मंडलायुक्त सुभाष चन्द्र व डीएम को ‘कोरोना सेनापति’ सम्मान से किया गया सम्मानित

सम्मानित होने वाले कोरोना सेनानी को आरोग्य सेतु एप डाऊन कराने के साथ ही शासन प्रशासन की सभी गाइडलाइन के पालन करने व इसका प्रचार करने के लिए संकल्प दिलाया जाता है।

झांसी: रानी झाँसी फाउंडेशन एवं जिला जनकल्याण महासमिति झाँसी के तत्वावधान में विगत अप्रैल माह से वैश्विक महामारी में अपनी जान की परवाह किए बगैर अपना फर्ज निभा रहे सफाई कर्मचारियों, नर्सिंग स्टाफ, चिकित्सकगण, मीडिया के बंधुवर, समाचार पत्र वितरकों सहित एन सी सी के छात्रों को कोरोना सेनानी मानते हुए उनका उत्साह वर्धन किया जा रहा है। कोविड -19 के कहर से कोई भी देश अथवा प्रांत अछूता नहीं है ।

प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री ने इन कोरोना वॉरियर्स के उत्साहवर्धन का आह्वान किया, जिससे प्रेरित होकर जिला जनकल्याण महासमिति झांसी व रानी झाँसी फाउंडेशन ने झाँसी, ललितपुर, जालौन ,हमीरपुर और बांदा में समिति के कार्यकर्ताओं एवं गणमान्य व सजग नागरिकों के सहयोग से एक मुहिम चलाकर इन कोरोना वॉरियर्स को कोविड -19 का सेनानी मानते हुए सम्मानित किया।

आज तक लगभग 10200 से अधिक कोरोना वॉरीयर्स को मैडल व सम्मान पत्र भेंट कर उत्साहवर्धन किया जा चुका है और यह सिलसिला आगे भी अपने लक्ष्य 21000(इक्कीस हजार ) होने तक जारी रहेगा ।

सम्मानित होने वाले कोरोना सेनानी को आरोग्य सेतु एप डाऊन कराने के साथ ही शासन प्रशासन की सभी गाइडलाइन के पालन करने व इसका प्रचार करने के लिए संकल्प दिलाया जाता है ।

अभियान संयोजक महासमिति के केंद्रीय अध्यक्ष डा जितेंद्र कुमार तिवारी ने कहा कि जनपद झाँसी उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश की सीमा सटा होने के कारण लाकडाउन के बाद से ही यहां से प्रवासी मजदूरों का बड़ी संख्या में निकलना शुरू हो गया था

इनमें अधिकांश लोग महाराष्ट्र, गुजरात और दिल्ली के थे । इनसे संक्रमण फैलने का खतरा बहुत अधिक था इसलिए यहां के अधिकारियों पर दोहरी जिम्मेदारी थी कि एक तो इन हजारों प्रवासियों की चिकित्सीय परीक्षण कराना तथा भोजन आदि व्यवस्था उपलब्ध कराकर सकुशल घर वापसी भेजना।

झांसी की वीरांगना जिसने 59 साल की उम्र में दे दी शिकस्त

जरुरतमन्दों की मदद करना मकसद

वहीं दूसरी ओर लाकडाउन के कारण उत्पन्न हुई स्थिति को नियंत्रित करते हुये जनपद के जरुरतमन्दों तक यथासंभव सहायता प्रदान कराना तथा संभावित संक्रमित का उपचार की समुचित व्यवस्था उपलब्ध कराकर यह भी देखना मंडल अथवा जनपद में कहीं भय का वातावरण न बनें और अफवाहों पर भी नियंत्रण हो ।

अपने अनुभवों के आधार मंडलायुक्त सुभाष चन्द्र शर्मा एवं जिलाधिकारी आंद्रा वामसी जी ने अपनी अधीनस्थों के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन करते हुए इस महामारी को फैलने से रोकने सहित हमारी रक्षा के लिये समय पर सही कदम उठाए।

इसी कारण आज हम सभी अप्रिय घटनाओं बच गए । इसी से अभिभूत होकर जिला जनकल्याण महासमिति एवं रानी झाँसी फाउंडेशन ने महानगर धर्माचार्य पं हरिओम पाठक के नेतृत्व में मंडलायुक्त सुभाष चन्द्र शर्मा एवं जिलाधिकारी आंद्रा वामसी को कोरोना सेनापति का प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया।

इस अवसर पर अधिकारियों ने कहा कि अभी लड़ाई लंबी है इसलिए सावधानी बरतना अति आवश्यक है सभी लोग सजग व सतर्क रहें नियमों का पालन करते हुए मास्क अवश्य पहनें तथा अनावश्यक रूप से घर से न निकलें । समिति अध्यक्ष डा जितेंद्र कुमार तिवारी ने बताया कि शीघ्र ही मंडल तथा जनपद के अन्य अधिकारियों को भी सम्मानित किया जाएगा। इस मौके पर बृजकिशोर माहेश्वरी, नवीन माहेश्वरी, सतेन्द्र कुमार तिवारी, नोमान अहमद उपस्थित रहे।

झांसी का स्थान 10 वां, आरोग्य सेतु एप डाउनलोड में प्रदेश में हुआ आगे

रिपोर्ट: बी.के. कुशवाहा