×

तिरंगे का अपमान: अपने ही देश में छिपे गद्दार, जलाया देश का झंडा

राजधानी लखनऊ में कुछ लड़कों ने चाईनीज ऐप टिक-टॉक पर वीडियो बनाने के लिए देश का झंडा जला दिया और देश-विरोधी नारे भी लगाएं। उनकी इस करतूत पर जब लोगों ने विरोध किया, तो उन लड़कों ने उलटा लोगों पर ही हमला कर दिया।

Vidushi Mishra
Updated on: 22 Jun 2020 8:47 AM GMT
तिरंगे का अपमान: अपने ही देश में छिपे गद्दार, जलाया देश का झंडा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ: राजधानी लखनऊ में कुछ लड़कों ने चाईनीज ऐप टिक-टॉक पर वीडियो बनाने के लिए देश का झंडा जला दिया और देश-विरोधी नारे भी लगाएं। मिली जानकारी के अनुसार, ये लड़के रविवार यानी जून 21 को देर शाम वीडियो बनाते हुए देश के राष्ट्रीय ध्वज को जला रहे थे। फिर उनकी इस करतूत पर जब लोगों ने विरोध किया, तो उन लड़कों ने उलटा लोगों पर ही हमला कर दिया। बता दें, लखनऊ के बाजारखाला में कुछ लड़कों द्वारा ये कृत्य किया गया है।

ये भी पढ़ें... आसमान से दौड़ी तबाही: सिर्फ 2 दिन बाद भीषण संकट, वैज्ञानिकों की हालत खराब

दोनों युवकों पर हमला बोल दिया

लखनऊ के चारों आरोपित टिक-टॉक को लेकर तिरंगा झंडा जलाने के साथ-साथ देश विरोधी नारेबाजी भी कर रहे थे। वहाँ से जा रहे दो सभ्य नागरिकों ने इस कृत्य का विरोध किया।

दो अन्य नागरिकों के मना करने पर चारों लड़के आक्रोशित हो गए और उन्होंने मना करने वाले दोनों युवकों पर हमला बोल दिया। जब वहाँ से गुजर रहे कुछ अन्य लोगों ने इस घटना को देखा तो उन्होंने बीच-बचाव किया।

ये भी पढ़ें...चीन विवाद: मनमोहन-राहुल को BJP का जवाब, कांग्रेस पर लगाया ये गंभीर आरोप

तीन साथी भागने में कामयाब रहे

इस बीच लोगों ने एक आरोपित को पकड़ लिया और उसे पुलिस के हवाले कर दिया गया। चूँकि आरोपित नाबालिग है, उसे बाल सुधार गृह में भेज दिया गया है। उसके तीन साथी भागने में कामयाब रहे हैं। वो अभी भी फरार हैं, जिनकी तलाश पुलिस कर रही है।

इस पर लखनऊ के बाजारखाला इंस्पेक्टर ने बताया कि राजाजीपुरम निवासी रविकांत शाम को टिकैत राय तालाब कॉलोनी के अंदर साइकलिंग कर रहे थे। आगे उन्होंने देखा कि चार लड़के राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे झंडे को जला रहे हैं।

निवासी रविकांत ने इन लोगों को ऐसा करने से मना किया तो वे लोग मारपीट पर उतर आए। इसी समय रूपेश गुप्ता नामक सजग नागरिक रविकांत की मदद के लिए आगे आए लेकिन बदमाशों ने उन पर भी हमला बोल दिया।

ये भी पढ़ें...घाटी में अलर्ट: 3:30 बजे आतंकियों ने की नापाक हरकत, मचा हड़कंप

तिरंगा जलाते हुए वीडियो वायरल

फिर कुछ और लोगों की मदद से एक आरोपित को पकड़ कर पुलिस के हवाले किया गया। आरोपित की उम्र 15 साल है। सभी बदमाशों का इरादा था कि वो टिक-टॉक पर तिरंगा झंडा जलाते हुए वीडियो बना कर वायरल करें।

इस घटना के बाद कई स्थानीय नेता आरोपित को छुड़ाने थाने भी पहुँचे। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, कुछ स्थानीय लोगों ने बताया कि आरोपित समाजवादी पार्टी के एक पूर्व नेता का भतीजा है। लेकिन पुलिस ने इस बात को नकार दिया है। राजाजीपुरम निवासी रविकांत की शिकायत के बाद पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है।

पुलिस ने आईपीसी की धारा 124(A), 153(A), 504, 505(1)(B)(2), 352, 325, 506 और राष्ट्र गौरव अपमान निवारण अधिनियम 2 के तहत मामला दर्ज किया है।

ये भी पढ़ें...बौखलाए चीन की बड़ी धमकी: 1962 की दिलाई याद, बोला- इस बार होगा ज्यादा बुरा

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story