हाथरस गैंगरेप: दोषियों के साथ खड़ी है योगी सरकार, आम आदमी पार्टी का बयान

आम आदमी पार्टी ने हाथरस में गैंगरेप पीड़िता की दिल्ली के अस्पताल में मौत के लिए यूपी सरकार को जिम्मेदार बताते हुए यूपी की योगी सरकार पर पीड़ितों नहीं बल्कि दोषियों के साथ खड़ा होने का आरोप लगाया है।

sanjay-singh

आप सांसद ने बसपा सुप्रीमों पर साधा निशाना, बताया भाजपा का मुखपत्र बन गई है मायावती (social media)

लखनऊ: आम आदमी पार्टी ने हाथरस में गैंगरेप पीड़िता की दिल्ली के अस्पताल में मौत के लिए यूपी सरकार को जिम्मेदार बताते हुए यूपी की योगी सरकार पर पीड़ितों नहीं बल्कि दोषियों के साथ खड़ा होने का आरोप लगाया है। पार्टी के राज्यसभा सांसद व यूपी प्रभारी संजय सिंह ने कहा कि यूपी में बहू बेटी सुरक्षित नहीं रही, आये दिन बलात्कार और हत्या हो रही है।

उन्होंने योगी सरकार से सवाल किया कि उनकी सरकार जब चिन्मयानंद के पक्ष में खड़ी होगी तो राज्य की बेटियों को न्याय कैसे मिलेगा? आप सांसद ने इस पूरे प्रकरण को फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाकर 06 महीने के अंदर इन तमाम दुर्दांत अपराधियों को फांसी की सजा दिलाने, पीड़ित परिवार को सुरक्षा देने और कम से कम 50 लाख रुपये का मुआवजा देने की मांग की है।

ये भी पढ़ें:सोनू सूद हुए सम्मानित: लॉकडाउन में बने सबके मसीहा, जीता लोगों का दिल

प्रेसवार्ता में इस मामलें को लेकर बसपा सुप्रीमों मायावती पर भी हमला बोला

आप सांसद ने मंगलवार को प्रेसवार्ता में इस मामलें को लेकर बसपा सुप्रीमों मायावती पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि उन्होंने इस मामलें में मायावती का स्टेटमेंट देखा तो लगा कि वह भाजपा का मुखपत्र है। संजय सिंह ने कहा कि मायावती दलितों की बड़ी नेता है, चार बार की मुख्यमंत्री हैं। वह भी एक दलित बेटी के साथ हुए घटना पर सरकार के खिलाफ मुखर बोल नहीं पाती। ऐसे अत्याचार और अन्याय पर भी आवाज नहीं उठा पाती, यह बहुत अफसोस जनक है।

बीती 14 सितंबर को हाथरस में 19 वर्षीय एक बच्ची के साथ सिर्फ सामूहिक बलात्कार की घटना ही नहीं हुई

राज्यसभा सांसद ने कहा कि बीती 14 सितंबर को हाथरस में 19 वर्षीय एक बच्ची के साथ सिर्फ सामूहिक बलात्कार की घटना ही नहीं हुई, गले की हड्डी तोड़ दी गई, जीभ काट ली गई और मरणासन्न अवस्था में उसको छोड़ दिया गया। परिवार न्याय के लिए पुलिस के पास पहुंचा तो पहले सिर्फ एक व्यक्ति खिलाफ जानलेवा हमले की एफआईआर दर्ज हुई।

mp-sanjay-singh
mp-sanjay-singh (social media)

योगी सरकार बेटी के हालत बिगड़ने का इंतजार करती रही

मीडिया और अखबारों में दबाव बना तो बलात्कार की धारा और बेटी के बयान पर 03 लोगों का नाम और शामिल किया। योगी सरकार बेटी के हालत बिगड़ने का इंतजार करती रही और जान बचाने की स्थिति नहीं रही तो उसको दिल्ली भेजने की नौटंकी की गई। एम्स में उस बेटी को जगह नहीं दिला पाए और सफदरजंग में एडमिट कराया,जहां उसकी मौत हो गई। कौन जिम्मेदार है इसके लिए?, योगी सरकार की अव्यवस्था जो एक बेटी के साथ बलात्कार होने के बाद भी बलात्कारियों के पक्ष में खड़ी नजर आती है। उन्होंने सवाल उठाया कि उन चार अपराधियों के घर पर बुलडोजर क्यों नही चलाया गया? क्यों नहीं पलटी उनकी भी जीप? क्यों नहीं उनके खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई की गई?

अपने खिलाफ आवाज उठाने वालों को डराने धमकाने के लिए यूपी सरकार ने तंत्र बना लिया है

आप यूपी प्रभारी ने कहा कि अपने खिलाफ आवाज उठाने वालों को डराने धमकाने के लिए यूपी सरकार ने तंत्र बना लिया है। वारदात को रोकने के लिए सरकार और पुलिस कुछ नहीं कर रही लेकिन एंटी रोमियो और दुराचारियों के पोस्टर की नाटक नौटंकी की जा रही है। जबकि भाजपा के दुराचारी नेताओं का पोस्टर बनवा रहे आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया जाता है। पूरा तंत्र इस काम में लगा है कि बलात्कार पर कोई बोले, हत्या पर कोई बोले, तो उस पर एफआईआर कर दो। यूपी सरकार का महोबा एसएसपी, इन्द्रकांत त्रिपाठी से रंगदारी मांगता है और हत्या करा देता है, वह खुलेआम घूम रहा है। उस पर कार्रवाई नहीं कर पा रहे है लेकिन पत्रकार रोहिनी के टवी्ट करने पर धमकाया जा रहा हैै, संजय सिंह पर देशद्रोह लगवाया जा रहा है।

आज उत्तर प्रदेश के अंदर बेटियां सुरक्षित नहीं है

उन्होंने कहा कि आज उत्तर प्रदेश के अंदर बेटियां सुरक्षित नहीं है। अपराध बहुत तेजी के साथ बढ़ रहा है। बच्चियों को माता-पिता उनको घर के बाहर भेजने में डरते हैं, सोचते हैं कि वापस लौटेगी कि नहीं। बलात्कार भी हो रहा है, हत्याएं भी हो रही है और योगी सरकार का पूरा तंत्र और पुलिस पैसे वसूलने में, रंगदारी वसूलने में, रंगदारी नहीं देने पर हत्या कराने में जुटा है।

ये भी पढ़ें:IPL 2020, DC vs SRH Live: दिल्ली और हैदराबाद में भिड़ंत, ये होगी प्लेइंग XI!

आप सांसद ने कहा कि दरिंदगी-हैवानियत की पराकाष्ठा बनी यह घटना कोई अकेली नहीं है। जौनपुर की हो, लखीमपुर की हो या मेरठ की एक और निर्भया कांड हो। यह हो रहा है योगी के राज में और कार्रवाई किस पर होगी, जो इनके खिलाफ आवाज उठाएगा। उनके खिलाफ मुकदमे कराएंगे। पत्रकार हो, नेता हो या फिर पार्टी कार्यकर्ता हो। आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता दुराचारी के पोस्टर बनवा रहे थे,उनको गिरफ्तार करवा लिया, क्योंकि दुराचारियों के पोस्टर में भाजपा के नेता की फोटो है। उनको उठाकर महानगर थाने में बंद कर दिया। उन्होंने कहा कि जब भाजपा नेताओं ने दुराचार किया है तो उनके फोटो लगेगी कि नहीं, पोस्टर लगेगें कि नहीं।

मनीष श्रीवास्तव

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App