हिंदू नेता हत्या केस: समर्थकों का प्रदर्शन, बद कराईं दुकानें, रोकी बसें

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। शुक्रवार को हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की गला रेतकर हत्या कर दी गई। बदमाशों ने कमलेश तिवारी की उनके कार्यालय में ही हत्या कर दी।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। शुक्रवार को हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की गला रेतकर हत्या कर दी गई। बदमाशों ने कमलेश तिवारी की उनके कार्यालय में ही हत्या कर दी। मिली जानकारी मुताबिक हमलावर भगवा कपड़े पहने हुए थे और हाथ में मिठाई का डिब्बा लेकर उनके कार्यालय पहुंचे थे।

कमलेश तिवारी के सिर पर 51 लाख का इनाम रखने वाले अनवरुल हक़ समेत दो अन्य लोगों के ख़िलाफ़ कमलेश तिवारी की पत्नी ने तहरीर दी है। हत्या के लिए लोगों को उकसाने और षणयंत्र रचने के जुर्म में इनपर 302 के तहत मुक़दमा दर्ज किया जाए।

कमलेश तिवारी हत्याकांड के मामले में सूरत कनेक्शन सामने आया है। सूरत की मिठाई के डिब्बे में हथियार छिपाकर लाए थे। डिब्बा सूरत के नामचीन धरती ब्रांड की मिठाई दुकान का
है।

यह भी पढ़ें…कमलेश तिवारी हत्या मामले में बड़ा खुलासा, CCTV फुटेज आया सामने

हिन्दू महासभा के पूर्व नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड के बाद लोगों में आक्रोश फैल गया है। कमलेश तिवारी के समर्थकों ने खुर्शेद बाग कालोनी में प्रदर्शन कर रहे हैं और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। इलाके की दुकानें बंद करा दी गईं हैं। तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल और पीएसी को तैनात किया गया है।

मृतक कमलेश तिवारी की मां ने समर्थकों के साथ सड़क पर पैदल मार्च किया। उन्होंने सड़क पर बैठकर हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग की है। सीएम योगी को बुलाने पर परिवार डंटा हुआ है।

यह भी पढ़ें…अभी-अभी दिग्गज नेता की हत्या से पार्टी में मचा हड़कंप, बेरहमी से रेता गला

कमलेश तिवारी के समर्थक ने हत्यारों की गिरफ्तारी को लेकर रोड जाम कर दिया है। टीले वाली मस्जिद के बाहर हिंदू महासभा के नेता के समर्थक रोड जाम कर प्रदर्शन कर रहे हैं। समर्थक पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद और हत्यारों को फांसी दो का नारा लगा रहे हैं। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात है।

यह भी पढ़ें…कौन हैं कमलेश तिवारी और कैसे आये थे चर्चा में? यहां पढ़ें पूरी डिटेल

कमलेश तिवारी की हत्यारों की गिरफ्तारी को लेकर हंगामा कर रहे समर्थकों ने बस को रोककर उसमें तोड़ फोड़ की है।हिंदू महासभा के नेता के समर्थक पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं।