कुलदीप सेंगर की बेटी ने अलका लांबा पर लगाया ये आरोप, दर्ज कराया केस

उन्नाव दुष्कर्म कांड में उम्रकैद की सजा काट रहे पूर्व भाजपा विधायक को जमानत मिलने के विवादित ट्वीट किए जाने से परिवार में आक्रोश है। पूर्व विधायक की बेटी ने रविवार को एसपी को शिकायती पत्र देकर कांग्रेस नेत्री अलका लांबा समेत दो पर रिपोर्ट दर्ज करने की मांग की है।

Published by suman Published: May 24, 2020 | 11:10 pm
Modified: May 24, 2020 | 11:28 pm

उन्नाव:  उन्नाव दुष्कर्म कांड में उम्रकैद की सजा काट रहे पूर्व भाजपा विधायक को जमानत मिलने के विवादित ट्वीट किए जाने से परिवार में आक्रोश है। पूर्व विधायक की बेटी ने रविवार को एसपी को शिकायती पत्र देकर कांग्रेस नेत्री अलका लांबा समेत दो पर रिपोर्ट दर्ज करने की मांग की है। एसपी विक्रांतवीर ने सदर कोतवाली पुलिस को रिपोर्ट दर्ज कर जांच के निर्देश दिए हैं।

यह पढ़ें…आत्महत्या या साजिश: महिला का नदी में मिला शव, अचानक हो गई थी लापता

 

आरोप है कि, अलका ने टि्वटर पर पिता कुलदीप सेंगर की रिहाई की झूठी बात फैलाई और विवादित टिप्पणी की। जिस पर तमाम कमेंट हुए। इससे पूरे परिवार को मानसिक प्रताड़ना झेलनी पड़ी है। सेंगर की बेटी ने अलका के अलावा कांग्रेस नेत्री धारणा पटेल पर केस दर्ज कराया है।

पूर्व विधायक कुलदीप सेंगर की बेटी ऐश्वर्या सेंगर ने रविवार को एसपी विक्रांतवीर को शिकायती पत्र देकर बताया कि 23 मई 2020 को कांग्रेस नेत्री अलका लांबा व धरना पटेल ने अपने ट्विटर अकांउट पर उनके पिता के खिलाफ एक फर्जी ट्वीट किया है। पूर्व विधायक की बेटी ने बताया कि उनके वकील द्वारा दिल्ली की उच्चन्यायालय में अपील की गई है।

 

 

 

जिस पर सुनवाई की तारीख 1 जून 2020 को होनी है। अपील में जमानत का जिक्र भी नहीं है। इसके बाद भी अल्का लांबा व धरना पटेल ने पिता (पूर्व विधायक कुलदीप सेंगर) व चाचा (विधायक के छोटे भाई) को जमानत दिए जाने का फर्जी ट्वीट पोस्ट कर प्रधानमंत्री व प्रदेश के मुख्यमंत्री तक पर आपत्तिजनक टिप्पणी की है। उन्नाव जिले के पुलिस अधीक्षक विक्रांत वीर ने कहा- इस संबंध में नगर कोतवाली में केस दर्ज किया जा रहा है। विवेचना के बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

यह पढ़ें…तेजस्वी ने उठाई इस लड़की की जिम्मेदारी: राबड़ी ने की बात, किया ये वादा

दुष्कर्म का आरोप

बता दें कि  साल 2017 में उन्नाव की एक युवती ने पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था। इस मामले की सीबीआई ने जांच की थी। इस मामले में दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने आईपीसी की धारा 376, 304 (2), 120 बी के तहत आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। वर्तमान में कुलदीप सिंह सेंगर तिहाड़ जेल में हैं। उन्नाव के पूर्व भाजपा विधायक के अभियुक्त और भाई को उच्च न्यायालय ने जमानत दे । दो अन्य के साथ उन्नाव जेल के अंदर एक नाबालिग लड़की का यौन शोषण करने और उसके पिता की हत्या करने का आरोप लगाया गया।