×

हाथरस नक्सल कनेक्शन: एक के बाद एक हो रहे खुलासे, संदिग्ध महिला आई सामने

यूपी के हाथरस में कथित तौर पर हुए गैंगरेप केस में नक्सल की बात सामने आने के बाद से हड़कंप मच गया है। जीं हां एसआईटी(SIT) की टीम मध्य प्रदेश के जबलपुर की रहने वाली एक महिला की तलाश में जुटी हुई है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 10 Oct 2020 10:06 AM GMT

हाथरस नक्सल कनेक्शन: एक के बाद एक हो रहे खुलासे, संदिग्ध महिला आई सामने
X
यूपी के हाथरस में कथित तौर पर हुए गैंगरेप केस में नक्सल की बात सामने आने के बाद से हड़कंप मच गया है। SIT की टीम जबलपुर की महिला की तलाश में जुटी हुई है।
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

हाथरस। यूपी के हाथरस में कथित तौर पर हुए गैंगरेप केस में नक्सल की बात सामने आने के बाद से हड़कंप मच गया है। जीं हां एसआईटी(SIT) की टीम मध्य प्रदेश के जबलपुर की रहने वाली एक महिला की तलाश में जुटी हुई है। ऐसे में नक्सली होने का आरोप लगने पर प्रोफेसर डॉक्टर राजकुमारी बंसल का एक बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि मेरा कोई रिश्ता नहीं है, मैं केवल आत्मीयता के तौर पर हाथरस गैंगरेप पीड़िता के घर गई थी।

ये भी पढ़ें...कोरोना के बाद नई बीमारी: फेफड़ों को तेजी से करती खराब, अब फिर बढ़ा खतरा

कैसे मुझे नक्सल कहा

इस मामले में प्रोफसर डॉक्टर राजकुमारी बंसल ने बताया कि उनको अच्छा लगा कि हमारे समाज की एक लड़की इतने दूर से आई है तो उन्होंने कहा कि बेटा एक दो दिन रूक जाओ, तो मैं रूक गई।

आगे उन्होंने कहा कि मैं पीड़ित परिवार की आर्थिक मदद करना चाहती थी। सिर्फ पति को बताकर गई थी। ऐसे में एसआईटी की जांच पर सवाल खड़ा करते हुए महिला ने कहा कि पहले सबूत पेश करें। वहीं बोलना और आरोप लगाना बहुत आसान होता है।

hathras rape फोटो-सोशल मीडिया

मेडिकल कॉलेज में प्रोफेसर डॉक्टर बंसल ने कहा कि मुझे लगा के मेरे नंबर के साथ टेंपरिंग की जा रही हैं। मैने तुरंत साइबर पुलिस में रिपोर्ट दर्ज की है। ये मेरे मान सम्मान की बात है। कैसे मुझे नक्सल कहा गया।

आगे उन्होंने कहा कि मैं फॉरेंसिक रिपोर्ट देखने गई थी, क्योंकि मैं एक्सपर्ट हूं उस विषय की। साथ ही आरोपी महिला ने कहा कि मैने भाभी बनकर कभी इन्टर्व्यू नहीं दिया, मैने कहा कि मैं बेटी हूँ।

ये भी पढ़ें...कश्मीर दहलाने की साजिश: दफन हुए आतंकी मंसूबे, सफल हुआ सेना का ये ऑपरेशन

कई चौंकाने और हैरान कर देने वाले खुलासे

आपको बता दें कि एसआईटी(SIT) की जांच में खुलासा हुआ है कि 16 सितंबर से लेकर 22 सितंबर तक पीड़िता के घर में रहकर नक्सली महिला बड़ी साजिश रच रही थी। वहीं इससे पहले पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि इस केस से जुड़े फंडिंग मामले में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) और भीम आर्मी के लिंक भी शामिल हैं।

ऐसे में हाथरस दुष्कर्म मामले की जांच कर रही एसआईटी(SIT) के सूत्रों से पता चला है कि नक्सली महिला घूंघट ओढ़कर पुलिस और एसआईटी(SIT) से बातचीत कर रही थी। साथ ही घटना के 2 दिन बाद से ही संदिग्ध महिला पीड़िता के गांव पहुंच गई थी।

इसके अलावा आरोप ये भी हैं कि पीड़िता के ही घर में रहकर वह परिवार के लोगों को कथित रूप से भड़का रही थी। और पीड़िता की भाभी बनकर रहने वाली नक्सली एक्टिविस्ट महिला की कॉल डिटेल्स में कई चौंकाने और हैरान कर देने वाले खुलासे हुए हैं।

ये भी पढ़ें...चीन का खात्मा जल्द: भारत ने तेज की अपनी तैयारियां, और मजबूत हुई सेना

Newstrack

Newstrack

Next Story