×

झांसी: मुख्य सचिव ने की विकास कार्यों की समीक्षा, अधिकारियों को दिए ये निर्देश

मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से प्रदेश के समस्त मण्डलायुक्तों, जिलाधिकारियों एवं सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक कर आकांक्षात्मक विकास खण्डों में महत्वाकांक्षी जनपदों की भांति विकास कार्यों के निष्पादन, प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेन्डर्स योजना, स्मार्ट सिटी, अमृत योजना, आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान, कोविड-19 संक्रमण के नियंत्रण हेतु कार्यवाही की स्थिति, वैक्सीनेशन, नमामि गंगे योजना की प्रगति की विस्तार से समीक्षा की।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 1 March 2021 5:49 PM GMT

झांसी: मुख्य सचिव ने की विकास कार्यों की समीक्षा, अधिकारियों को दिए ये निर्देश
X
मुख्य सचिव की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विकास कार्यों की समीक्षा
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

झाँसी: मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से प्रदेश के समस्त मण्डलायुक्तों, जिलाधिकारियों एवं सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक कर आकांक्षात्मक विकास खण्डों में महत्वाकांक्षी जनपदों की भांति विकास कार्यों के निष्पादन, प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेन्डर्स योजना, स्मार्ट सिटी, अमृत योजना, आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान, कोविड-19 संक्रमण के नियंत्रण हेतु कार्यवाही की स्थिति, वैक्सीनेशन, नमामि गंगे योजना की प्रगति की विस्तार से समीक्षा की।

कार्ययोजना में माहवार लक्ष्य निर्धारित किए जाए

उन्होंने कहा कि 08 महत्वाकांक्षी जनपदों की भांति प्रदेश के 34 जनपदों के चयनित 100 आकांक्षात्मक विकास खण्डों में स्वास्थ्य एवं कुपोषण, कृषि एवं जल संसाधन, शिक्षा, कौशल विकास, वित्तीय समावेशन एवं आधारभूत अवसंरचना के विभिन्न कार्यक्रमों एवं योजनाओं से आच्छादित किया जाना है, जिसके लिए सभी सम्बन्धित जिलाधिकारी अतिशीघ्र विकास खण्डवार कार्ययोजना भिजवायें। उन्होंने कहा कि कार्ययोजना में माहवार लक्ष्य निर्धारित किये जायें तथा प्रगति की नियमित रूप से साप्ताहिक समीक्षा बैठकें की जाये।

विकास कार्यों की समीक्षा

दिशा-निर्देश शीघ्र निर्गत करने के निर्देश

उन्होंने बाल विकास एवं पुष्टाहार, चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, कृषि, पशुधन, बेसिक शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा, उद्यान, ग्राम्य विकास, पंचायतीराज, ऊर्जा, नमामि गंगे एवं ग्रामीण जलापूर्ति, व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास, संस्थागत वित्त, आई0टी0 एवं इलेक्ट्रॉनिक विभाग के अधिकारियों से उक्त के सम्बन्ध में विस्तृत दिशा-निर्देश शीघ्र निर्गत करने के निर्देश दिये। उन्होंने अपर मुख्य सचिव नियोजन को भी आकांक्षात्मक चयनित विकास खण्डों में कराये जाने वाले विकास कार्यों के सम्बन्ध में गाइडलाइन्स जारी करने को कहा।

परिवारों के गोल्डन कार्ड बनाए जाएंगे

उन्होंने सम्बन्धित मण्डलायुक्तों से भी इसका नियमित अनुश्रवण करने को कहा। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि चिन्हित करीब 1.26 करोड़ परिवारों के गोल्डन कार्ड बनाये जाने हैं। अब तक करीब 1.20 करोड़ लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बनाये गये हैं। उन्होंने कार्ड बनाने की गति में तेजी लाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जिन परिवारों के एक भी कार्ड नहीं बने हैं, उनको प्राथमिकता पर लिया जाये। उन्होंने बताया कि गोल्डन कार्ड निःशुल्क बनाया जा रहा है तथा अब इसके लिए कोई भुगतान नहीं करना है।

उन्होंने 10 से 24 मार्च, 2021 तक प्रस्ताविक दस्तक अभियान में अभियान चलाकर अधिकतम कार्ड बनवाने के निर्देश दिये। उन्होंने गोल्डन कार्ड के उपयोग को बढ़ाने के लिए लाभार्थी परिवारों को जागरूक करने के भी निर्देश दिये। कोविड-19 संक्रमण के नियंत्रण हेतु कार्यवाही की स्थिति तथा कोविड वैक्सीनेशन की प्रगति की समीक्षा करते हुए मुख्य सचिव ने कहा कि सैंपलिंग एवं टेस्टिंग की संख्या को कम नहीं होने देना है तथा बाहर से आने वाले लोगों की रैण्डम चेकिंग व टेस्टिंग की जाये। उन्होंने फोकस टेस्टिंग पर भी बल दिया।

ये भी पढ़ें : नोएडा ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट बनेगा शानदार, मिलेगी 4-लेन रोड कनेक्टिविटी की सुविधा

66 जनपदों की जिलेवार सूची पोर्टल पर अपलोड

नमामि गंगे योजना की समीक्षा में बताया गया कि बुन्देलखण्ड एवं विन्ध्य क्षेत्र के 09 जनपदों में तेजी से काम चल रहा है तथा शेष 66 जनपदों की जिलेवार सूची पोर्टल पर अपलोड कर दी गई है। मुख्य सचिव ने कहा कि परियोजनाओं के लिए जिन जनपदों में भूमि की आवश्यकता है, संबंधित जिलाधिकारी उक्त कार्य को तत्परता से सुनिश्चित कराएं ताकि भूमि के अभाव में कोई कार्य ना रुके।

वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान मंडलायुक्त सुभाष चंद शर्मा ने बताया की जनपद में L1-L2 में जो स्टाफ लगाया गया था उन्हें हटाया गया है जिनकी संख्या लगभग 200 है, उन्होंने कहा कि विषम परिस्थितियों में सभी ने कोरोना काल में सहयोग किया था, इन सभी की समस्या का निस्तारण किए जाने का प्रयास किया जाए क्योंकि लगातार वह हटाए जाने का विरोध कर रहे हैं। इस मौके पर एनआईसी कक्ष में जिलाधिकारी आंद्रा वामसी, अपर आयुक्त आरपी मिश्रा सहित जेडीसी, एडी हेल्थ, सीएमओ सहित जल निगम व अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

रिपोर्ट-बी के कुश्वाहा

ये भी पढ़ें : औरैया का देवकली मंदिरः महाकाल की तर्ज भोलेनाथ का श्रंगार, चढ़ा चांदी का मुकुट

Monika

Monika

Next Story