हाथरस गैंगरेप पीड़िता के पिता ने किया सनसनीखेज खुलासा, फंस गई यूपी पुलिस

 परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने उनसे बिना पूछे ही शव का अंतिम संस्कार करा दिया। इतना ही नहीं जब तक शव का अंतिम संस्कार पूरा नहीं हो गया, तब तक घरवालों को घर में कैद करके रखा।

Hathras

हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिजन की फोटो(सोशल मीडिया)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के हाथरस में गैंगरेप का शिकार हुई पीड़िता की मौत के बाद उसके शव का पुलिस द्वारा जबरन अंतिम संस्कार कराने का मामला तूल पकड़ने लगा है।

परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने उनसे बिना पूछे ही शव का अंतिम संस्कार करा दिया। इतना ही नहीं जब तक शव का अंतिम संस्कार पूरा नहीं हो गया, तब तक घरवालों को घर में कैद करके रखा।

बेटी का अंतिम संस्कार का हक परिवार से छीने जाने पर कांग्रेस, सपा और बसपा से लेकर अन्य राजनीतिक दलों ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है। साथ ही बिगडती कानून व्यवस्था पर भी कई सवाल भी खड़े किये हैं। इस पूरे प्रकरण में यूपी पुलिस के रवैये पर सवाल उठ रहे हैं।

Hathras Gangrape
रेप पीड़िता का शव गांव पहुंचने पर जमा लोगों की भीड़(फोटो: सोशल मीडिया)

यह पढ़ें…हाथरस पर भूचाल: गैंगरेप पीड़िता की लाश पर हंसती रही पुलिस, रोते रहे मां-बाप

पीड़िता के परिवारवालों ने कही ये बात

इस पूरे प्रकरण पर लड़की के पिता का कहना है कि उन्हें पुलिस द्वारा घर में बंद कर दिया गया था, जैसे ही डेडबॉडी अस्पताल से गांव में पहुंची। पुलिस डेडबॉडी को ले गई।

उन्होंने नहीं देखा कि यह किसकी बॉडी है। साथ ही चश्मदीदों का कहना है कि पुलिस ने परिवारवालों को अंदर बंद कर दिया और बाहर पुलिस का पहरा बिठा दिया था।

परिजनों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक मंगलवार की रात को जब पीड़िता का शव हाथरस पहुंचा तो शव वाहन के आगे लेटकर परिजनों के कड़े प्रतिरोध करने तथा मृतका की मां द्वारा झोली फैलाने पर भी पुलिस प्रशासनिक अधिकारी मृतका की डेडबॉडी को उसके घर ले जाने तथा अंतिम संस्कार के लिए सुबह होने के इंतजार को राजी नहीं हुए।

आधी रात में ही मृतका का अंतिम संस्कार करा दिया गया। पीड़िता के पिता ने आरोप लगाया कि ऐसे तो देश की बेटियां सुरक्षित नहीं रहेंगी।

उधर लड़की के चाचा का कहना है कि दाह संस्कार परिजनों के साथ नहीं किया गया है, जो भी किया है पुलिस ने किया है। यह देखकर कि अब पुलिस नहीं होगी वह जलती चिता में दो चार कंडे डालने गए थे तभी पुलिसवालों ने उनका फोटो खींच लिया, अंतिम संस्कार कैसे किया यह उन्हें पता नहीं है।

पीड़िता के पिता से पहले मां ने भी अपने दर्द को बयां किया था। उन्होंने बताया था कि जब मैंने अपनी बेटी को पाया तो देखा उसके शरीर से बहुत खून बह रहा था। मैंने उसे अपने दुपट्टे और उसी खून से लथपथ कपड़े से उसे ढंक दिया। बेटी की जीभ कटी हुई थी।

police
गैंगरेप पीड़िता के अंतिम संस्कार के समय मौजूद महिला पुलिस (फोटो: सोशल मीडिया)

यह पढ़ें…थोड़ी देर में आएगा बाबरी विध्वंस का फैसला, शुरू होगी श्रीकृष्ण जन्मभूमि की सुनवाई

दिल्ली के अस्पताल में ली थी अंतिम सांस

बता दें कि मंगलवार की दोपहर को पीड़िता ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में अंतिम सांस ली थी, जिसके बाद अस्पताल के बाहर काफी प्रदर्शन हुआ। शाम होते-होते पुलिस पीड़िता के शव को हाथरस ले आई और देर रात को अंतिम संस्कार कर दिया गया।

ज्ञात हो की यूपी के हाथरस जिले के चंदपा थाने के गांव में 14 सितंबर की सुबह 19 वर्षीय लड़की के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया गया था। पीड़िता के घरवालों का का आरोप है कि सुबह साढ़े नौ बजे के करीब चार दबंगों ने लड़की के साथ गैंग रेप किया। घटना के 9 दिन बाद लड़की होश में आई तो इशारों में पूरी बात बताई।

उसके बाद पीड़िता को पहले अलीगढ़ में इलाज के लिए लाया गया और बाद में वहां से तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में रेफर कर दिया गया।

जहां पर डाक्टरों ने उसे बचाने की पूरी कोशिश भी की लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। उसने अस्पताल के अंदर ही अंतिम सांस ली।

यह पढ़ें….किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी, ये सरकारी एजेंसियां खरीदेंगी लाखों मीट्रिक टन धान

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें – Newstrack App

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App