मिलेगा फ्री खाना: इस नंबर पर करें कॉल, घर तक आएगा भोजन

कोरोना वायरस को रोकने के लिए हुए लॉकडाउन के कारण गरीबों को होने वाली परेशानी को जिला प्रशासन दूर करेगा। इसके लिए गरीब परिवारों को बस एक कॉल करने की जरूरत है और खाना आपके घर तक आएगा, वो भी फ्री।

कन्नौज: कोरोना वायरस को रोकने के लिए हुए लॉकडाउन के कारण गरीबों को होने वाली परेशानी को जिला प्रशासन दूर करेगा। इसके लिए गरीब परिवारों को बस एक कॉल करने की जरूरत है और खाना आपके घर तक आएगा, वो भी फ्री।

हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर दें गरीबों की सूची, मिलेगा खाना

दरअसल, उत्तर प्रदेश के कन्नौज जिले में गरीबों की सूची तैयार की जा रही है। इसके तहत नगर पंचायत तिर्वागंज क्षेत्र के गरीबो, असहायों को 21 दिनों तक लगातार मुफ्त भोजन उपलब्ध कराएगा। इसके लिए नगर क्षेत्र के गणमान्य नागरिकों से उनके मोहल्लों के गरीबों, असहायों व मंदबुद्धि के लोगों की सूची मांगी गई हैं।

ये भी पढ़ेंःदावा: गुजरात से राजस्थान पैदल लौट रहे हैं 50 हजार से ज्यादा मजदूर

सुबह नौ व शाम चार बजे तक सेवाः

नागरिक यह सूची चेयरमैन व अधिशाषी अधिकारी के मोबाइल नम्बर या वाट्सअप पर दे सकते हैं। इसके लिए हर रोज सुबह नौ व शाम को चार बजे तक मोबाइल नम्बर 9415172887, 7390981387 पर गरीबों की सूची दी जा सकती है।

नगर पंचायत की गाड़ियां घर-घर जाकर गरीबों को देगी भोजन

नगर पंचायत की चेयरमैन मीरा गुप्ता ने यह आदेश जारी किया है। चेयरमैन ने बताया कि भोजन वितरण के लिए नगर पंचायत की गाड़ियां घर-घर जाकर गरीबों की तैयार भोजन का वितरण करेंगे। इसके लिए मोहल्ला वार कर्मचारियों की तैनाती कर दी गई है। उनके मोबाइल नम्बर भी जारी किए गए हैं।

ये भी पढ़ेंः राहत: कोरोना के कारण अब इनको नहीं खाली करने पड़ेंगे फ्लैट

मुफ्त भोजन पाने के लिए नौ बजे तक करें फोन

अधिशाषी अधिकारी दीपक शर्मा ने बताया कि मोहल्ले के लोग सुबह का मुफ्त भोजन पाने के लिए नौ बजे तक उनके मोबाइल पर सूची दे सकते हैं। शाम के भोजन के लिए चार बजे तक सूची दी जा सकती है। सूची मिलने पर कर्मचारी उनके घरों पर जाकर मुफ्त भोजन उपलब्ध कराएंगे। चेयरमैन के इस प्रयास की क्षेत्र की जनता सराहना कर रही है।

अधिक रेट में बेची सब्जी, तो मिली फटकार

इसके अलावा पुलिस भी सामान की कालाबाजारी और अधिक मूल्य पर बिक्री पर नजर बनाये हुए हैं। इसी कड़ी में कोतवाली तिर्वा पुलिस ने कस्बे के गहरा तालाब स्थित सब्जी मंडी पर छापा मारा। दुकानदारों को निर्देश दिए कि अधिक दामों पर सब्जी बेची या कालाबाजारी की तो जेल की हवा खानी होगी। सिर्फ लाइसेंसधारी ही सब्जी की ब्रिकी कर सकेंगे।

ये भी पढ़ेंः कांग्रेस MLA ने लॉकडाउन में किया ऐसा काम, दर्ज हुई FIR…

सब्जी मण्डी खुलने पर उमड़ी भीड़

लॉक डाउन के दौरान सब्जी विक्रेताओं को छूट मिलने की वजह से कस्बे के गहरा तालाब के पास लगने वाली सब्जी मण्डी खुल गई। लोगों को जब मण्डी खुलने की जानकारी मिली, तो भीड़ उमड़ पड़ी। घरों से लोग झोला लेकर सब्जी खरीदने निकल पड़े। भीड़ को देख दुकानदारों ने सब्जी के दामों में बढ़ोत्तरी कर दी। अचानक बढ़े सब्जी दाम को लेकर कुछ नागरिकों ने कोतवाली पुलिस को इसकी जानकारी दी। इसपर कोतवाल इन्द्रपाल सरोज पुलिस बल के साथ सब्जी मण्डी पहुँच गए। दुकानदारों को हड़काते हुए कहा कि अधिक दामों पर सब्जी बेची, तो हवालात जाना होगा। पुलिस के कड़े रूख के कारण सब्जी विक्रेताओं में हड़कम्प मच गया।

ये भी पढ़ेंःरसोई गैस सिलेंडर के लिए IOC ने उठाया बड़ा कदम, नहीं होगी कोई की किल्लत

क्या कहते हैं एसडीएम तिर्वा

एसडीएम तिर्वा जयकरन ने बताया कि गुरुवार से नगर पंचायत कार्यालय की ओर से जारी किए गए लाइसेंस पर ही सब्जी विक्रेता ठेलों पर सब्जी रखकर घर-घर जाकर ब्रिकी करेंगे। हर मोहल्ले के लिए लाइसेंस जारी किए जा रहे हैं। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि सिर्फ लाइसेंसधारी सब्जी विक्रेता ही सब्जी की ब्रिकी कर सकेंगे। बिना लाइसेंस सब्जी बेचते हुए कोई पाया गया, तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।