Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

मुख्तार अंसारी की बढ़ी मुसीबतः जाएगी विधायकी, जल्द होगा बड़ा फैसला

जेल में बंद कुख्यात माफिया मुख्तार अंसारी की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही है। उनके सामने एक नई मुसीबत आ गई है। पिछले कई बार से विधायक एवं माफिया मुख्तार अंसारी की विधानसभा सदस्यता अब सवालों के घेरे में है।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 5 Nov 2020 3:20 AM GMT

मुख्तार अंसारी की बढ़ी मुसीबतः जाएगी विधायकी, जल्द होगा बड़ा फैसला
X
अब जायेगी माफिया मुख्तार अंसारी की विधायकी, जल्द फैसला
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: जेल में बंद कुख्यात माफिया मुख्तार अंसारी की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही है। उनके सामने एक नई मुसीबत आ गई है। पिछले कई बार से विधायक एवं माफिया मुख्तार अंसारी की विधानसभा सदस्यता अब सवालों के घेरे में है। मुख्तार के खिलाफ एक से एक व्यक्ति ने विधानसभा अध्यक्ष को एक याचिका सौंप कर उनकी सदस्यता खत्म करने की मांग की है। वाराणसी के माफिया एवं मुख्तार अंसारी के विरोधी ।

मुख्तार अंसारी की सदस्यता रद्द

वाराणसी के रहने वाले सुधीर सिंह ने विधानसभा अध्यक्ष को मुख्तार अंसारी की सदस्यता रद्द करने के लिए कहा है। सुधीर सिंह की ओर से उनके वकील अशोक पांडे ने विधानसभा अध्यक्ष को एक याचिका सौंपी है जिसमें कहा गया है कि संविधान के अनुसार लगातार 60 दिन तथा एक सत्र में अनुपस्थित रहने और दायित्व का निर्वाह नहीं कर पाने वाले विधायक की सदस्यता रद्द की जा सकती है। वह 10 सालों से जेल में बंद हैं। इसलिए विधानसभा अध्यक्ष इस याचिका पर विचार करें क्योंकि मऊ की जनता को अपने क्षेत्र में जनप्रतिनिधि के बिना बेहद दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

ये भी पढ़े…बिहार चुनावः नित्यानंद राय बोले विपक्ष के शरीर में दर्द, गरीब का बेटा बना है पीएम

रोपड़ जेल में बंद

याचिका में कहा गया है कि इस विधानसभा क्षेत्र में फिर से चुनाव कराकर जनता को राहत दी जाए। मुख्तार अंसारी इन दिनों रोपड़ जेल में बंद हैं। सुधीर सिंह का कहना है कि मुख्तार अंसारी मऊ सीट से चुने जाने के बाद भी संवैधानिक दायित्वों का निर्वाहन नहीं कर पा रहे हैं । भारतीय संविधान के अनुसार लगातार 60 दिन तक सत्र में अनुपस्थित रहने वाले विधायक की सदस्यता रद्द की जा सकती है।

श्रीधर अग्निहोत्री

ये भी पढ़े…पाकिस्तान किसे चाहता है अमेरिका का राष्ट्रपति बने, जानिए डोनाल्ड ट्रंप या बिडेन

ये भी पढ़े…रैपर को ट्रंप का सपोर्ट करना पड़ा भारी, गर्लफ्रेंड ने लिया ऐसा फैसला

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

Monika

Monika

Next Story