हिंदू नेता हत्याकांड: बहुत बड़ा खुलासा, ISIS के निशाने पर थे कमलेश तिवारी

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शुक्रवार को हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की गला रेतकर हत्या कर दी गई। बदमाशों ने कमलेश तिवारी की उनके कार्यालय में ही हत्या कर दी।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शुक्रवार को हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की गला रेतकर हत्या कर दी गई। बदमाशों ने कमलेश तिवारी की उनके कार्यालय में ही हत्या कर दी।

Kamlesh Tiwari हत्याकांड पर DGP O.P Singh दी प्रतिक्रिया

Kamlesh Tiwari हत्याकांड पर DGP O.P Singh दी प्रतिक्रिया#KamleshTiwari #DGP #UPPolice #UPGovernment

Newstrack ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಶುಕ್ರವಾರ, ಅಕ್ಟೋಬರ್ 18, 2019

अब हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष और हिंदू महासभा के नेता रहे कमले की हत्या के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। अब इस मामले में जानकारी सामने आई है कि कमलेश तिवारी इस्लामिक स्टेट(आईएसआईएस) आतंकियों के निशाने पर भी थे।

यह भी पढ़ें…कौन हैं कमलेश तिवारी और कैसे आये थे चर्चा में? यहां पढ़ें पूरी डिटेल

एक अंग्रेजी के अखबार के मुताबिक हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी का नाम गुजरात एटीएस के हत्थे चढ़े आतंकियों से पूछताछ में आया था। पकड़े गए आंतकी उबेद मिर्जा और कासिम ने पूछताछ में कमलेश तिवारी का नाम लिया था। दोनों आतंकियों को अक्टूबर 2017 में गुजरात से दबोचे गया था।

यह भी पढ़ें…हिंदू नेता हत्या केस: समर्थकों का प्रदर्शन, बद कराईं दुकानें, रोकी बसें

गुजरात एटीएस के अलावा सेंट्रल एजेंसी ने भी आतंकियों से पूछताछ की थी। दोनों ने पूछताछ में कमलेश तिवारी का नाम लिया था। हैंडलर ने आतंकियों वीडियो दिखाकर कमलेश तिवारी की हत्या करने को कहा था। अखबार ने यह खबर 10 मई 2018 को प्रकाशित की थी कि कमलेश तिवारी आईएसआईएस के निशाने पर थे।

यह भी पढ़ें…कमलेश तिवारी हत्या मामले में बड़ा खुलासा, CCTV फुटेज आया सामने

गौरतलब है कि गुजरात एटीएस ने चार्जशीट दाखिल की थी जिसमें कमलेश तिवारी की हत्या की साजिश के बारे में भी जानकारी सामेन आई थी। अखबार के मुताबिक गुजरात एटीएस के पास कमलेश तिवारी से संबंधित आतंकियों की बातचीत और पूरे सबूत मौजूद हैं।