पुलिस को मिला इनाम: अपराधियों के खिलाफ किया ऐसा काम, हो रही तारीख

मौज मस्ती के लिए चोरी को अंजाम देने वाले इन युवाओं में छात्र है। बेरोजगारी एवं हाइटेक जीवनशैली ने इन लोगों को चोरी के लिए प्रेरित किया है।

Jhansi police arrested bike theft gang recovered many stolen two wheelers

झाँसी। मौज मस्ती के लिए चोरी को अंजाम देने वाले इन युवाओं में छात्र है। बेरोजगारी एवं हाइटेक जीवनशैली ने इन लोगों को चोरी के लिए प्रेरित किया है। इसके बाद तीनों युवकों ने शहर व देहात क्षेत्र में बाइक चोरी की वारदातों को अंजाम दिया है। इस मामले में झाँसी पुलिस ने तीन युवकों को गिरफ्तार कर चोरी की दस बाइक बरामद की है। गिरफ्तार किए गए आरोपियों को अदालत में पेश किया। वहां से उनको जेल भेजा गया। यह जानकारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी ने पत्रकारों को दी है।

बेरोजगारी और हाइटेक जीवनशैली ने बना दिया बाइक चोर

एसएसपी ने बताया कि एसपी सिटी राहुल श्रीवास्तव और सीओ सदर हिमांशु गौरव के नेतृत्व में बाइक चोरी की वारदातों पर अंजाम देने के लिए प्रेमनगर थाने की पुलिस गश्त कर रही थी। सूचना मिली कि डगरिया तिराहा के पास तीन युवक चोरी की बाइक पर सवार होकर आ रहे हैं। इस सूचना पर टीम सक्रिय हो गई और घेराबंदी कर उसे मय बाइक समेत पकड़ लिया। पूछताछ की तो तीनों ने कई चोरी की वारदात करने की बात स्वीकार की। इनकी निशानदेही पर चोरी की नौ बाइक बरामद की है।

इन बदमाशों को किया गिरफ्तार

प्रेमनगर थाना क्षेत्र के पुलिया नंबर नौ (किराए का मकान शिवदयाल मास्टर) निवासी शिवम माहौर, चिरगांव थाना क्षेत्र के मातनपुरा मोहल्ले में रहने वाले दीपक अहिरवार और प्रेमनगर थाना क्षेत्र के हंसारी की टपरियन हरिजन कालोनी में रहने वाले पवन अहिरवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक शिवम माहौर पर दस मुकदमें, दीपक अहिरवार पर 11 मुकदमे और पवन अहिरवार पर दस मुकदमे पंजीकृत है। इस गैंग ने वर्ष 2018 से अपराध की दुनिया में कदम रखा है। यह गैंग चोरी की बाइक दो से तीन हजार में बेचा करता था।

ये भी पढ़ेंः अभी-अभी श्रीनगर हुआ बंद: 5 अगस्त तक लगा कर्फ्यू, इस साजिश की मिली सूचना

यह बाइक हुई बरामद

मोटर साइकिल क्रमांक (यूपी93एएम-0499), हीरो होंडा एचएफ डीलक्स (यूपी93यू-3257), हीरो होंडा डीलक्स (एमपी15एमसी-1406), हीरो होंडा पैशन प्लस नंबर (यूपी93एम-1028), मोटर साइकिल क्रमांक टीवीएस स्पोटर्स (यूपी93बीए-7276), मोटर साइकिल सीबीजेड (यूपी80सीबी-1324) व तीन बिना नंबर की मोटर साइकिल बरामद की है।

लॉकडाउन में पैरोल पर छूटा था पवन अहिरवार

पुलिस के मुताबिक पवन अहिरवार बाइक चोरी का मास्टर माइंड है। कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन लगाया गया था। इसके मद्देनजर जेल से कुछ बदमाशों को पैरोल पर छोड़ा गया था। इसमें पवन भी शामिल था। पवन को बाइक चोरी में दो साल की सजा भी हो चुकी हैं। पैरोल से छूटने के बाद उसने गैंग के साथ बाइक चोरी की वारदातों को अंजाम देना शुरु कर दिया था।

ये भी पढ़ेंः रक्षाबंधन में मचा आतंक: भूकंप से कांपी धरती, सहम गया देश

बदल दिए वारदात के तरीके

चोरों ने चोरियों के तरीके भी बदल लिए हैं। घर के आगे खड़ी बाइक चुराना, खड़ी गाड़ी के टायर चुरा ले जाना, मुख्य रास्तों, मोहल्ले अथवा बस स्टैंड, सार्वजनिक स्थानों पर स्थित छोटी दुकानों एवं गुमटियों को तोड़कर सामान चुराना,महिलाओं के गले से चेन एवं हाथ से झपट्टे मारकर बैग छीनना, एटीएम से रुपए निकालने में मदद करने के नाम एटीएम कार्ड बदलना अब चोरी का नय शगल हो गया है. चोरी की वारदात को पकड़ने में मोबाइल मददगार साबित हुआ है।

पुलिस टीम को मिली सफलता, मिला 25 हजार का इनाम

प्रेमनगर थाना क्षेत्र के प्रभारी निरीक्षक निगवेन्द्र प्रताप सिंह, बिजौली चौकी प्रभारी प्रमोद कुमार तिवारी, नैनागढ़ चौकी प्रभारी विपिन कुमार द्विवेदी, हेड कांस्टेबल शिवकरन सिंह, कांस्टेबल राजीव कुमार सिंह, शैलेन्द्र शुक्ला, मोहन सिंह, राहुल दुबे व हरेन्द्र सिंह शामिल है। एसएसपी ने उक्त टीम को 25 हजार का इनाम दिया है।

रिपोर्टर- बीके कुशवाहा

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App