भारतीय नौसेना और यूपीडा के बीच MOU पर हस्ताक्षर, डिफेंस कोरीडोर का खुला रास्ता

केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आपदा को अवसर में बदलकर देश को आत्मनिर्भर बनाने का विजन प्रस्तुत किया।

Sign On MOU and Indian Air Forse

Sign On MOU and Indian Air Forse

लखनऊ: भारतीय नौसेना एवं ‘उत्तर प्रदेश एक्सप्रेस-वेज़ इण्डस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी’ के मध्य आज एक एमओयू पर हस्ताक्षर हुए। इस एमओयू के बाद प्रदेश के डिफेंस कॉरिडोर में स्थापित होने वाले ‘सेण्टर ऑफ एक्सिलेंस’ के सहयोग से अपनी समस्याओं का समाधान तलाश सकेगी। साथ ही ‘नेवल इनोवेशन एण्ड इण्डिजिनाइजेशन ऑर्गेनाइजेशन’ की स्थापना से भारतीय सेना में नवाचार व स्वदेशीकरण को बढ़ावा मिलेगा।

पीएम मोदी ने आपदा को अवसर में बदलकर देश को आत्मनिर्भर बनाया- राजनाथ सिंह

केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आपदा को अवसर में बदलकर देश को आत्मनिर्भर बनाने का विजन प्रस्तुत किया। इस विजन को मूर्त रूप देने में नवाचार व स्वदेशीकरण की बड़ी भूमिका है। भारतीय सेना में स्वदेशीकरण लगातार बढ़ा है। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के स्वप्न को साकार करने के लिए सम्मिलित प्रयास किये जाने की आवश्यकता है। भारतीय नौसेना इस दिशा में कार्य कर रही है। इसके लिए नौसेना द्वारा राज्य सरकारों तथा निजी संस्थाओं के साथ सहयोग का आधार तैयार किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें-   UP में नहीं कम हो रहा कोरोना संक्रमण, 24 घंटों में मिले 4603 नए मरीज

Rajnath Singh
Rajnath Singh

इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ‘नेवल इनोवेशन एण्ड इण्डिजिनाइजेशन ऑर्गेनाइजेशन’ के शुभारम्भ तथा भारतीय नौसेना एवं यूपीडा के बीच एमओयू पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि ‘नेवल इनोवेशन एण्ड इण्डिजिनाइजेशन ऑर्गेनाइजेशन’ की स्थापना से भारतीय सेना में नवाचार व स्वदेशीकरण को बढ़ावा मिलेगा तथा शैक्षिक समुदाय एवं उद्योग के मध्य बेहतर समन्वय बनेगा। कार्यक्रम में डिजिटल माध्यम से रक्षा मंत्री, भारत सरकार श्री राजनाथ सिंह भी शामिल हुए।

डिफेंस इण्डस्ट्रियल कॉरिडोर के लिए हुआ 1289 हेक्टेयर से अधिक भूमि का अधिग्रहण- CM योगी

CM Yogi
CM Yogi

ये भी पढ़ें-   स्मार्ट मीटर मामले में अखिलेश ने योगी सरकार को घेरा, की ये बड़ी मांग

इसके अलावा, भारतीय नौसेना द्वारा रक्षा शक्ति यूनिवर्सिटी, गुजरात, मेकर विलेज, कोच्चि तथा एसआईडीएम, नई दिल्ली के साथ भी एमओयू किया गया। कार्यक्रम के दौरान भारतीय नौसेना की पुस्तक ‘स्वावलम्बन’ का विमोचन भी किया गया। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भारतीय नौसेना व यूपीडा के बीच एमओयू से भारतीय नौसेना प्रदेश के डिफेंस कॉरिडोर में स्थापित होने वाले ‘सेण्टर ऑफ एक्सिलेंस’ के सहयोग से अपनी समस्याओं का समाधान तलाश सकेगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘आत्मनिर्भर भारत’ के अपने विजन में नवाचार और स्वदेशीकरण पर बल दिया है।

Rajnath Singh
Rajnath Singh

ये भी पढ़ें-   मेरठ में फिर फूटा कोरोना बम: मिले इतने नये मरीज, प्रशासन में हड़कंप

केन्द्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह के द्वारा रक्षा उद्योग से जुड़ी 101 वस्तुओं वस्तुओं के भारत में निर्माण का निर्णय लिया गया है। इससे आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना साकार होगी। यह उत्तर प्रदेश के डिफेंस इण्डस्ट्रियल कॉरिडोर के लिए भी महत्वपूर्ण है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान में डिफेंस इण्डस्ट्रियल कॉरिडोर के अन्तर्गत अलीगढ़, कानपुर, झांसी तथा चित्रकूट जनपदों में 1289 हेक्टेयर से भी अधिक भूमि का अधिग्रहण किया गया है। अलीगढ़ में निवेशकों को सम्पूर्ण भूमि आवंटित कर दी गयी है। यूपीडा द्वारा आईआईटी, बीएचयू एवं कानपुर के सहयोग से ‘सेण्टर ऑफ एक्सिलेंस’ की स्थापना की जा रही है।

डिफेंस एक्सपो-2020 अब तक सबसे बड़ा एक्जीबिशन्स- सीएम योगी

CM YOGI
CM YOGI

मुख्यमंत्री ने कहा कि फरवरी, में प्रदेश की राजधानी में इण्टरनेशनल डिफेंस एक्जीबिशन के 11वें संस्करण का सफल आयोजन किया गया। यह संस्करण अब तक आयोजित एक्जीबिशन्स में सबसे बड़ा था। निवेश की दृष्टि से भी ‘डिफेंस एक्सपो-2020’ महत्वपूर्ण सिद्ध हुआ। इस दौरान उत्तर प्रदेश डिफेंस इण्डस्ट्रियल कॉरिडोर में 23 निवेशक कम्पनियों के साथ एमओयू किया गया।

ये भी पढ़ें-   प्रधान और सचिव के हस्ताक्षर से 45 लाख रुपये की ठगी का प्रयास, ऐसे खुली पोल

इससे कॉरिडोर में 50 हजार करोड़ रुपये का निवेश सम्भावित है। कार्यक्रम को वाइस एडमिरल जी अशोक कुमार तथा एसआईडीएम के प्रेसिडेंट बाबा कल्याणी ने भी डिजिटल माध्यम से सम्बोधित किया।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App