कोरोना: मजदूरों के लिए तेलगांना सरकार ने उठाया ये कदम, अब हो रही तारीफ

कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए सरकार द्वारा देशभर में लॉकडाउन की घोषणा की गयी है। जिसके कारण शहर छोड़कर जा रहे मजदूरों को तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने भरोसा दिलाया है। उन्होंने हिंदी में बयान जारी करते हुए कहा कि…

Published by Ashiki Patel Published: March 30, 2020 | 8:04 pm
Modified: March 30, 2020 | 8:05 pm

नई दिल्ली: कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए सरकार द्वारा देशभर में लॉकडाउन की घोषणा की गयी है। जिसके कारण शहर छोड़कर जा रहे मजदूरों को तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने भरोसा दिलाया है। उन्होंने हिंदी में बयान जारी करते हुए कहा कि आप हमारे भाई, बहन, बेटे हैं, हम आपके लिए खाने-पीने, रहने और मेडिकल का इंतजाम कर रहे हैं। कहीं मत जाइए।

ये भी पढ़ें: यहां 300 कोरोना संक्रमित! पूरे इलाके की घेराबंदी, डॉक्टर-WHO की टीम मौजूद

केसीआर ने कहा- आप हमारी जिम्मेदारी हैं

सीएम के.चंद्रशेखर राव ने ये साफ कह दिया है कि मजदूरों को तेलंगाना छोड़कर जाने की जरूरत नहीं है। सरकार उनकी हर जरूरत को पूरा करने के लिए सक्षम है। मुख्यमंत्री ने अपनी प्रेस कॉन्फेंस में कहा- हमारे राज्य में काम करने वाले भाई फिर चाहे वो हिंदुस्तान के किसी भी कोने के हों आपकी जिम्मेदारी हमारे पास है। आपको राशन से लेकर हर जरूरत की चीज सप्लाई करना हमारा फर्ज है।

हम आपको हमारे राज्य के विकास का प्रतिनिधि समझते हैं

मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने आगे कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को 12 किलो राशन दिया जाएगा। अगर आपके परिवार में 3-4 लोग हैं तो आपको 2000 रुपये मिलेंगे। एक आदमी को 500 रुपये दिए जाएंगे। एक आदमी को 12 किलो चावल मिलेगा, अगर आप रोटी खाते हैं तो उसी हिसाब से आटा दिया जाएगा। जो पका खाना चाहते हैं, उन्हें खाना पकाकर दिया जाएगा। आपकी जो भी जरूरत होगी, उसे तेलंगाना सरकार पूरी करेगी। हम आपको हमारे राज्य के विकास का प्रतिनिधि समझते हैं। आपको कहीं जाने की जरुरत नहीं है।

रास्ते में महिला हुई बेहोश, लोगों से मदद मांगते रहे बेटे, तड़पकर हो गई मौत

आगे सीएम केसीआर ने कहा कि हमारे पास ऐसे 3.5 लाख लोगों की लिस्ट आई है। हमारे चीफ सेक्रटरी साहब खुद उसको देख रहे हैं। किसी भी चीज की तकलीफ हो, लोकल कलेक्टर, एमएलए या सरपंच से मिलो, आपकी मदद की जाएगी। इस पर सोशल मीडिया पर केसीआर की जमकर तारीफ हो रही है। वहीँ कुछ लोग दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को इससे सीख लेने की भी सलाह दे रहे हैं।

ये भी पढ़ें: लाल निशान पर शेयर बाजार: कोरोना ने किया का बुरा हाल, 1213 अंक लुढ़का