लॉकडाउन में समाजसेवियों ने मदद के लिए बढ़ाये हाथ, लंच पैकेट भी दिए

लॉकडाउन में फंसे जरूरतमंदों की मदद के लिए अब लोग बढ़ चढ़ कर आगे आ रहे हैं। नगदी, राशन सामग्री, लंच पैकेट व चेक देने के लिए लोगों की संख्या बढ़ती ही जा रही है

Published by Ashiki Patel Published: March 30, 2020 | 8:29 pm
Modified: March 30, 2020 | 8:40 pm

कन्नौज: लॉकडाउन में फंसे जरूरतमंदों की मदद के लिए अब लोग बढ़ चढ़ कर आगे आ रहे हैं। नगदी, राशन सामग्री, लंच पैकेट व चेक देने के लिए लोगों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। मुसीबत के इस दौर में सहयोग के लिए लोग आगे आ रहे हैं। इससे सामुदायिक रसोई घर ठंडी नही पड़ेगी।

ये भी पढ़ें: कोरोना: मजदूरों के लिए तेलगांना सरकार ने उठाया ये कदम, अब हो रही तारीफ

सोमवार को एसडीएम सदर शैलेष कुमार ने बताया कि जलालाबाद के शरद मिश्र की ओर से साढे़ 12 कुंतल आंटा, 325 किलो रिफाइंड तेल, 600 पैकेट बिस्किट, पांच किलो अन्य सामग्री व 50 किलो प्याज दिया है।

वहीँ सरायमीरा के कटियार इंटर प्राइजेज ने 500 पैकेट बिस्किट व नमकीन के दिए हैं। लाखन तिराहा के वारसी मोबाइल की ओर से 15 किलो चाय के पाउच, मानीमऊ के सूरज कोल्ड स्टोरेज की ओर से 10 पैकेट आलू, समाजसेवी दिलीप गुप्ता ने पांच-पांच कुंतल चीनी, चावल व आंटा, पूर्व ब्लॉक प्रमुख नवाब सिंह यादव ने 200 लीटर रिफाइंड तेल, डॉ. जाकिर हुसैन इंटर कॉलेज गुरसहायगंज की ओर से180 किलो आंटा, 60 किलो दाल व 50 किलो चावल, ग्वाल मैदान के मिलन मिश्र ने पांच लीटर रिफाइंड ऑयल व 50 किलो आंटा दिया है।

ये भी पढ़ें: यहां 300 कोरोना संक्रमित! पूरे इलाके की घेराबंदी, डॉक्टर-WHO की टीम मौजूद

साथ ही चंदन मिश्र ने एक कुंतल आंटा, 10-10 किलो मिर्च, हल्दी व धनिया पाउडर, सांसद सुब्रत पाठक ने लंच के 900 पैकेट, सरायमीरा निवासी मधुकर मिश्र ने लंच के 300 पैकेट व विपिन दीक्षित ने 1300 लंच पैकेट दिए हैं। इसी तरह लायन्स क्लब के अध्यक्ष विजय तिवारी ने डीएम कन्नौज राहत कोष में 25 हजार की चेक व 200 किलो सामुदायिक रसोई के लिए आंटा दिया है।

ये भी पढ़ें: मिर्च के रेट हुए तीखे, 6 दिनों में सब्जियों के दाम ने छुआ आसमान

शिक्षकों ने बताया कोरोना से बचने के उपाय

महामारी से बचने के लिए राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज के डॉयरेक्टर डॉ. बीडीके पात्रो ने बताया कि वैश्विक स्तर पर फैली कोरोना की महामारी से निपटने के लिए सभी लोग लॉकडाउन का कड़ाई से पालन करें। हर नागरिक अनुशासित होकर इस महामारी से मुकाबला करे।उन्होंने अफवाहों पर ध्यान न देने की भी बात कही। दूसरी ओर शहर के गोमती देवी गर्ल्स इंटर कॉलेज की प्रधानाचार्य दिव्या शर्मा ने कहा कि संक्रमण के दौरान यह कठिन परीक्षा की घड़ी है। हर नागरिक वीर यौद्धा की तरह अपनी व परिवार के जीवन की रक्षा करे। इसके लिए लॉकडाउन का पालन जरूरी है। साथ ही हाथों को बार-बार कम से कम 20 सेकेंड तक साबुन से धोना। बार-बार छूने वाले दरवाजे, मोबाइल, कप्म्यूटर, कीबोर्ड आदि को सैनेटाइज किया जाए। प्रधानाचार्य ने बताया कि छात्र-छात्राएं अपने परिवार में बुजुर्गों का खास ख्याल रखें। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले फल आदि का प्रयोग अधिक करें। इसमें नीबू, संतरा व आंवला को शामिल किया जा सकता है। घर पर रहकर सुरक्षित रहें।