलाई को एसजीपीजीआई के करोना हॉस्पिटल में लाया गया।

जहां रविवार की सुबह उनकी मौत हो गयी। सीओ मिश्रा के परिवार में पत्नी आर्या मिश्रा दो विवाहित पुत्रियां अनीता व ऋचा हैं। जबकि एक पुत्र शांतनु मिश्रा है। नागेश मिश्रा लगभग 58 साल के थे और वह मूल रूप से जनपद प्रयागराज के निवासी थे तथा वर्ष 1989 में उपनिरीक्षक पद पर पुलिस सेवा में आए थे। सीओ मिश्रा वर्ष 2018 में पुलिस उपाधीक्षक पद पर प्रोन्नति होने के उपरांत से जनपद हरदोई में तैनात थे। वहीं प्राथमिक विद्यालय में तैनात शिक्षिका की पीजीआई में मौत हो गयी। शिक्षिका की मौत की खबर से शिक्षा विभाग में भी शोक की लहर दौड़ गयी।

ये भी पढ़ें- कांग्रेस का एलान- यूपी में इस नेता के चेहरे पर लड़ा जाएगा आगामी विधानसभा चुनाव

पूरे बीआरसी परिसर को सेनेटाइज कराया जा रहा है और वहां के खंड शिक्षा अधिकारी व अन्य की कोरोना जांच कराई जा रही है। दरअसल बीती 6 जुलाई को बीआरसी भरावन में शिक्षिका प्राची श्रीवास्तव अपने अभिलेखों का सत्यापन कराने पहुंची थीं। वह भरावन इलाके के बंगालपुर में सहायक अध्यापक के पद पर तैनात थीं। बीएसए हेमन्त राव ने कहा कि बीआरसी पर मौजूद शिक्षकों के साथ जो भी लोग उस दौरान मौजूद थे उनकी कोरोना जांच कराई जा रही है। वहीं बीआरसी को सेनेटाइज कराया जा रहा है।

काफी लोकप्रिय थे सीओ, पुलिस विभाग ने दी श्रद्धांजलि

जिले में सीओ नागेश मिश्रा का कार्यकाल बेहद लंबा रहा है। जितना लंबा कार्यकाल था उतनी ही इनकी लोकप्रियता भी रही। नागेश मिश्रा ने पिहानी कोतवाली में काफी समय प्रभारी निरीक्षक के रूप में निकाला इसके बाद वह बेनीगंज में भी प्रभारी निरीक्षक के पद पर तैनात रहे। इसके बाद उन्हें शहर कोतवाली की कमान मिली। यहां से जब उनका प्रमोशन सीओ के पद पर हुआ तो उनका तबादला हुआ। कुछ समय बाद जब इनकी वापसी हुई तो सण्डीला सर्किल से सीओ बनाये गए।

ये भी पढ़ें- बच्चन परिवार आया इन लोगों के संपर्क में, अब तक 28 की हुई कोरोना जांच

इसके बाद उन्हें हरपालपुर व हरियाँवा का प्रभार मिला। इसी के साथ वह यहां सीओ लाइन का भी प्रभार सम्भाल रहे थे। सीओ मिश्रा के निधन से जिले में उनके तमाम शुभचिंतको में भी शोक की लहर है। पुलिस लाइन में सीओ नागेश मिश्रा को पुलिस अधिकारियों ने भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। एसपी अमित कुमार समेत सभी पुलिस अधिकारियों ने नागेश मिश्रा के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस दौरान पुलिसकर्मियों ने उनकी आत्मा शांति के लिए 2 मिनट का मौन रखा।

रिपोर्ट- मनोज तिवारी

Newstrack

Newstrack

Next Story